पत्रकार, वितरक, वकील को नि:शुल्क कोरोना वैक्सीन लगे

पत्रकार बने हिस्ट्रीशीटर और माफियाओं के खिलाफ चले अभियान

मथुरा। ब्रजभूमि में नवागत जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल से गुरुवार को पत्रकार, वकील एवं समाचार पत्र वितरकों के प्रतिनिधिमंडल ने एक शिष्टाचार मुलाकात की। उन्होंने डीएम को प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन दिया। इसमें उन्होंने पत्रकार बने हिस्ट्रीशीटर और माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाने एवं मीडिया कर्मियों व वकीलों को कोरोना की वैक्सीन नि:शुल्क लगवाए जाने की मांग की।

राष्ट्रीय यूनियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन, उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन एवं ब्रज प्रेस क्लब अध्यक्ष कमलकान्त उपमन्यु एडवोकेट के नेतृत्व में जिला समाचार वितरक संघ एवं बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों के शिष्टमंडल ने जिलाधिकारी श्री चहल से मुलाकात कर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपे।

राष्ट्रीय यूनियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय सचिव उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष और बृज प्रेस क्लब के अध्यक्ष कमलकांत उपमन्यु एडवोकेट जिला वितरक प्रमुख चंदन आडवाणी वरिष्ठ पत्रकार सीपी सिंह सिकरवार श्री मदन गोपाल शर्मा धर्मेंद्र चतुर्वेदी सोमेंद्र भारद्वाज गोविंद भारद्वाज जग्गा आदि पत्रकारों के साथ मथुरा बार एसोसिएशन के ऑडिटर शैलेंद्र दुबे कार्यकारिणी सदस्य गोपाल शर्मा एवं मनोज शर्मा के नेतृत्व में वकीलों ने भी ज्ञापन सौंपकर न्याय क्षेत्र में लगे सभी कर्मियों को प्राथमिकता से कोरोना वैक्सीन नि:शुल्क लगाने की मांग की।

ब्रज प्रेस क्लब के अध्यक्ष कमलकांत उपमन्यु एडवोकेट एवं जिला वितरक प्रमुख श्री आडवाणी ने सभी समाचार वितरकों के साथ इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया में कार्यरत सभी वर्गों विज्ञापन विभाग सरकुलेशन विभाग एवं समाचार विभाग के कर्मियों को प्राथमिकता के आधार पर नि:शुल्क वैक्सीन लगाने की मांग की।

पत्रकारों ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि ब्रजभूमि में हिस्ट्रीशीटर माफिया फर्जी पत्रकार बन गए हैं जो कानून व्यवस्था व समाज एवं आने वाले वीवीआईपी के लिए खतरा बन सकते हैं, ऐसे लोग चांदी, गांजा, शराब, अफीम व मादक पदार्थों की तस्करी के कार्य में संलिप्त हैं। तथा गिरोह बनाकर संभ्रात व धनाढ्य एवं बड़े धर्माचार्यों को हनीट्रैप का निशाना बना कर अवैध धनवसूली कर रहे हैं। ऐसे फर्जी पत्रकारों को बनाने में सट्टा माफिया, भूमाफिया सक्रिय हैं जो अपने कर्मचारियों को फर्जी पत्रकार बनाकर समाज व प्रशासन में रौब गांठने का प्रयास कर रहे हैं। ऐसे आधा दर्जन लोगों को जिले के ईमानदार पुलिस कप्तान ने जेल भी भेजा है। प्रतिनिधिमंडल ने मांग की कि ऐसे लोगों के विरूद्ध सख्ती से अभियान चलाया जाए।

जिलाधिकारी ने प्रतिनिधिमंडल को नि:शुल्क वैक्सीनेशन कराने व फर्जी पत्रकारों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने का आश्वासन दिया।

  • भड़ास तक अपनी बात पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *