न्यूज़ चैनल छोड़ कॉरपोरेट जगत और सोशल मीडिया से जुड़े विनीत कुमार

दुनिया भर के मीडिया इंडस्ट्री में आज उथल-पुथल का दौर चल रहा है। कितनों की नौकरी चली गई। कितने लोग इस दुनिया को छोड़ अलविदा कह गए। कई लोग आज भी दम घोटू ज़िंदगी जी रहे हैं। ये बात किसी से छुपी नहीं है कि आज पत्रकारिता एक ट्रांज़िशन के दौर से गुजर रहा है। इसी दौर में एक पत्रकार ने नोएडा फिल्म सिटी की टीवी पत्रकारिता को अलविदा कह कॉरपोरेट जगत की ओर रुख कर लिया है।

विनीत कुमार मुबंई स्थित ‘मॉडर्न ग्रुप ऑफ कंपनीज’ में बतौर सोशल मीडिया मैनेजर काम कर रहे हैं। विनीत कुमार को लगभग दो दशकों की पत्रकारिता का लंबा अनुभव है। इससे पहले वे ‘सहारा समय’ और ‘न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया’ जैसे नेशनल चैनलों में लंबे समय तक अपनी सेवाएं दे चुके हैं। सौम्य स्वभाव के इंसान विनीत कुमार की फिल्मों में काफी रुचि है। वे वर्ल्ड सिनेमा को बेहतर तरीके से समझते हैं। फ़िल्मों के अलावा राजनीति और टेक्नोलॉजी में उनकी गहरी समझ है। वे राजनीतिक और सामाजिक मुद्दों पर भी अपनी राय बेबाकी से रखते रहे हैं। उनके लिखे कई लेख पत्र-पत्रिकाओं में भी छप चुके हैं। उन्होंने बहुत सारी कविताएं भी लिखी है जो उनके ब्लॉग पर उपलब्ध है।

ज्ञान की नगरी नालंदा और मुख्यमंत्री के इलाके से आने वाले विनीत कुमार ने अपने करियर के दौरान कई बड़ी हस्तियों के साथ काम किया है। पिछले एक साल से मुबंई में रह कर सोशल, डिजिटल एवं कॉर्पोरेट मीडिया के सहारे कंपनी को आगे बढ़ाने के लिए दिन रात प्रयासरत हैं। साथ ही वो काम से कुछ समय निकाल कर फिल्मों और संगीत के बारे में लिखते-पढ़ते रहते हैं। यूं तो राजनीति और फिल्मों का वास्ता दूर-दूर तक नहीं होता है। लेकिन इनमें यह खास खूबी है कि वे जितनी रुचि फिल्मों और संगीत में रखते है उतनी ही रुचि राजनीति और दुनिया भर के मीडिया में भी रखते हैं। विनीत कुमार ने पटना विश्वविद्यालय से एम ए एवं जामिया मिल्लिया इस्लामिया से जर्नलिज़्म का कोर्स किया है।

विनीत कुछ दिनों तक प्रतिष्ठित बेबसाइट ‘खबरइंडियाकी डाट काम’ के मैनेजिंग एडिटर के तौर पर भी काम कर चुके हैं। उन्होंने भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय में भी अस्थायी तौर पर अपनी सेवाएं दी हैं। वे फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के साथ भी काम कर चुके है।

कोविड-19 काल में हजारों लोगों को नौकरी से निकाला गया उसके शिकार विनीत कुमार भी हुए। लेकिन उन्होंने कुछ अलग करने की ठानी। विनीत कुमार ने किताबें टाइप की, ट्रांसलेशन किया, वेबसाइट डिजाइनिंग की, कम्प्यूटर हार्डवेयर सीखा। विनीत कुमार ने हमेशा परिस्थितियों को अवसर में बदलने की कोशिश की। उनका मानना है कि कॉर्पोरेट जगत में सोशल मीडिया के ज़रिए नए अवसर तैयार हो रहे हैं। जरुरतमंदो को नौकरी मिले इसके लिए वे प्रयासरत हैं।



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



One comment on “न्यूज़ चैनल छोड़ कॉरपोरेट जगत और सोशल मीडिया से जुड़े विनीत कुमार”

  • Priya Ranjan says:

    विनीत एक अच्छे पत्रकार के साथ साथ एक अच्छे पारखी भी हैं। उन्होंने सही समय पर एक अच्छा फैसला लिया ।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code