इकलौते जज साहब हज करने चले गए, श्रम अदालत है महीने भर से खाली (देखें वीडियो)

बुरा हाल है श्रम अदालतों का, मीडियाकर्मी हक पाने के लिए भटक रहे… आल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस की कानपुर शाखा के सेक्रेटरी एके सिंह ने एक इंटरव्यू में मजीठिया वेज बोर्ड की लड़ाई लड़ रहे मीडियाकर्मियों के सामने आ रही दिक्कतों का खुलासा किया. Share on:कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

मजीठिया क्रांतिकारियों की नेशनल यूनियन ‘एनईयू इंडिया’ पंजीकृत

देश के सभी अखबार कर्मचारियों के हितों की रक्षा के लिए आखिरकार एक नेशनल यूनियन का सपना साकार हो चुका है। मजीठिया क्रांतिकारियों की पिछले करीब पांच सालों की लंबी लड़ाई के दौरान जो समस्‍याएं सामने आई हैं, उन्‍हें देखते हुए खालिस अखबार कर्मचारियों की एक देशव्‍यापी यूनियन की जरूरत महसूस हो रही थी। इसी …

मजीठिया क्रांतिकारी और वरिष्ठ पत्रकार श्रीकांत का पुत्र बना पीसीएस अफसर

क्या आप उस बच्चे से अंग्रेजी माध्यम से 19वीं रैंक के साथ पीसीएस बनने की उम्मीद कर सकते हैं, जिसकी शिक्षा सरकारी प्राइमरी स्कूल से शुरू हुर्इ हो, जिसे एकेडमिक करियर में अंग्रेजी विषय में 18 अंक ग्रेस मार्क देकर पास किया गया हो, जिसे कक्षा 10 में मात्र 59.8%, 12 में मात्र 63.3% और …

भास्कर ग्रुप के कर्मियों के लिए मंडे के दिन गुड न्यूज- ‘क्लेम करो, लाखों पाओ’! देखें आर्डर कॉपी

मजीठिया क्रांतिकारी सुधीर जगदाले के पक्ष में आए लेबर कोर्ट के फैसले की कॉपी पढ़ें… ये है मजीठिया अवॅार्ड को लेकर पहला आर्डर … जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड मामले में भड़ासी तेवर वाले महाराष्ट्र के क्रांतिकारी पत्रकार सुधीर जगदाले के पक्ष में आए लेबर कोर्ट के फैसले की कॉपी अब www.bhadas4media.com पर उपलब्ध है। देश …

मजीठिया मामले में राष्ट्रीय सहारा प्रबंधन को हाईकोर्ट ने नहीं दिया स्टे

प्रबंधन ने तीन कर्मचारियों को बिना काम के वेतन दिया…. मजीठिया मामले में राष्ट्रीय सहारा प्रबंधन का करारा झटका लगा है। लेबर कोर्ट से हारने के बाद राष्ट्रीय सहारा प्रबंधन हाईकोर्ट में प्रोडक्शन के तीन कर्मचारियों के खिलाफ हाईकोर्ट की शरण में गया। प्रबंधन को उम्मीद थी कि लेबर कोर्ट के आदेश पर स्टे मिल …

‘हिन्दुस्तान’ मुरादाबाद के मजीठिया क्रांतिकारी संतोष की गवाही पूरी, मार्च तक फैसला आएगा

मुरादाबाद से मजीठिया का दावा पेश करने वाले पहले क्रांतिकारी संतोष सिंह का केस अंतिम पड़ाव पर पहुंचा… हिन्दुस्तान मुरादाबाद में बतौर सिटी चीफ कार्य करने वाले संतोष सिंह को हिन्दुस्तान मुरादाबाद के सम्पादक मनीष मिश्रा के स्थानांतरण के बाद नवांगुत सूर्य कान्त द्ववेदी ने अपने पूर्व व्यक्तिगत द्वेष के चलते हाशिये पर डाल दिया. …

मजीठिया वेज बोर्ड मामले में लेबर कोर्ट से सुधीर जगदाले बने देश के पहले विनर

देशभर के उन मीडियाकर्मियों के लिये एक खुशी भरी खबर आयी है जिन्होंने जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड मामले में लेबर विभाग या लेबर कोर्ट में मुकदमा कर रखा है। मजीठिया वेज बोर्ड मामले में महाराष्ट्र के सुधीर जगदाले की लेबर कोर्ट में शानदार जीत हुयी है और वे इस मामले में लेबर कोर्ट से जीतने …

मजीठिया पर सुप्रीम कोर्ट के नए आदेश का बरेली श्रम न्यायालय में दिखा असर

कंपनी के कागजात जमा करने को ज्यादा समय देने से किया इनकार, सुनवाई के लिए अंतिम 2 दिन की मोहलत, फिर 2 फरवरी की डेट लगी, पीठासीन अधिकारी का बदला नज़र आया रुख, मजीठिया के अन्य केसों में भी दो दिन बाद फिर सुनवाई, हिन्दुस्तान के पैरोकारों की श्रम न्यायालय ने टालमटोल करने पर लगाई …

सुप्रीम कोर्ट ने मजीठिया वेज बोर्ड और टर्मिनेशन के लंबित मामले तय समयसीमा में निपटाने के आदेश दिए

देशभर के सभी हाईकोर्ट की रजिस्ट्री को नोटिस जारी किए गए… देशभर में मजीठिया वेतनमान के लिए संघर्ष कर रहे प्रिंट मीडिया के साथियों के लिए नए साल में देश की सबसे बड़ी अदालत ने बड़ी राहत भरी खबर दी है। मजीठिया को लेकर दायर एक मिसलेनियस एप्लीकेशन पर सोमवार 28 जनवरी को प्रधान न्यायाधीश …

जब मुख्य न्यायाधीश अपना ही आदेश नहीं मनवा सकता तो फिर इस न्याय पालिका पर कौन विश्वास करेगा!

मजीठिया वेज बोर्ड 11 साल से लागू न करा पाने के लिए सुप्रीम कोर्ट भी जिम्मेदार… मजीठिया वेज बोर्ड के लिए संघर्ष कर रहे साथियों से यह कहना चाहता हूं कि प्रिंट मीडिया में जो मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशें लागू नहीं हो पा रही हैं, मांगने वालों को बर्खास्त किया जा रहा है, ट्रांसफर …

मीडिया मालिकों के ‘भक्त’ पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ आम मीडियाकर्मियों ने शुरू की मुहिम

मजीठिया वेज बोर्ड न मिलने से नाराज मीडियाकर्मियों ने पीएम मोदी के खिलाफ राहुल गांधी को पत्र भेजा… पीएम नरेंद्र मोदी अपने मूल स्वभाव में एलीट समर्थक और आम जन विरोधी हैं. यही कारण है कि वे हर मसले पर साथ बड़े लोगों का लेते हैं और छोटे लोगों को उनके हाल पर मरने-तपड़ने के …

ये अंशकालिक संवाददाता तो मजीठिया वेज बोर्ड की लड़ाई जीतने वाला है! आप कब जागेंगे?

देश भर के समाचार पत्रों में कार्यरत अंशकालिक संवाददाताओं के लिये अच्छी खबर है। समाचार पत्रों में समाचार भेजने के बदले नाम मात्र का भुगतान पाने वाले अंशकालिक संवाददाता भी मजीठिया वेज बोर्ड के तहत लाखों रुपये का बकाया भुगतान क्लेम कर सकते हैं और इसे पा भी सकते हैं। एक अंशकालिक संवाददाता अपने इसी …

मजीठिया वेज बोर्ड : महाराष्ट्र में समाचार पत्रों की फिर से होगी जांच

मुंबई : पत्रकारों और समाचारपत्र कर्मियों के लिये गठित जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिश को माननीय सुप्रीमकोर्ट के आदेश के बाद भी अमल में नहीं लाया जा सका है। महाराष्ट्र के कामगार आयुक्त की अध्यक्षता में आयोजित त्रिपक्षीय समिति की बैठक में इस पर गंभीर चिंता व्यक्त करते हुये कामगार आयुक्त राजीव जाधव ने …

पत्रकार ने अमित शाह को मजीठिया वेज बोर्ड के सवाल पर घेरा तो बगले झांकने लगे

जयपुर में आज अमित शाह की प्रेस कांफ्रेंस में मजीठिया वेज बोर्ड को लेकर कुछ पत्रकारों ने सवालों का ऐसा गोला दागा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह बगले झांकने लगे और बड़ी बेशर्मी से अमित शाह ने कह दिया कि उन्हें मजीठिया वेजबोर्ड के बारे में कुछ नहीं मालूम। अमित शाह पर सवालों …

मजीठिया क्रांतिकारी का 37 लाख रुपये बकाया कोर्ट में जमा करने का दैनिक भास्कर को निर्देश

जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड मामले में पंजाब से एक बड़ी खबर आ रही है। पंजाब हाईकोर्ट ने दैनिक भास्कर की प्रबंधन कंपनी डी बी कार्प को निर्देश दिया है कि वह क्लेमकर्ता की पूरी बकाया राशि को रजिस्ट्रार कार्यालय में दस दिनों के अंदर जमा कराए। पूरे देश में ये पहला मामला है जब किसी …

नई दुनिया इंदौर के मीडियाकर्मी अभिषेक यादव ने प्रबंधकों की दादागिरी का कच्चा चिट्ठा खोला

Pramod Patel : मजीठिया वेज बोर्ड मांगने पर किस प्रकार से कर्मचारियों को परेशान किया जा रहा है, किस तरह मानसिक प्रताड़ना दी जा रही है और किस तरह केस वापस लेने के लिए मजबूर किया जा रहा है, उसका उदाहरण है नई दुनिया, इंदौर के मीडियाकर्मी अभिषेक यादव का प्रकरण. हम इस साथी को …

उत्तराखंड हाईकोर्ट ने पत्रकारों के लिए सुनाया एतिहासिक फैसला, लेकिन सवाल वही है- ‘इसे लागू कौन कराएगा माई लॉर्ड?’

सुप्रीम कोर्ट ने नाक रगड़ लिया लेकिन किसी अखबार मालिक ने ठीक से मजीठिया वेज बोर्ड लागू नहीं किया. वो मीडियाकर्मी जो खुलकर मजीठिया वेज बोर्ड मांगते हुए सामने आए, उन्हें या तो नौकरी से निकाल दिया गया या फिर दूर दराज कहीं ट्रांसफर करके फेंक दिया गया. जो लोग चुप्पी साधे अखबारों में मालिकों …

पाखंडी भास्कर समूह को आइना दिखाने वाली बहादुर रिसेप्शनिस्ट आलिया इम्तियाज़ शेख को एक सैल्यूट!

महिला मीडियाकर्मी का यह इस्तीफानामा दैनिक भास्कर के पाखंड को तार-तार करता है… आप भी पढ़ें और दूसरों को भी पढ़वाएं…. Share on:कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

अखबार ने नौकरी से निकाला तो 34 साल बाद कोर्ट से जीत सके दुबे जी!

कुछ लोगों का कहना है कि यह जीत कोई जीत नहीं है. 34 साल बाद किसी कंपनी से निकाले गए आदमी का जीतना बताता है कि दरअसल कंपनी जीत गई, आदमी हार गया. बावजूद इसके, कई पत्रकार साथी खुश हैं कि चलो, जीते हुए साथी को समुचित पैसा, बकाया, वेज बोर्ड और मुआवजा तो मिल …

मजीठिया वेज बोर्ड : 20जे के विवाद को लेकर इस तरह बनाएं अपना जवाब

दैनिक जागरण, दैनिक भास्‍कर, अमर उजाला और कई अन्‍य समाचारपत्रों के प्रबंधकों की ओर से मजीठिया वेजबोर्ड मांगने पर 20जे को विवाद का बड़ा हथियार बनाकर जबरन लिए गए हस्‍ताक्षरों वाले दस्‍तावेज लगाकर डीएलसी स्‍तर पर या लेबर कोर्ट में चल रहे मामले को खारिज किए जाने की अर्जी डाली जा रही है। प्रबंधन के …

मजीठिया वेज बोर्ड : दैनिक भास्कर पर 62 हजार रुपये का जुर्माना

नोटिस रिसीव न करने और गैरहाजिर रहने पर कोर्ट की कार्रवाई…. मजीठिया मामले में हताश, निराश और कदम-कदम पर पराजित अखबार मालिकों पर कानून का शिकंजा कसता जा रहा है। पलायनवादी और शतुर्मुर्गी रवैया अब उन्हें भारी पड़ने लगा है। कानून से भागने की अखबार मालिकों की रणनीति अब बैक फायर करने लगी है। Share …

मजीठिया वेज बोर्ड मुद्दे पर गुमराह करने की कोशिशों पर अदालत ने सहारा के वकील से जताई नाराजगी

वर्ष 2015 में टर्मिनेट किए गए लोगों की नोएडा लेबर कोर्ट में सुनवाई थी. कोर्ट में सहाराकर्मियों और उनके वकीलों ने सहारा प्रबंधन के वकीलों को पानी पिला दिया. कोर्ट में ही नारे लगने लगे. पढ़िए एक सहाराकर्मी द्वारा फेसबुक पर लिखी गई टिप्पणी…. Sumnesh Kumar Chaturvedi : “कहाँ से अनपढ़ लोगों को ले आते …

मजीठिया मामले में पत्रिका प्रबंधन को आज फिर मुंहकी खानी पड़ी!

Vijay Sharma : पत्रिका प्रबन्धन को आज फिर मुंहकी खानी पड़ी। प्रबन्धन ने 190 कर्मचारियों के मामले में राजस्थान हाई कोर्ट से स्टे ले कर उसे लम्बा खींचने की कोशिश कर रहा था। लेकिन पत्रिका प्रबन्धन की ये कोशिश नाकाम हो गई और आज राजस्थान हाई कोर्ट ने स्टे ऑर्डर खारिज करते हुए लेबर कोर्ट …

मजीठिया मामले में सुप्रीम कोर्ट ने इन लेबर कोर्ट को दिया 31 मार्च तक सुनवाई पूरी करने का निर्देश

सुप्रीम कोर्ट से मजीठिया वेज बोर्ड मामले में एक ताजा आदेश आया है। जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड मामले में सुप्रीम कोर्ट ने एक आदेश जारी कर कोटा, बनारस और जयपुर के मजीठिया क्रांतिकारियों को बड़ी राहत दी है। Share on:कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

मजीठिया वेज बोर्ड प्रकरण में कोई मालिक भले न जेल गया, एक बेरोजगार मीडियाकर्मी जरूर अंदर कर दिया गया

Amitabh Thakur : श्री एम के गाँधी की महानता पर कोई टिप्पणी किये बगैर मैं उनके महिलाओं के साथ किये गए सेक्स प्रयोगों को पूर्णतया गलत समझता हूँ और उन्हें घृणास्पद और निंदनीय मानता हूँ. किसी भी व्यक्ति को अपने महत्ता और ताकत का उस प्रकार बेजा प्रयोग नहीं करना चाहिए जैसा श्री गाँधी ने ब्रह्मचर्य प्रयोग की जांच के नाम पर अन्य महिलाओं के साथ नग्न या अन्यथा साथ सो कर किया था.

अमिताभ ठाकुर


इन पांच मीडियाकर्मियों ने कोर्ट में दैनिक भास्कर को किया परास्त, देखें फोटो

  मजीठिया वेज बोर्ड मामले में मीडिया कर्मचारियों को लेबर कोर्ट से मिला न्याय। कोर्ट ने दैनिक भास्कर होशंगाबाद के पांच कर्मचारियों की सेवा समाप्ति को अवैध और अनुचित माना। कोर्ट ने सेवा बहाली का अवार्ड पारित किया है। कोर्ट ने माना कि मजीठिया वेज बोर्ड मांगने के कारण कर्मचारियों को प्रबंधन ने निकाला। Share …

नोएडा का डीएलसी बोला- तुम पत्रकार इसी लायक हो!

Ratan Bhushan नोएडा के डी एल सी पी के सिंह ने निकाली भड़ास… बोला, तुम पत्रकार इसी लायक हो… आज नोएडा के डी एल सी श्री पी के सिंह ने पत्रकारों और माननीय सुप्रीम कोर्ट के बारे में मजीठिया वेज बोर्ड को लेकर कुछ ऐसा कहा, जिससे यह स्पष्ट हो गया कि माननीय सुप्रीम कोर्ट …

नवभारत मुंबई प्रबंधन की प्रताड़ना के शिकार मजीठिया क्रांतिकारी विमल मिश्र की मौत

मुंबई : चार साल से नवभारत प्रबंधन की प्रताड़ना से जंग लड़ रहे नवभारत के रिपोर्टर विमल मिश्र का निधन हो गया। नवभारत प्रबंधन ने उन्हें न तो ट्रांसफर किया था, ना ही सस्पेंड किया और ना ही टर्मिनेट किया। इसके बावजूद वेतन नहीं दे रहा था। तकरीबन 4 साल पहले श्री मिश्र ने नवभारत …

ये 17 मीडियाकर्मी पटना में एचटी ग्रुप से अपने हक के लिए लड़ रहे हैं

पटना : संयुक्त श्रमायुक्त वीरेंद्र प्रसाद ने हिन्दुस्तान और हिन्दुस्तान टाइम्स के कुल 17 कामगारों एवं पत्रकारों का मजीठिया वेज बोर्ड का मामला सुनवाई के बाद लेबर कोर्ट में रेफरेंस के लिए भेज दिया। इसमें शोभना भरतीया को सीधे पार्टी बनाया गया है। वर्किंग जर्नलिस्ट एक्ट के अधिनियम 17 (2) के अन्तर्गत मजीठिया बकाए के …

मजीठिया वेज बोर्ड मामले में पत्रकारों के पक्ष में बॉम्बे हाई कोर्ट का अहम फैसला

जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड मामले में बॅाम्बे हाई कोर्ट ने दी कर्मचारियों को बड़ी राहत, लेबर कोर्ट में हो रही सुनवाई पर हस्तक्षेप करने से किया इनकार, कंपनी द्वारा उठाये गए आपत्ति को भी किया रिजेक्ट, एडवोकेट उमेश शर्मा ने दमदार तरीके से रखा बॉम्बे हाई कोर्ट में कर्मचारियों का पक्ष… Share on:कृपया हमें अनुसरण …