कोर्ट ने भास्कर प्रबंधन को लगाई लताड़, 17 तक मजीठिया वेज बोर्ड का हिसाब पेश करने को कहा

दैनिक भास्कर, होशंगाबाद के दर्जनों कर्मचारियों की याचिका पर बीते दिनों गुजरात हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. ये याचिका मजीठिया वेज बोर्ड के हिसाब से सेलरी व एरियरर देने के लिए दायर की गई है. याचिका दायर होने के बाद भास्कर प्रबंधन लगातार अपने कर्मियों का उत्पीड़न कर रहा है पर कर्मी भी न्यायिक व कानूनी तरीके से डटकर लड़ाई लड़ रहे हैं और प्रबंधन के कागजों नोटिसों का जवाब उसी तरह मजबूत कागजी कानूनी कार्रवाई के जरिए दे रहे हैं.

गुजरात हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान जज ने भास्कर के वकीलों से पूछा कि होशंगाबाद यूनिट में किन किन लोगों को मजीठिया दिया गया है और जिन लोगों ने याचिका दायर की है, इन्हें क्यों नहीं दिया गया है, इसका पूरा हिसाब दीजिए. इस पर दैनिक भास्कर के वकीलों ने तीन महीने का समय कोर्ट से मांगा. जज ने इतना ज्यादा समय मांगने का कारण पूछा तो वकील ने कहा कि हिसाब लगाने में समय लग जाएगा. जज ने तब कहा कि इतना समय मेरे पास नहीं है, आप साल भर से क्या कर रहे थे. जज ने वकील की मांग अनसुनी करते हुए 17 मार्च तक का समय दिया है. जज ने कहा कि 17 मार्च तक अपना पूरा हिसाब मेरे सामने पेश करिए.

होशंगाबाद यूनिट के जिन जिन कर्मियों का तबादला किया गया है, कोर्ट ने उनके तबादले का कारण प्रबंधन से पूछा है और जवाब वकील के माध्यम से कोर्ट में भिजवाने को कहा है. इन आदेशों से भास्कर प्रबंधन की नींद उड़ी हुई है. जवाब देने के लिए एक सप्ताह का समय दिया गया है. बताया जा रहा है कि इतना कम समय देखकर भास्कर प्रबंधन ने ट्रांसफर किए गए लोगों की ज्वायनिंग डेट बदल दी है. अदालत ने भास्कर के वकील की कोई बात नहीं मानी और मजीठिया को लेकर जमकर फटकार लगाई. कोर्ट ने भास्कर के वकील से कहा कि अगर आप लोग मजीठिया वेज बोर्ड इन्हें दे देते तो ये लोग कोर्ट नहीं आते. जज ने ये भी कहा कि आपकी सभी प्रेस यूनिट से लोग कोर्ट आ रहे हैं, ये सारे लोग तो गलत नहीं हैं.  कोर्ट के रुख को देखकर भास्कर कर्मियों में उत्साह की लहर है. कोर्ट की अगली डेट 17 मार्च है जिस दिन भास्कर को मजीठिया का हिसाब कोर्ट में पेश करना है.

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Comments on “कोर्ट ने भास्कर प्रबंधन को लगाई लताड़, 17 तक मजीठिया वेज बोर्ड का हिसाब पेश करने को कहा

  • yes, this is absolutely true, bhaskar gujarat me management ki koi chal samaj nahi aa rahi he………itne dare huye he ke unho ne bouncers logo ko 24 ghante ke liye sabhi darwajo pe laga diye he…jan ne ko mila he ke company ke upar bahot logo ne case kiya he aur roj 1-2 notice court se mil rahi he jo ke management reject kar raha he aur is liye unho ne bouncers ko darwaje pe khada kar diya he…..total 6 bouncers pure din sab logo se I-card mangte rahete he aur koi suspicious log aaye to fauran call kar ke management ko bata dete he……..Udhar court ko bhi pata chal gaya he ke ye logo ne majethia nahi diya he is liye jitne bhi cases huye he un sab ho ek saath jod ke 17.03.15 ko saath me hi karyavahi hogeeeeeeeeeeee………….Pranav aur Rahul ki to vaat lag gayee he mamu……(ramesh babu ne mamu banaya he in dono ko)

    Reply
  • Anit Shurma says:

    Ye kya ho gaya.. Yaha marketing ke ladko ko ghar bitha diya aur ab target mangte he.. Sala dhandha kaha se kare.. Palampur sala girr pada he. Yuuuu.. Thuuuu..

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *