जिनकी जीन ख़राब है उन्हें बच्चे नहीं पैदा करने चाहिए!

सिद्धार्थ ताबिश-

तस्लीमा नसरीन ने ये ट्वीट किया है कि:

“आदमी और औरत, जिनकी “जीन” ख़राब है और उनकी जीन में मधुमेह, उच्च रक्तचाप, कैंसर जैसी बीमारी है (यानि अनुवांशिक बीमारियाँ हैं), उन लोगों को बच्चे नहीं पैदा करने चाहिए.. क्यूंकि उनको कोई हक़ नहीं है एक नए जीवन को “पीड़ित” बनाने का”

मैं तस्लीमा की इस राय से पूरी तरह सहमत हूँ.. अगर आपके भीतर कोई आनुवंशिक बिमारी है तो आपको बच्चे नाहीं पैदा कर्ण चाहिए.. ऐसा अगर हम सब करने लगें तो पृथ्वी से जाने कितनी मुसीबतें ख़त्म हो जायेंगी जिसका आपको अंदाजा भी नहीं होगा

इस तरह की शुरुवात या सोच बड़ी अच्छी पहल है और ये सब असल मूल है हमारी परेशानी का जिसे हम और आप सदियों से से इग्नोर कर रहे हैं.. कोई ज़रूरत नहीं है हमें इस पृथ्वी को बीमार ईन्सानों से भरने की.. कम इंसान हों और स्वस्थ इंसान हों.. मैंने ख़ुद देखा है आनुवांशिक बिमारी से लोगों को जूझते.. मेरे दोस्त के मौसा और मौसी दोनों मधुमेह से पीड़ित थे और उनके तीन बच्चे बचपन से ही इन्सुलिन ले कर जी रहे हैं किसी तरह

मेरा बस चले तो मैं कैंसर और मधुमेह जैसी बिमारियों के साथ “धार्मिकता” को भी जोड़ दूं और “अंध धार्मिक लोगो” भी बच्चे पैदा करने से रोक दूं… मगर ये संभव है नहीं

इसलिए अभी फ़िलहाल तस्लीमा की ही बात का समर्थन हो जाए तो एक बहुत अच्छी पहल होगी ये..जैसे लोग अंगदान करते हैं ये उसी तरह की ये मुहिम चलानी चाहिए.. कि, “हमे ये अनुवांशिक बिमारी है, हम इसलिए बच्चे नहीं पैदा करेंगे”

~ताबिश



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

One comment on “जिनकी जीन ख़राब है उन्हें बच्चे नहीं पैदा करने चाहिए!”

  • Prashant Pandey says:

    aaj desh me itane jyada GYAANI log ho gaye hai ki pucho mat.
    Bhai, Taslima ki bhawana bilkul sahi hai magar aapka aavesh gazab ka hai.
    Medical Science ke anusar aisa jaruri nahi ki kisi ko anuvanshik bimari ho to uski next pidi ko bhi 100% hogi.
    For real example (jaise aapne diya), mere Uncle ko Madhumeh hai, Unke Maa ko Bhi Hai, our unki Naani ko Bhi tha magar uncle ki dono bachche (current age 28 & 27) bilkul swasth hai.
    Mujhe lagta hai aapko dikkat bimari se nahi Dharmikta se hai.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code