पूनावाला तो लंदन भाग लिया, वहाँ कह रहा- सच बोला तो गर्दन उड़ा दी जाएगी!

रवीश कुमार-

सीरम इंस्टीट्यूट के आदार पूनावाला लंदन चले गए हैं। लंदन ने जब अपनी सीमाओं को भारतीयों के लिए बंद किया तो उसके ठीक पहले आदार पूनावाला भारत से वहाँ पहुँच गए।

टाइम को दिए इंटरव्यू में कह रहे हैं कि सच बोलूँगा तो सर काट दिया जाएगा। उन्हें धमकियाँ मिल रही हैं। अब वो भारत के बाहर दवा के उत्पादन की फ़ैक्ट्री लगाने की सोच रहे हैं।

सीरम दुनिया की एक बड़ी कंपनी है। उसके प्रमुख का बयान द टाइम्स में छपेगा तो भारत के बारे में क्या छवि बनेगी आप सोच सकते हैं। आप केवल छवि के रूप में न सोचें। यह भी सोचें कि इस देश को क्या बना दिया गया है।

सौमित्र रॉय-

आज की सबसे बड़ी खबर- सीरम इंस्टिट्यूट का सीईओ आदर पूनावाला देश छोड़कर भागने वाला है? जी हां। यह बात सच हो सकती है किसी भी वक़्त।

आदर पूनावाला ने इसी साल 25 मार्च को लंदन में 50 हज़ार पौंड प्रति सप्ताह के किराए पर एक मकान लिया था।

तभी से शक़ था कि ये भारत छोड़कर भागेगा।

यह कदम मोदी सरकार से सीरम की कोविशिल्ड की डील के बाद उठाया गया।

अब सीरम ने वैक्सीन के दाम चौगुने तक बढ़ा दिए। भारत के 15 राज्यों के पास तीसरे चरण के लिए वैक्सीन नहीं है। वह भी तब, जबकि कोविड से दुनियाभर में मरने वाला हर चौथा व्यक्ति भारतीय है।

बीच में पूनावाला ने मोदी सरकार से CRPF की वाय श्रेणी की सुरक्षा भी ले ली।

आज टाइम पत्रिका ने खबर दी है कि पूनावाला अब ब्रिटेन में जाकर वैक्सीन बनाना चाहता है।

उसने इसके पीछे भारत के रसूखदार लोगों से फ़ोन पर मिल रहीं धमकियों को वज़ह बताया है।

जैसा कि मैंने लिखा था, मोदी सरकार का वैक्सीन घोटाला आज़ाद भारत का सबसे बड़ा और निर्मम घोटाला है।

पूरी सरकार ने जिस वैक्सीन का प्रचार किया, वह भी आज जान बचाने में नाकाम है।

पूनावाला ने जितना कमाना, लूटना था लूट लिया। अब वह भारत छोड़ना चाहता है, क्योंकि अगर सवाल उठे तो इस बात की पोल खुल जाएगी कि कोविशिल्ड को अनुमति मिलने से पहले ही 1 करोड़ डोज़ कैसे बन चुके थे?

मोदी सरकार भी उसे भागने का मौका दे सकती है, क्योंकि वैक्सीन घोटाले के तार सीधे प्रधानमंत्री से जुड़े हैं।

अभी तो बहुतों को झोला उठाना होगा।
(डिस्क्लेमर: कृपया अफवाहों पर यहां बहस न करें।)

आदर पूनावाला के लंदन भागने की खबरों पर दिल्ली में विदेश मंत्रालय देखने वाले पत्रकार मित्रों से हुई बातचीत और ब्रिटिश मीडिया की खबरों का सार-

  1. आदर पूनावाला इस वक़्त लंदन में है।
  2. वह ब्रिटेन में कारोबार की उम्मीद से गया है।
  3. उसने अपनी पत्नी और बच्चों को पहले ही लंदन भेज दिया था, जहां उसने किराए पर मकान ले रखा है।
  4. उसने वहां टाइम को इंटरव्यू दिया है, जिसमे उसने भारत में फ़ोन पर मिल रहीं धमकियों का हवाला देते हुए देश लौटने की अनिच्छा जताई है।
  5. लुट्येन्स जोन के पत्रकारों का कहना है कि विदेश मंत्रालय ब्रिटिश सरकार के संपर्क में है। अभी कुछ भी कहना ज़ल्दबाज़ी होगी।
  6. दो पत्रकार मित्रों ने यह भी बताया कि सरकार के पास इन हालात में सीरम के अधिग्रहण का अधिकार है, साथ ही कंपनी का लाइसेंस रद्द करने का भी हक़ है।
  7. अगर ऐसा हुआ तो पूनावाला कुछ भी नहीं कर पायेगा।

मामला तब पेचीदा होगा, अगर पूनावाला ब्रिटेन में शरण मांगता है।

आगे हालात किस तरह करवट बदलते हैं, इसका इंतजार करें। जजमेंटल न बनें।

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें-

https://chat.whatsapp.com/CMIPU0AMloEDMzg3kaUkhs

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *