अजीत अंजुम की बिटिया जिया ने मोदी की बजाय केजरी पर मुहर मारा (देखें वीडियो)

Yashwant Singh : अजीत अंजुम ‘इंडिया टीवी’ चैनल में मैनेजिंग एडिटर हैं. इनकी एक प्यारी सी बिटिया है. नाम है- जिया. लगभग साढ़े आठ साल की होंगी. एक रोज यूं ही जिया ने अपने पापा से बातचीत के दौरान केजरीवाल और मोदी को लेकर जिक्र किया. अजीत अंजुम के भीतर का पत्रकार जगा और उन्होंने जिया से सहज भाव से बातचीत करते हुए सब कुछ मोबाइल में रिकार्ड कर लिया. जिया की मम्मी हैं गीताश्री जो खुद जानी-मानी महिला पत्रकार हैं. पत्रकार मां-पिता की बिटिया होने से उन्हें घर में बहस और विचार का माहौल मिलेगा ही. और, इस माहौल में अगर बच्चा अपनी कोई ओपीनियन बनाए तो वह सुनने जानने लायक होगा.

इस वीडियो में जिया ने कितने प्यार से बताया कि मोदी खुद का टीवी में विज्ञापन चलवा चलवा कर वोट पाए हैं. मोदी और केजरीवाल में से किसी एक के चुनने के सवाल पर जिया पहले तो दोनों को अच्छा बताती है, साथ ही यह भी कहती है कि किसी एक को अच्छा कहूंगी तो दूसरा बुरा मान जाएगा. लेकिन जब पपा अजीत अंजुम ने उनसे कहा कि आप एक पर राय बनाइए और बताइए तो जिया ने केजरीवाल का नाम लिया और केजरीवाल को चुनने का कारण बताया. जरूर देखने लायक वीडियो है. राजनीतिक रूप से हम किसी से सहमत या असहमत हो सकते हैं लेकिन इस वीडियो में जो खास बात देखने समझने लायक है वह एक बच्ची का मनोविज्ञान. वह राजनीतिक रूप से अपने हम उम्र बच्चों से काफी सचेत है. उसकी पूरी बातचीत इन्नोसेंस से भरी पड़ी है. वीडियो देख कर मैं तो यही कह उठा कि पुत्री के पांव पालने में दिख रहे हैं. यानि ये बिटिया पक्का एक दिन मां-पिता और देश-समाज का नाम रोशन करेगी. लव यू जिया. हजारों साल जियो.

वीडियो देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें…

https://www.youtube.com/watch?v=X7FG3Y58QM4

भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह के फेसबुक वॉल से.

उपरोक्त स्टेटस / वीडियो पर वरिष्ठ पत्रकार संजय कुमार सिंह की टिप्पणी कुछ यूं है… Sanjaya Kumar Singh : अच्छे जवाब के लिए अजीत ने जिया को गुड कहा है। अच्छे आईडिया के लिए अजीत भी गुड कहलाने के पात्र हैं। वाकई पॉलिटिकली काफी जागरूक है जिया।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “अजीत अंजुम की बिटिया जिया ने मोदी की बजाय केजरी पर मुहर मारा (देखें वीडियो)

  • महेन्द्र श्रीवास्तव says:

    बिटिया को ढेर सारा दुलार !

    लेकिन सच्चाई ये है कि भाई अजित ने अपने दिल की बात कहने के लिए बिटिया का सहारा लिया है, मुझे ऐसा लगता है। वजह जहां पर वो हैं, मोदी के लिए कुछ नहीं कह सकते ।

    Reply
  • इमरान खान says:

    बच्चे के बोल भगवान के बोल होते हैं …मोदी के जीत का सच अब बच्चे बच्चे भी जान गये हैं …..लेकिन सच्चाई नही छुपती हैं ,केजरीवाल ने बच्चो के दिल में भी जगह बना ली हैं …इससे बड़ी जीत केजरीवाल के लिए क्या होगी …….

    Reply
  • सुरेन्‍द्र जोशी says:

    वाकई……जिया ने जिस संजीदगी के साथ अंजुम सर के सवालो का जवाब दिया है उससे लगता है अपने पत्रकार माता पिता की तर्ज पर बेटी भी एक दिन इस देश के महान पत्रकारो की सूची में सर्वोपरि होगी…..जिओ जिया…..

    Reply
  • महेंद्र अवधेश says:

    शाबाश जिया ! बच्चे मन के सच्चे होते हैं। उनके मुंह से सिर्फ सच निकलता है। यह हो सकता है कि हम उससे खुद को सहमत कर पाएं या नहीं।

    Reply
  • loon karan chhajer says:

    बच्चे मन के सच्चे व भगवान का रूप होता है ,भगवन का निर्णय गलत नहीं होगा

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *