क्या आपने इस मुद्दे पर कम्युनिस्टों की सुपारी किलर Kavita Krishnan का कोई बयान सुना?

Samar Anarya : जेएनयूएसयू के अध्यक्ष और संयुक्त सचिव ने यौन हिंसा का आरोप लगने के बाद इस्तीफा दिया. मगर आपने इस मामले में जहरीले प्रोफ़ेसर आशुतोष कुमार और टीवी नारीवादी और कम्युनिस्टों की सुपारी किलर कविता कृष्णन का कोई बयान सुना? कामरेड खुर्शीद अनवर मामले में तो ये दोनों देश भर में आरोपों की सीडी का प्रदर्शन प्रायोजित और फंड कर रहे थे. इस बार ऐसी चुप्पी क्यों? इसलिए कि आरोपी इनकी पार्टी के सदस्य हैं?

अगर आपकी फेसबुक फ्रेंड लिस्ट में हों तो इन दोनों हत्यारों से इनकी चुप्पी का राज पूछें. आपको इनका असली चेहरा दिखाई देगा. विद्रूप, घटिया और संघी दलाल चेहरा. [बाकी निश्चिन्त रहिएगा, मैं इनकी ऐसी मानहानि करता रहूँगा, मुझे खुद पर मुकदमे का इन्तेजार तो है पर इनसे हो न पायेगा].

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकारवादी अविनाश पांडेय ‘समर’ के फेसबुक वॉल से.

इसे भी पढ़ें…

यौन प्रताड़ना के आरोपी जेएनयू अध्यक्ष अकबर चौधरी और संयुक्त सचिव सरफराज हामिद को पद छोड़ना पड़ा

xxx

कविता कृष्णन जैसी तथाकथित नारीवादियों का स्टैंड उनकी असलियत बेनकाब कर देता है : समर

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *