एबीपी न्यूज वाले चोरी की खबरें छाप रहे, खुलासा होने पर डिलीट कर दिया

Syed Irshad Hussain : आज देश के एक बड़े प्रतिष्ठा वाले संस्थान की हक़ीकत आपके सामने रखना चाह रहा हूं…उस संस्थान की जिसे ‘आपको आगे रखने’ के लिए देखिए क्या क्या करना पड़ता है…  ऐसा करने का सोचा नहीं था, इसलिए उन्हें बड़ी इज़्ज़त के साथ पहले बताया लेकिन जब वहां से कोई जवाब नहीं मिला तो यहां आपके सामने रख रहा हूं… हालांकि ये भी जानता हूं कि उस संस्थान को उससे कोई फ़र्क नहीं पड़ने वाला, बल्कि मेरी आवाज़ कारख़ाने की तूती जैसी होगी… अब असल मुद्दे की बात 18 जुलाई को मैंने ‪#‎CPL‬ से AB de Villiers के बाहर होने की ख़बर अपने संस्थान Sportskeeda Hindi के लिए लिखी थी…

अगले ही दिन एक और खेल संस्थान की वेबसाइट पर मेरी ख़बर बिल्कुल वैसे ही चिपका दी गई थी, उस संस्थान का मैं यहां नाम इसलिए नहीं लेना चाहता कि उसके लेखक ने सॉरी भी कहा, ख़बर भी सही कर ली और ये भी कहा कि उसने वह ख़बर एक और संस्थान से उठाई थी जिसकी लिंक भी उसने भेजा और वह देखकर मैं चकित रह गया.. क्योंकि चोरी की चेन चल रही थी और 19 जुलाई को ही ABP News की वेबसाइट पर वह ख़बर बिल्कुल वैसे ही छाप दी गई… मैंने ‘छापना’ शब्द जानबूझकर कर लिखा है… एक एक शब्द वैसा का ही वैसा उतार दिया गया है…

ये इत्तेफ़ाक नहीं हो सकता कि दो अलग अलग लोग, एक तरीक़े से और एक ही शब्दों का इस्तेमाल करें और लिखने की कला से लेकर स्पेस छोड़ना भी एकदम एक… एक लेखक अपनी लेखनी को ठीक उसी तरह याद रखता है जैसे युवावस्था में प्रेमी अपने पहले प्यार को… मैं आपके सामने दोनों लिंक भी रख रहा हूं और ‘सबको आगे’ रखने वाले संस्थान की लिंक के साथ साथ स्क्रीनशॉट भी, क्योंकि क्या पता कब उसे सुधार दिया जाए… पहले ये हमारी लिखी हुई स्टोरी देखिए… यहां..

http://hindi.sportskeeda.com/cricket/cpl-2016-ab-de-villiers-wayne-parnell-be-replaced-by-ahmed-shehzad-marchant-de-lange-closing-stages-of-tournament

अब ज़रा ‘सबको आगे रखने’ की @ABP तकनीक भी देख लीजिए…

http://abpnews.abplive.in/sports/cpl-barbods-tridents-felt-a-blow-the-tournament-returned-to-discontinue-de-villiers-416582/

अब ज़रा आप भी जानिए और समझिए कि हमको आगे रखने के लिए कितनी मेहनत करना होता है… बुरा बस इस बात से लगता है कि आपकी मेहनत को कोई इस तरह अपना नाम कैसे दे सकता है… अगर मेरी लिखावट पसंद है तो मेरे लिए अच्छी बात है, लगता है कि मेहनत साकार हुई आपको पसंद आई.. लेकिन ऐसे चोरी तो न करें… मुझे उस लेखक से शिकायत नहीं जिसने लिखा होगा, उस बेचारे या बेचारी पर काम का (KRA) का प्रेशर रहा होगा, लेकिन जल्दी में कृप्या न ऐसा करें न किसी को बढ़ावा दें… मेरा आशय बस यही है… आप दोनों ही ख़बर के उपर में पब्लिश डेट देख सकते हैं… धन्यवाद

xxx

जो मैंने सोचा था वही हुआ, अब ख़बर हटा दी गई है… ये देखिए स्क्रीन शॉट… मान गए भई, आगे रखने के लिए कभी कभी आप ख़ुद भी आगे हो जाते हैं…

युवा खेल पत्रकर सैय्यद इरशाद हुसैन की एफबी वॉल से.



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code