एटीएम में पैसा है या नहीं, पता करने के लिए नया मोबाइल ऐप लांच

cash atm

मोदी सरकार द्वारा बड़े नोटों को अमान्य किये जाने से हर कोई मुशकिल में पड़ा है. लोगों को कई कई घंटे तक एटीएम और बैंकों की लाइन में लगना पड़ रहा है. कई बार हमको पता नहीं होता कि कौन से एटीएम में कैश मौजूद है. इस दिक्कत को सुलझाने के लिए एक नया मोबाइल ऐप लांच कर दिया गया है. नॉएडा की कंपनी Qtriangle Inoftech ( www.qtriangle.in ) ने एक ऐसा ऐप लांच किया है जिससे आप अपने आस पास के एटीएम को देख सकते हैं. साथ ही किस एटीएम में कैश है, ये उसकी जानकारी भी देती है.

मोबाइल एप्लीकेशन के बारे में भड़ास से बात करते हुए कंपनी के डायरेक्टर दिवाकर सिंह ने बताया “हमारी ऐप एटीएम की सारी मौजूदा लोकेशन को ट्रैक करती है और इसमें आप अपने आस पास के सारे एटीएम देख सकते हैं. इतना ही नहीं, crowdsourcing के द्वारा हम ये जानकारी भी एकत्र करते हैं कि किस एटीएम में कैश मौजूद है. हमारी ऐप इस जानकारी को लगातार अपडेट करती रहती है, जिससे कि एटीएम में कैश की मौजूदा उपब्धता कैलकुलेट होकर ऐप में दिखाई जाती है.”

आप इस एंड्राइड ऐप को इनस्टॉल करने के लिए यहाँ क्लिक कर सकते हैं: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.qtriangle.atmcashfinder&hl=en

भड़ास के माध्यम से अपने मीडिया ब्रांड को प्रमोट करें. वेबसाइट / एप्प लिंक सहित आल पेज विज्ञापन अब मात्र दस हजार रुपये में, पूरे महीने भर के लिए. संपर्क करें- Whatsapp 7678515849 >>>जैसे ये विज्ञापन देखें, नए लांच हुए अंग्रेजी अखबार Sprouts का... (Ad Size 456x78)

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें- Bhadas WhatsApp News Alert Service

 

Comments on “एटीएम में पैसा है या नहीं, पता करने के लिए नया मोबाइल ऐप लांच

  • Bhai, mai Lucknow se hun aur yahan ki sthiti to pahle jaisi ab ekdam nahi hai…! Ab aap araam se bank jaiye, paise jamaa kijiye ya nikaliye. Aapke aagey 4-5 log hi dikhai dete hain. Main 3-4 dino se aisa majra dekh raha hoon, jabse Modi ji ne “Ungli me Ink” laganey ki vyavastha ki hai, tabse sabon ko badi rahat hai. Lekin NDTV aur Bhadas ke madhyam se pataa chalta hai ki “Badi Lambi Line” lagi hai bankon me…!
    Issi se sambandhit maine apna ek post aur bheja tha, lekin apke yahan uss post ko jagah nahi di gai. Bhadas kab se aisa ‘Partial” ho gaya…! Yashvant ji se aisi ummeed nahi hai..

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *