भीख मांग के खा लेना परन्तु दैनिक जागरण की एजेंसी मत लेना!

दैनिक जागरण भागलपुर के यूनिट हेड राजाराम तिवारी की कारस्तानी

Sir mera name pratik kumar hai. mai pahle purnea ka dainik jaagran ke shree ganeshaya agency ka agent hua karta tha. mere saath kuch aise ghatna hui thi ki maine sabko bolne ki kosis ki lekin kisi ne mere nahi suni.

maine sabko bhagalpur me mail bhi kiya jiska na to aajtak reply aaya na koi call ki han aapke saath galat hua hai.

isliye aaj maine apne facebook acount ke jariye maine apna dard Share kiya jiske baad mujhe kuch logo ne sampark kiya aur mujhe aapka number mila ki yahi aapki sun sakte hai…

Sir mujhe dainik jaagran se koi dikat nahi hai bas eske ek insaan rajaram tiwari sir ne mere life ka pura ka pura aim hi khtam kar diya. jiske karan aaj bhi mai kitne problem ko face kar raha hu. Sir se bas yahi request hai ki mera paisa please return kara diya jaye.

maine facebook par yah article post kiya hai-

विश्वास और विश्वासघात के बीच बहुत छोटा सा अंतर होता है। ये मुझे तब पता चला जब मैंने श्री गणेशया एजेंसी, दैनिक जागरण की शुरुआत पूर्णिया में की। इस एजेंसी को शुरू करने में मैंने अपनी सारी जमा पूंजी लगा दी। यहाँ से मुझे पता चला, कैसे किसी के भोलेपन का लोग फ़ायदा उठाते हैं। आज मैं इस सोशल मीडिया के माध्यम से एक संत रूपी चोर का पर्दाफाश करूँगा। आज मेरे लिखने के बाद हो सकता है कि और भी इसके सताए हुए लोग सामने आएं। लोग इस आदमी को पहचान लें जिसने पता नहीं कितने परिवार को बर्बाद कर दिया। इस आदमी का नाम राजाराम तिवारी है। ये दैनिक जागरण भागलपुर के यूनिट हेड हैं।

इसको सबसे पैर छू कर प्रणाम करवाने में बड़ा आनंद मिलता है परन्तु ये एक नंबर का बेइमान इंसान है। इन्होंने बहुत सारे भोलेभाले लोगों को बर्बाद करने का काम किया है। इसको कभी मरने के बाद मुक्ति नहीं मिलेगी। इसने मेरी एजेंसी का नाम इस्तेमाल करके Araria स्टेशन से काफी पैसा कमाया और उसके बाद मेरा सारा कैश खा गया और मार्किट का उधार व बिल मेरे नाम कर गया। फिर मेरा एजेंसी बंद करके मेरा सिक्योरिटी से Araria का पैसा एडजस्ट करवा दिया। उसके बाद मेरा फ़ोन व्हाट्सप्प और फेसबुक ब्लॉक करके मेरे विश्वास की वाट लगा दी।

फिर बोलता है कि तुम्हारा पैसा डूब गया और ये तुमको भरना होगा। मैं ऐसा इंसान था जो इस कमीने की बात में आकर एजेंसी पेपर में sign भी कर दिया था कि चलो बड़ा अधिकारी है, ये झूठ कैसे बोल सकता है। ये हुआ मेरे साथ विश्वाघात। मैं आज इस माध्यम से आप सभी लोगों को बताना चाहता हूँ कि आप लोग भीख मांग के खा लेना परन्तु दैनिक जागरण की एजेंसी मत लेना क्योंकि राजाराम तिवारी जैसे लोग आप लोगों की जमा पूंजी खा जायेंगे और आप की भीख मांगने की नौबत आ जाएगी।

जब तक मैंने एजेंसी चलायी, ये मुझे लगातार 4000-5000 कॉपी रोज़ाना रद्दी करवाता रहा और नुकसान करवाता रहा। मैं बार बार भागलपुर गया तो कहता था कि हम ठीक कर देंगे, लेकिन ये कभी ठीक नहीं हुआ। इसको भागलपुर और पूर्णिया में रद्दी करवाने में महारत हासिल है। पहले तो ये रद्दी करवाता है फिर केस मुकदमा और पुलिस का डर दिखा कर पैसा वसूली करता है। आज कोसी में जागरण की इस ख़राब हालत का पूरा श्रेय राजाराम तिवारी को जाता है। इसने एजेंटों को बर्बाद कर दिया है।

मैं दैनिक जागरण मैनेजमेंट के सभी ईमानदार अधिकारिओं से अनुरोध करता हूँ कि राजाराम तिवारी तो तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाये और एक स्वतंत्र जांच किया जाये। अगर आप पापी का साथ देंगे तो आप भी पाप में भागीदार होंगे। ये फ्रॉड आदमी है जो दैनिक जागरण के लिए खतरनाक है। ये फ्रॉड आदमी इंसान तो बन नहीं पाया परन्तु अपने को भगवान से काम नहीं समझता है। अब मैं इस अत्याचार को बर्दाश्त नहीं कर सकता क्योकि मेरे पास खोने के लिए कुछ नहीं बचा।

राजाराम तिवारी कोई भी काम बिना कमीशन लिए नहीं करता है, हर काम का रेट फिक्स कर रखा है। कोई भी ईमानदार आदमी उस यूनिट में नहीं जा सकता, अगर गया तो उसकी इज़्ज़त भी लेता है और नौकरी भी। उसके कुकृत्य को सभी जानते हैं पर कोई भी आवाज़ नहीं उठाता क्योंकि शिव जी नाराज़ को गए तो तीसरी आँख खोल देंगे। मैं अपनी आपबीती की कॉपी इलेक्टॉनिक मीडिया के माध्यम से समय समय पे डालता रहूँगा ताकि और कोई भोला भला आदमी इसके चंगुल में नहीं फंसे और इसके खिलाफ कार्रवाई हो और मेरा पैसा जो इसने खाया है मुझे दिलवाया जाये।

अंतिम में ये कहना चाहता हूँ कि हो सकता है मेरे ये सब लिखे जाने के बाद ये मेरा या मेरे परिवार का नुकसान पहुंचाये क्योंकि ये गिरा हुआ आदमी है और किसी भी हद तक जा सकता है, इसलिए अगर मेरे और मेरे परिवार के साथ कुछ भी अहित होता है तो इसका पूरा ज़िम्मेदार राजाराम तिवारी होगा।

प्रतीक कुमार
भागलपुर
मोबाइल 86760 02226

'शाश्वत' संगीत!

'शाश्वत' संगीत!

Posted by Bhadas4media on Thursday, September 5, 2019
कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “भीख मांग के खा लेना परन्तु दैनिक जागरण की एजेंसी मत लेना!

  • Ashutosh mishra says:

    अरे भाई किस्से उम्मीद लगाए बैठे हो ,ऊपर से नीचे तक बईमानों की जमात है दैनिक जागरण में किसी से कोई उम्मीद न लगाओ जो तुम्हे बर्बाद करे उसे अपने बलबूते पे ही समाप्त करो ।

    Reply
  • भाई साहब दैनिक जागरण में ये अकेले चोर नहीं है पूरी चोरों की बारात है , एजंसी तो दूर की बात है अपने पी. एस. एम् के छोटे मुलाजिमों. की लोन खड़े क्र उनकी सैलरी भी डकार जातें है | यह हाल अकेले भागलपुर का नहीं पंजाब में भी दैनिक जागरण बंद होने के कगार पर है |इन से रहम की उम्मीद न रखें अब ये लोग कमीनेपन की सभी हदें पार कर चुके हैं |

    Reply
  • Are bhai Pata chala hai ki Dainik Jagran , Bhagalpur men me ek koi Lalit Mishra hain jo Raja Ram ke isara par darjono agent par FIR kar chuka hain aur char panch agent ko jail bhi bhej chuka hain. Kiya Dainik Jagran me HR aur Circulation ek department hain.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *