एक्सपायरी विज्ञापन छपवाकर हिंदुस्तान अखबार की झोली भर रही केंद्र सरकार

बिहार शरीफ, नालंदा से संजय कुमार की रिपोर्ट

दैनिक समाचार पत्रों को सरकार विज्ञापन देकर उपकृत करती रही हैं लेकिन अब तो बेशर्मी की हद है. जो कार्यक्रम हो चुके होते हैं, उसमें शामिल होने का विज्ञापन एक दिन बाद छापा जाता है. लोग कह रहे हैं कि मोदी की केंद्र सरकार हिंदुस्तान अखबार की झोली भरने को तत्पर है. यह काम जनता के पैसे यानि सरकारी खजाने से किया जा रहा है. समय समाप्ति के बाद विज्ञापन छपना का मामला भड़ास पर पहले भी छप चुका है. इसके बावजूद सरकारी अफसर और नेता सो रहे हैं. सरकार आंख मूंदकर ऐसे उपयोगिता विहीन विज्ञापनों का भुगतान भी कर देती है.

ताजा मामला बिहार की राजधानी पटना से प्रकाशित दैनिक हिंदुस्तान के 21 अप्रैल, 2018 के मगध संस्करण के पेज संख्या 11 पर छपे हाफ पेज के विज्ञापन का है. भारत सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा जारी विज्ञापन में कहा गया है कि अब आठ करोड़ लाभार्थियों के नए लक्ष्य के साथ विस्तातरित ”प्रधानमंत्री उज्जवला योजना”” का राष्ट्रीय शुभारंभ, 20 अप्रैल, 20018 , दोपहर -2:30 बजे , शांति नायक स्कूल , बहेरी , दरभंगा में होगा.

विज्ञापन में आगे कहा गया है कि कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार होंगे. इस कार्यक्रम में रामविलास पासवान केंद्रीय उपभोक्ता मामले समेत कई सारे नेताओं-मंत्रियों के नाम पद लिखे उपस्थित होने वाले अतिथि के रूप में लिखे हुए हैं. सोचिए, कार्यक्रम बीस अप्रैल को था और इसका विज्ञापन छप रहा है इक्कीस अप्रैल को. आखिर क्यों ऐसे एक्सपायरी विज्ञापन छपवाए जा रहे हैं और इसका भुगतान भी किया जा रहा है . जनता की गाढ़ी कमाई से वसूली गई टैक्स का पैसा भाजपा की सरकारें कब तक लुटाती रहेंगी.

बिहार शरीफ नालंदा से संजय कुमार की रिपोर्ट. संपर्क- ९६०८३११२५१

इसे भी पढ़ें :  अखबारों में पुराने विज्ञापन छपवा जन-धन का दुरुपयोग कर रहीं मोदी व नीतीश की सरकारें

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *