जाली डिग्री मामले में दिल्ली के कानून मंत्री जितेंद्र तोमर गिरफ्तार, शाम को साकेत कोर्ट में पेश

सोमवार की रात फर्जी डिग्री मामले में दिल्ली सरकार के कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर के खिलाफ धोखाधड़ी, आपराधिक षड्यंत्र समेत आईपीसी की कई धाराओं में रिपोर्ट दर्ज करने बाद मंगलवार सुबह गिरफ्तार कर लिया। उऩ्हें हौज खास थाने ले जाने के बाद वसंत विहार थाने भेज दिया गया। पुलिस ने शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि उसकी जांच में तोमर की दोनों डिग्रियां फर्जी निकली हैं। गिरफ्तारी के बाद पुलिस उन्हें एम्स में मेडिकल टेस्ट के लिए लेकर गई। अभी तोमर को पुलिस साकेत कोर्ट में पेशी के लिए लेकर पहुंची। उधर, लखनऊ में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि दिल्ली के कानून मंत्री की गिरफ्तारी में गृह मंत्रालय का कोई हाथ नहीं है। गृह मंत्रालय किसी की गिरफ्तारी का आदेश नहीं देता।

दिल्ली में शाम को प्रेस कांफ्रेस में पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी ने बताया कि तोमर की गिरफ्तारी पुख्ता सबूत मिलने के बाद ही की गई है। दिल्ली बार काउंसिल ने 11 मई को दिल्ली पुलिस के सामने जितेंद्र तोमर के ग्रैजुएशन और एलएलबी डिग्री के फर्जी होने के संदेह की शिकायत दर्ज कराई थी। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने बार काउंसिल की शिकायत पर अलग-अलग टीमें भेजकर संबंधित कॉलेजों और विश्वविद्यालयों से इसकी जांच कराई। जांच से पता चला कि तोमर के सर्टिफिकेट्स के क्रमांक किसी अन्य छात्र को आवंटित किए गए थे। पुलिस ने प्रोटोकोल का पूरा पालन किया है।

बस्सी ने कहा कि हमने कानून के अनुसार काम किया है। कुछ दिन पहले इस मामले में एक शिकायत मिली थी और उसी शिकायत के आधार पर आगे कार्रवाई की गई है। उन्होंने कहा कि इस मामले में कल रात हौजखास थाने में एक प्राथमिकी दर्ज की गई, जिसके बाद आज सुबह तोमर को गिरफ्तार किया गया। तोमर की कथित नकली डिग्री के मामले में हुई।

आरोप है कि कानून मंत्री पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे थे। उन पर आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471, 120 बी के तहत मामला दर्ज हुआ है। आरोप है कि उनकी ग्रैजुएशन और एलएलबी की डिग्री फर्जी है। बिहार की तिलका मांझी यूनिवर्सिटी, भागलपुर ने दिल्‍ली हाई कोर्ट को बताया है कि जितेंद्र सिंह तोमर का अंतरिम प्रमाणपत्र जाली है और इसका संस्थान के रिकॉर्ड में इसका अस्तित्व नहीं है। दिल्ली पुलिस की एक टीम भी यूनिवर्सीटी में जाकर जांच करके लौट चुकी है। तोमर ने इसी यूनिवर्सिटी से लॉ की पढ़ाई करने का दावा किया था और उनका कहना है कि उनकी डिग्री 100 फीसदी सही है।

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा है कि मोदी सरकार बदले की कार्रवाई कर रही है। पूरा मामला कोर्ट में हैं। मोदी सरकार हमें थाने में एक नहीं, हजार बार भेजें, भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी। बिना किसी नोटिस के मंत्री को गिरफ्तार किया गया है। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी और राम शंकर कठेरिया पर भी फर्जी डिग्री के आरोप हैं, क्या दिल्ली पुलिस में हिम्मत है कि उन्हें थाने ले जाए। 

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *