छत्तीसगढ़ के मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने पत्रकार से की बदतमीजी

सत्ता के मद में चूर मंत्री जयसिंह की नहीं थम रही बदजुबानी…. गांधी जयंति के बाद अब छठ के सवाल पर की पत्रकार से बदसलूकी…. पत्रकार ने भी दिया करारा जवाब…

कोरबा। तुम लोग मेरे पास मत आना…. ये दलाली छोड़ दो और जो करना है कर लो ….. अपने सेठ को बता देना…..मेरा कोई कुछ नहीं कर पाएगा…. समय बदलेगा …. सबको देख लूँगा….. यह कहना है छत्तीसगढ़ के राजस्व मंत्री का। राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल एक बार फिर सुर्खियों में हैं… मंत्री जी इस बार छठ को लेकर बाइट देने के मामले पर पत्रकार से भिड़ गए।

छठ महापर्व पर अर्घ्य देने के वक्त कोरबा के पुरानी बस्ती घाट में मंत्री जयसिंह अग्रवाल पहुंचे हुए थे। यहां उनसे एक क्षेत्रीय चैनल के पत्रकार ने उनसे छठ के संबंध में बाइट देने का आग्रह किया। इससे पहले युवा पत्रकार का कैमरा रेडी होता, मंत्री अपने स्वभाव के मुताबिक भड़क उठे और पत्रकार को भला-बुरा कहने लगे।

पत्रकार भी ऐसे में कहां चुप बैठने वाला था। उसने मंत्री को उन्हीं के अंदाज में जवाब दे दिया। इसके बाद मंत्री दुबारा न मिलने की बात कहते चलते बने। मंत्री के रवैय्ये को लेकर कोरबा के पत्रकारों में खासी नाराज़गी देखी जा रही है। प्रेस क्लब के पदाधिकारियों ने भी मंत्री के आचरण की निंदा की है। इसी मसले पर कोरबा प्रेस क्लब ने एक बैठक आयोजित कर मंत्री की निंदा की।

साल 2018 में बैलगाड़ी से विधानसभा जाने के दौरान भी रायपुर के स्थानीय कैमरापर्सन के साथ मंत्री ने बदसलूकी की थी। इसके बाद रायपुर समेत प्रदेश की मीडिया ने तत्कालीन विधायक जयसिंह अग्रवाल के आचरण की निंदा की थी।

तीन पत्रकारों और दो इंस्पेक्टरों को निपटाने वाले आईपीएस की कहानी

तीन पत्रकारों और दो इंस्पेक्टरों को निपटाने वाले आईपीएस की कहानी…. नोएडा के एसएसपी वैभव कृष्ण बेहद इमानदार पुलिस अफसरों में गिने जाते हैं. उन्होंने तीन पत्रकारों और दो इंस्पेक्टरों को एक उगाही केस में रंगे हाथ पकड़ कर एक मिसाल कायम किया है. सुनिए वैभव कृष्ण की कहानी और उगाही में फंसे पत्रकारों-इंस्पेक्टरों के मामले का विवरण.

Bhadas4media ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಬುಧವಾರ, ಜನವರಿ 30, 2019
कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *