बीजेपी का दरबारी चैनल है ज़ी न्यूज, इसीलिए निकाल दिया सवाल पूछने वाले पत्रकार को

Sanjaya Kumar Singh : ज़ी न्यूज के एक रिपोर्टर के सवाल हरियाणा के मुख्यमंत्री को पसंद नहीं आए तो उसे नौकरी से निकाल दिया गया। अब एक रिपोर्टर की खबर पश्चिम बंगाल सरकार को पसंद नहीं आई और एफआईआर हो गई तो ममता बनर्जी असहिष्णु हो गईं। इस मामले में सुधीर चौधरी ने जो दलील दी है उस पर मैं कल लिख चुका हूं। यह संपादक इस लायक भी नहीं है कि इस पर ज्यादा लिखा जाए। यह “बदनाम हुए तो क्या, नाम न हुआ” का जीता-जागता और फलता-फूलता उदाहरण है और सुभाष चंद्रा की मेहरबानी से फल-फूल रहा है। उन्हें मुबारक!! फिलहाल रिपोर्टर बर्खास्तगी प्रकरण पर वरिष्ठ पत्रकार Umesh Joshi की ये पोस्ट पढ़ें….

दोहरे मापदंड तो कतई नहीं चलेंगे

ज़ी न्यूज के रिपोर्टर महेंद्र की नौकरी चली गई. वीडियो देखने के बाद नौकरी से बर्खास्त किए जाने का सबब समझ आ जाएगा. ज़ी न्यूज बीजेपी का दरबारी चैनल है, सब जानते हैं. लेकिन, किसी पत्रकार को मुख्यमंत्री की नाराजगी के कारण नौकरी से बर्खास्त किया जाएगा, यह कोई नहीं जानता था. हां! यह सच है. इससे भी बड़ा और कड़ुवा सच यह है कि प्रेस की आजादी की पैरोकार पार्टी के मुख्यमंत्री के कथित इशारे पर पत्रकारीय धर्म को ध्वस्त किया गया. किसी पत्रकार के लिए ऐसी स्थिति बेहद अपमानजनक होती है.

इस पूरे प्रकरण में सिर्फ और सिर्फ ज़ी ग्रुप का प्रबंधन दोषी है. अगर चैनल प्रबंधन में किसी मुख्यमंत्री, मंत्री या नेता का दबाव झेलने का साहस नहीं है तो उसे भर्ती करने से पहले स्पष्ट कर देना चाहिए कि हमें पत्रकार नहीं, चारण चाहिएं. कम से कम इतना साहस तो प्रबंधन को दिखाना चाहिए. इसके बाद कोई चारण पत्रकार बनने का दुस्साहस करता है तो उसे सज़ा जरूर दीजिए. सज़ा देने पर कोई उंगली नहीं उठाएगा. लेकिन पत्रकारिता का ढोंग करेंगे और पत्रकारों से चारणगीरी करवाएंगे तो तकलीफ होती है. ज़ी न्यूज के सुधीर चौधरी पहले महेंद्र के साथ किए अन्याय का जवाब दें, उसके बाद ममता बनर्जी पर उंगली उठाएं. सुधीर चौधरी का कहना है कि ममता बनर्जी के कथित इशारे पर उनके खुद के, उनके रिपोर्टर और कैमरामैन के खिलाफ गै़र ज़मानती एफआईआर दर्ज की गई है. पहले आप खुद में झांकिए, उसके बाद खुद के लिए न्याय की गुहार लगाइए. दोहरे मापदंड कतई नहीं चलेंगे.

वरिष्ठ पत्रकार संजय कुमार सिंह की एफबी वॉल से.

पूरे मामले को समझने जानने के लिए इन्हें भी पढ़ें :

xxx

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “बीजेपी का दरबारी चैनल है ज़ी न्यूज, इसीलिए निकाल दिया सवाल पूछने वाले पत्रकार को

  • MANISH KHANDELWAL says:

    BJP ka darbari news channel hai ZEE NEWS ok,
    fir congress ke talve chatne wala news channel konsa hai ,reporter kon hai,

    NDTV ,RAVISH KUMAR ,RAJDEEP SARDESAI ,BARKHAA DUTT OK,
    bhakt kahte hai modi ke fan ko , fir congressi ke fan ko kya kanhge ……………………………..

    bangal mein jo ho raha hai wo kisi se chupa nahi hai ,wanha HINDUO KaSHOSHAN Kiya ja raha hai ,ASSAM ,KERLA ,U.P. , J &K ,EAST INDIA Wanha kya ho raha hai ye bhi sab ko pata hai,ok

    rahi baat bhakt or bhakti ki to BJO, RSS Ke hum bhakt the,hai or rahenge

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *