राजनाथ सिंह की दिल्ली पुलिस की गुंडई-दलाली : जिस पर हमला हुआ उसी के खिलाफ मुकदमा लिखा

एडवोकेट सुनीता भारद्वाज पर हमले का मामला… दिल्ली के दिल कनाट प्लेस इलाके में गुंडे सरेआम एक सीनियर महिला वकील पर हमला करते हैं और पुलिस ने गुंडों की मदद करते हुए पीड़िता वकील के खिलाफ ही मुकदमा लिख लिया है. घटना के हफ्ते भर बीत जाने के बाद भी बाराखंभा थाने की पुलिस पीड़िता वकील की तहरीर दबाए बैठे है और हमलावरों की रक्षा में खुलकर खड़ी है. पीड़िता सुनीता भारद्वाज और उनके पति एडवोकेट उमेश शर्मा का बाराखंभा रोड स्थित नई दिल्ली हाउस में आफिस है. सुनीता नयी दिल्ली हाउस फ्लैट ओनर्स एसोसिएशन की सचिव भी हैं.

बस्सी साहब 21वीं सदी के स्वामिभक्त नौकरशाही के सबसे बेहतरीन नायक हैं!

Arvind K Singh : बस्सी साहब ने वाकई शानदार पारी खेली। अगर सभी प्रशासनिक अधिकारी उनकी तरह हो जायें तो नौकरशाही में धर्मवीर, भूरेलाल या के.एफ.रुस्तमजी जैसों का नाम निशान ही मिट जाएगा। बस्सी साहब ने ऐसी लंबी लकीर खींच दी है कि जिसे पार कर पाना शायद आगे के पुलिस आयुक्तों के लिए बहुत कठिन होगा।

CBI रेड अब सारे आरोपों और असफलताओं से निकाल देगा केजरीवाल को! (पढ़ें सोशल मीडिया पर पक्ष-प्रतिपक्ष में टिप्पणियां)

Amitaabh Srivastava : अरविंद केजरीवाल और उनकी मंडली मन ही मन बहुत प्रसन्न होंगे। शकूरबस्ती झुग्गी कांड के बाद बैकफुट पर आई केंद्र सरकार ने सीबीआई छापे के बहाने इस सर्दी में उन्हें victim politics का एक गरमागरम मुद्दा और मौका दे दिया है। सर्दियों में आम आदमी पार्टी की पालिटिक्स गरमाती भी है। इसी …

दिल्ली में हरिभूमि डाट काम के पत्रकार राहुल पांडेय के घर भीषण चोरी, पुलिस बेपरवाह

दिल्ली पुलिस का हाल इन दिनों बेहद बुरा है. केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार के बीच रस्साकस्सी का पूरा फायदा दिल्ली पुलिस उठा रही है. इस कारण चोर-उचक्कों और लुटेरों की बन आई है. आए दिन सभ्य लोग पुलिस या पुलिस संरक्षित गुंडों-चोरों-उचक्कों के जरिए परेशान प्रताड़ित किए जा रहे हैं. यहां दो घटनाओं का उल्लेख जरूरी है. हरिभूमि डाट काम के पत्रकार राहुल पांडेय के दिल्ली स्थित घर को चोरों ने साफ कर दिया. राहुल पांडेय पत्रकार के साथ साथ साहित्यकार, रंगकर्मी, चित्रकार और फिल्मकार भी हैं.

Majithia : Wanted Permanent Wage Fixation Machinery

The National Alliance of Journalists Unions at a meeting in Delhi has called for setting up of a permanent wage fixation machinery for periodic revision of wages. It has further called upon the central and state governments to make non-implementation of the current Majithia wage board award a cognizable offence taking in view large scale non-implementation.

दस अगस्त को दिल्ली में देश भर के किसानों का जमावड़ा, संसद घेरेंगे

देश भर में स्वराज अभियान के बैनर तले भूमि अधिग्रहण कानून रद्द करने के लिए 10 अगस्त को देश भर से आए किसान संसद का घेराव करेंगे. इस अभियान में देश भर से 50 हजार लोग शामिल हो रहे हैं. आज गुजरात से भी दिल्ली संसद का घेराव करने के लिए गुजरात से कई किसान दिल्ली कूच कर गए हैं. यह घोषणा आज स्वराज अभियान से जुड़े गुजरात के प्रवक्ता प्रवीण मिश्रा ने दी. 

दिल्ली पुलिस ने झूठी खबर पर जागरण को थमाया नोटिस

दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी राजन भगत ने दैनिक जागरण के संपादक को प्रेषित एक लिखित स्पष्टीकरण में आगाह किया है कि वह अपने संवाददाता को विभाग के संबंध में अनधिकृत खबरें न देने की ताकीद करें। साथ ही, दैनिक जागरण में “आप की खबरें करती हैं लोगों का मनोरंजन: भीम सेन बस्सी” शीर्षक से प्रकाशित समाचार पर हमारा पक्ष ठीक से प्रकाशित करें। 

नियमितीकरण के लिए आकाशवाणी के उद्घोषकों का जंतर-मंतर पर धरना-प्रदर्शन

दिल्ली : अखिल भारतीय आकस्मिक उद्घोषक/ कम्पीयर कर्मचारी एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी मनोज कुमार पाठक ने बताया कि नियमितीकरण की मांगों के समर्थन में सभी आकस्मिक उद्घोषकों (कम्पीयर) ने 3 एवं 4 अगस्त को जंतर-मंतर पर शांति पूर्ण तरीके से दो दिवसीय धरना-प्रदर्शन किया गया। 

अफवाहें उड़ाने वालो, देख लेंगे, तुम्हारे दुष्प्रचार में ताकत है या हमारे सच में : ओम थानवी

कुछ समय पहले बदमाशों ने, न सुहाने वाले एक आलोचक – जो टीवी पर भी बेबाक रहते हैं – के बारे में अफवाह उड़ाई कि उनकी पत्नी भाग गई हैं। अफवाह ऐसी कि कोई उनसे पुष्टि भी करना चाहे तो कैसे करे लेकिन कल मेरे बारे में उन लोगों ने थोड़ी रियायत बरती, सो मित्रों ने मुझे फोन कर बता भी दिया। उन कुछ के श्रीमुख से देशद्रोही, गद्दार, विदेशी एजेंट आदि जुमले तो रोज सुनते हैं; सो इसमें भी हैरानी नहीं हुई कि अब वे शराबी-कबाबी-व्यभिचारी कहें; कौन जाने कल बलात्कारी-हत्यारा या तस्कर भी कहने लगें। ऐसे गलीज तत्त्वों से कोई गिला नहीं। 

वाह रे लोकसभा टीवी के शेखचिल्ली, ‘डायरिया स्पेशल’ से उड़ाई कलाम की मर्यादा की खिल्ली

लोकसभा टीवी ने मर्यादा की सारी सीमाएं लांघ कर एक बार फिर ये साबित कर दिया है कि यहां काम करने वाले लोग बेहद अनप्रोफेशनल तो हैं ही, उसके साथ ही असंवेदनशील भी हैं। कलाम के अचानक हुए निधन के बाद लोकसभा टीवी ने जो लाइन ली है उससे सारा देश शर्मिंदा है। सोशल मीडिया पर लोकसभा टीवी के उन कार्यक्रमों की तस्वीरें वाइरल हो रही हैं, जो कार्यक्रम लोकसभा टीवी भारत रत्न और पीपुल्स प्रेजिडेंट कलाम के निधन के बाद दिखा रहा था। हद तो तब हो गयी जब देर रात तक लोकसभा टीवी पर कलाम के निधन की खबर तक नहीं चली। देश के तमाम बड़े सम्पादकों ने लोकसभा टीवी की इस बेशर्म हरकत पर हैरानी जताई है। फेसबुक पर इण्डिया टीवी के संपादक अजीत अंजुम सहित कईं अखबारों और न्यूज़ चैनलों के अन्य संपादकों ने भी कलाम के दिल्ली में अंतिम दर्शन के कार्यक्रम के दौरान लोकसभा टीवी के ‘डायरिया स्पेशल’ प्रोग्राम दिखाए जाने की तस्वीरें पोस्ट की हैं।

मीडिया का दमन करने की कोशिश, केंद्रीय गृह मंत्रालय में अब पत्रकारों के प्रवेश पर पाबंदी

नई दिल्ली : केंद्रीय गृह मंत्रालय ने प्रवक्ता को छोड़कर अपने दूसरे अधिकारियों से पत्रकारों के मिलने पर प्रतिबंध लगा दिया है। अब मीडिया तक सूचनाएं पहुंचाने के दिशानिर्देश तय किए गए हैं. पत्रकारों ने विरोध जताते हुए कहा है कि यह मीडिया का दमन करने की कोशिश है.

एलजी साहब, ये तो हद हो गई !

नई दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी सरकार के साथ उप राज्यपाल यानि एलजी नजीब जंग के बीच चल रही जंग अब अत्यंत ही फूहड़ और अलोकतांत्रिक हो गई है। एक सामान्य बुद्धि का व्यक्ति भी यह बात समझ सकता है कि विशाल बहुमत से चुनी गई नई दिल्ली की केजरीवाल सरकार को हर तरह से केन्द्र की भाजपा सरकार द्वारा परेशान किया जा रहा है। 

दिल्ली भास्कर की साजिश को कर्मचारियों ने ठोकर मारी, वकील को बैरंग लौटाया

दिल्ली : भास्कर की धोखेबाजी को अंजाम तक पहुंचाने के लिए उसके वकील सचिन गुप्ता ने गत दिनो एक नायाब चाल चली। उसने एक ऐसे पेपर मीडियाकर्मियों से हस्ताक्षर कराने का प्रयास किया, जिसमें कर्मचारियों को उद्धृत किया गया था कि उन्हें मजीठिया वेतनमान मिल चुका है। षड्यंत्र की भनक लगते ही सभी कर्मचारियों ने एकजुट होकर वकील को खरी-खोटी सुनाते हुए दफ्तर से बैरंग लौटा दिया। 

शीला चोर है, शीला बेईमान है, ये देखो, केजरी को शर्म नहीं आई

शीला चोर है. शीला को हम जेल भेजेंगे. शीला बेईमान है. इसी तरह के आरोप लगाये जाते थे. अब देखिये एक भ्रष्ट पूर्व मुख्यमंत्री के साथ हंसी-ठिठोली की जा रही है, साथ में स्वादिष्ट व्यंजनों का लुत्फ़ उठाया जा रहा है। 

हम नेता लोग एक होते हैं जी, दिल पर मत लेना जी

अब सब ठीक है जी. हम राजनीति करना सीख गए हैं जी. लड़ते भिड़ते हैं टीवी पर एफबी पर ट्विटर पर अखबार में लेकिन सिर्फ जनता को दिखाने रिझाने के लिए जी. बाकी तो जानते ही हैं जी कि हम नेता लोग एक होते हैं जी. दिल पर मत लेना जी. पार्टी शार्टी में तो बुलाना ही पड़ता है जी. योगेंद्र यादव प्रशांत भूषण को क्यों नहीं बुलाया जी? 

ऑल इंडिया रेडियो में भी अखबारों की तरह अंडरटेकिंग प्रावधान से मची अंधेरगर्दी

नई दिल्ली : केंद्र सरकार भी दैनिक टाइम्स ऑफ इंडिया, हिन्दुरस्तान टाइम्‍स और दैनिक हिन्दुस्तान, दैनिक जागरण और दैनिक भास्कार द्वारा अपनाए गए अवैध और असंवैधानिक तरीके से ऑल इंडिया रेडियो को चलाने का ठेका यहां के कुछ अधिकारियों को दे दिया है। पिछले बीस-बीस सालों से काम कर रहे आकस्मिक (कैजुअल्‍स) उदघोषकों और प्रस्तोताओं से इन अखबारों की तरह ही अवैध अंडरटेकिंग लेने के आदेश जारी किए गए हैं। 

श्वेता भट्टाचार्या पहुंचीं ईटीवी दिल्ली, हिमांशु तिवारी आई नेक्स्ट के हिस्से बनेंगे

फोकस टेलीविजन नेटवर्क की एंकर / प्रोड्यूसर श्वेता भट्टाचार्या ने अपने पद से इस्तीफा देकर ईटीवी के दिल्ली ब्यूरो में सीनियर एंकर के रूप में ज्वॉइन कर लिया है. वह फोकस नेशनल की प्राइम टाइम फेस रही हैं. वह इसके पहले हैदराबाद ईटीवी से जुड़ी रही हैं. वहीं से उन्होंने फोकस टीवी ज्वाइन किया था. पूरी खबर यूं है: Shweta Bhattacharya joins Etv Delhi. Shweta Bhattacharya was a Famous Face of focus tv national, was working as a Anchor/Producer who left the organisation and joined Etv Delhi as a Senior Anchor. She was associated to Focus Tv since last 2 Years anchored Debate shows, special Reports, did reporting during Delhi Elections for Soecial Delhi based Election Shows. 

पेड न्यूज : दिल्ली क्रिकेट का ‘काला’ कैरेक्टर और बिकाऊ मीडिया की एक और करतूत

दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) की खेल समिति के चुनाव जल्द होने वाले हैं। तीस हज़ारी कोर्ट ने दो पूर्व जजों को चुनाव अधिकारी भी नियुक्त कर दिया है। चुनाव की तिकड़मबाजी अपने चरम पर है। पत्रकारों का इस्तेमाल शुरू हो चुका है। वीरवार को मेल टुडे में स्टोरी पढ़ी, तो शुक्रवार को नवभारत टाइम्स में महानगर खेल के कॉलम में एक खबर देखी।

लव यू मनोज, निराश मत होना, ये दिन भी गुजर जाएंगे

जब 2008 में दिल्ली आया, दैनिक जागरण की नौकरी करने तो मयूर विहार फेज 3 में किराए पर मकान मुझे आम आदमी पार्टी के आज गिरफ्तार हुए एमएलए मनोज कुमार ने दिलवाया था. मनोज तब विधायक नहीं थे, उनसे कोई परिचय नहीं था और तब उन दिनों वो दो जून की रोटी के लिए किराए पर मकान दिलवाने से लेकर मकान बिकवाने और होली में रंग बेचने से लेकर दिवाली में पटाखा बेचने तक का काम किया करते थे. 

किसी अखबार ने नहीं छापी एमसीडी भर्ती घोटाले की खबर, एक अधिकारी ने सबको मैनेज किया

सभी खबर अगर समाचारपत्र और न्यूज चैनल में चलती तो शायद भड़ास की जरूरत न पड़ती। आखिरकार आज मुझे भी पत्रकार होते हुए अपनी वेदना को लोगों तक पहुंचाने के लिए भड़ास का सहारा लेना पड़ रहा है। दिल्ली नगर निगम (उत्तरी, पूर्वी और दक्षिणी दिल्ली) में प्रचार सहायक के छह पदों के लिए निकाली गई भर्ती में आरक्षित वर्ग का कोटा समाप्त करने वाले अधिकारी योगेन्द्र सिंह मान ने अपने रसकू और पद के दम पर पत्रकारों को मैनेज कर लिया है। कुछ पत्रकार इसलिए खबर नहीं लिख पाए कि उनके, उनसे ताल्लुकात है। जिन पत्रकारों ने खबर लिखने की हिम्मत दिखाई उन पत्रकारों को पहले तो स्वयं फोन कर खबर रोकने का प्रयास किया गया। जब बात नहीं बनी तो ऊपर (चीफ रिपोर्टर और एडिटर) से फोन कर मैनेज कर लिया गया।

दिल्ली में पत्रकारों ने बिगुल बजाया, पैदल मार्च, पुलिस बल प्रयोग, केंद्र को 15 दिन का अल्टीमेटम

 देश भर में हो रहे पत्रकार उत्पीड़न और पत्रकारों की हत्याओं के विरोध में एनसीआर पत्रकार संघर्ष समिति ने बुधवार को नोएडा से दिल्ली तक पैदल मार्च निकाल कर विरोध जताया। नोएडा से पैदल दिल्ली पहुंचे सैकड़ों की संख्या में पत्रकारों को दिल्ली पुलिस ने तिलक ब्रिज के पास रोक लिया और बल प्रयोग करते हुए उन्हें हिरासत में ले लिया। बाद में जंतर मंतर पर ले जाकर मुक्त किया। वहीं पर दिल्ली पुलिस के माध्यम से केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को पांच सूत्री मांगों का ज्ञापन सौंपा गया। 

नोएडा से दिल्ली पैदल मार्च पर निकले पत्रकार

विभूति रस्तोगी बने राष्ट्रीय उजाला के दिल्ली ब्यूरो चीफ

दिल्ली से हाल ही में लांच हिन्दी अखबार राष्ट्रीय उजाला में वरिष्ठ पत्रकार विभूति कुमार रस्तोगी ने दिल्ली ब्यूरो चीफ के रूप में अपनी नई पारी की शुरूआत की है। वह लगातार 11 सालों तक दैनिक जागरण दिल्ली में वरिष्ठ संवाददाता रहे हैं।

कलम की आवाज़ बनो 25 जून को, दिल्ली जंतर मंतर चलो

प्रकाश फुलारा की अपील : मित्रों पत्रकारों पर हो रहे लगातार हमलों और जिस कदर पत्रकारों को जिंदा जलाया जा रहा है के विरोध में 25 जून को सुबह 11 बजे जंतर मंतर पर दिल्ली जर्नलिस्ट एसोसिएशन द्वारा धरना दिया जा रहा है। सभी पत्रकार इसमें सादर आमन्त्रित हैं। पत्रकार समाज में घट रही घटनाओं …

विष्णु प्रभाकर सम्मान समारोह में डॉ.वर्तिका नंदा ने कहा – समाज में हर चुप्पी को तोड़ना होगा

नई दिल्ली : सुप्रसिद्ध साहित्यकार विष्णु प्रभाकर के 104 वें जन्म दिन के अवसर पर गांधी हिन्दुस्तानी साहित्य सभा, विष्णु प्रभाकर प्रतिष्ठान, नई दिल्ली और राष्ट्रीय मासिक अनिल संदेश की ओर से​निधि सभागार में आयोजित समारोह में जानी मानी मीडिया विशेषज्ञ डॉ वर्तिका नंदा ने कहा कि आज समाज में हर चुप्पी को तोड़ना होगा। प्रतिरोध की ताकत विकसित करनी होगी। यह हमारे समक्ष सबसे बड़ी चुनौती है। समारोह में बिहार के पत्रकार रविशंकर रवि को विष्णु प्रभाकर पत्रकारिता सम्मान, अयोध्या की बिन्दु पाण्ये ‘विजेता’ को विष्णु प्रभाकर शिक्षा सम्मान, जिन्द की डॅा सुधा मल्होत्रा को विष्णु प्रभाकर साहित्य सम्मान के अलावा फरीदाबाद की रंजना, विशिदा की सार्वजनिक भोजनालय समिति को विष्णु प्रभाकर समाज सेवा सम्मान से सम्मानित किया गया।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल क्या इन पांच सवालों के जवाब देंगे!

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पांच सवाल ऐसे हैं, जो अनेक लोगों के मन में आजकल गूंज रहे हैं। क्या अरविंद केजरीवाल इन वांच सवालों का जवाब दे सकते हैं? अरविंद केजरीवाल के पास इन सवालों का क्या जवाब है-  

पत्नी लिपिका मित्रा के आरोपों पर भारती ने मीडिया से निजता का वास्ता दिया, ट्विटर पर ट्रेंड में

सोमनाथ भारती ने ट्विटर पर लिखा है, ‘मैं पार्टी के काम के सिलसिले में केरल में हूँ। मैं बहुत आहत हूँ कि मेरी पत्नी ने घरेलू मामले को सार्वजनिक कर दिया है। घरेलू हिंसा के अगर आरोप लगे हैं तो ये बेबुनियाद हैं। मैं अपनी पत्नी और बच्चों से प्यार करता हूँ। मैं मीडिया से अपील करता हूँ कि मेरी निजता का सम्मान करें।” भारती की खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई पड़ी है। शाम चार बजे जैसे ही उनकी पत्नी लिपिका मित्रा महिला आयोग पहुंचीं और भारती पर मारपीट के आरोप की खबर उड़ी, वैसे ही ट्विटर पर सोमनाथ भारती ट्रेंड में आ गए। महज 30 मिनट में हजारों टवीट्स हो गए। ट्रेंड तीसरे पायदान पर पहुंच गया।

लिपिका मित्रा और सोमनाथ भारती

दिल्ली के कानून मंत्री की गिरफ्तारी से कानून खुद के शिकंजे में

परिपक्व संविधान मजबूत लोकतंत्र और युवा भारत दुनिया में भारत की फिलहाल यह भी एक मजबूत पहचान है लेकिन कानून के उपयोग और व्याख्या को लेकर अक्सर जो माजरा खड़ा होता है उससे एक अजीब से राजनीतिक मकसद की बू आती है जिसे लेकर कहीं न कहीं लोकतंत्र पर ही सवाल और कानून खुद-ब-खुद शिकंजे में दिखाई देने लगता है। कई बार ऐसा लगता है कि जंग कार्यपालिका और न्यायपालिका के बीच है तो कई बार यह जंग विधायिका और न्यायपालिका के बीच दिखती है। मजबूत लोकतंत्र और दुनिया में अपना डंका बजाने के लिए बेताब भारत के लिए यह हितकर नहीं कहा जाएगा। 

जाली डिग्री मामले में दिल्ली के कानून मंत्री जितेंद्र तोमर गिरफ्तार, शाम को साकेत कोर्ट में पेश

सोमवार की रात फर्जी डिग्री मामले में दिल्ली सरकार के कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर के खिलाफ धोखाधड़ी, आपराधिक षड्यंत्र समेत आईपीसी की कई धाराओं में रिपोर्ट दर्ज करने बाद मंगलवार सुबह गिरफ्तार कर लिया। उऩ्हें हौज खास थाने ले जाने के बाद वसंत विहार थाने भेज दिया गया। पुलिस ने शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि उसकी जांच में तोमर की दोनों डिग्रियां फर्जी निकली हैं। गिरफ्तारी के बाद पुलिस उन्हें एम्स में मेडिकल टेस्ट के लिए लेकर गई। अभी तोमर को पुलिस साकेत कोर्ट में पेशी के लिए लेकर पहुंची। उधर, लखनऊ में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि दिल्ली के कानून मंत्री की गिरफ्तारी में गृह मंत्रालय का कोई हाथ नहीं है। गृह मंत्रालय किसी की गिरफ्तारी का आदेश नहीं देता।

‘न्यूज नेशन’ की उगाही कथा (7) : दिल्ली-एनसीआर के डाक्टर्स, डयग्नोस्टिक सेंटर्स संगठन एकजुट, आपात बैठक

Padampati Sharma : स्टिंग के नाम पर हिला देने वाले उगाही प्रकरण में दिल्ली एनसीआर के सभी डाक्टर्स और जांच केंद्रों से जुड़े समस्त संगठन लामबंद हो गए हैं. पता चला है कि इनके पदाधिकारियों की आपात बैठक बुलायी गयी है, जिसमें मुख्य एजेंडा उगाही का चेक लेते हुए रंगे हाथ पकड़ी गयी OXXY कंपनी की कर्मचारी शीतल कपूर और कंपनी के खिलाफ दिल्ली क्राइम ब्रांच की जांच की प्रगति और इसमें आगे की काररवाई रहेगा. 

शीतल कपूर