पूर्व आईजी समेत कई लोग यूपी प्रेस क्लब से प्रेस कांफ्रेंस करते गिरफ्तार कर लिए गए!

Utkarsh Sinha : यूपी प्रेस क्लब में दलितों पर अत्याचार के खिलाफ प्रेस वार्ता कर रहे पूर्व आईजी दारापुरी सहित प्रो. रमेश दीक्षित, भाई राम कुमार और भाई आशीष अवस्थी सहित 9 लोगों को लखनऊ पुलिस ने महज इसलिए गिरफ्तार कर लिया है क्यूंकि उसे उम्मीद है कि ये लोग मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन कर सकते हैं…

गजब का सुराज है भाई? लोकतंत्र में विरोध प्रदर्शन कब से गुनाह हो गया… इसका नोटिफिकेशन तो कर देते… इमरजेंसी याद है न? तानाशाही का डरा हुआ रूप है ये कृत्य.. खुद के कमजोर होने के फ्रस्ट्रेशन का मेनिफेस्टेशन… हालांकि बाद में प्रेस क्लब से जो बुद्धिजीवी गिरफ्तार कर लिए गए थे, वे सभी रिहा कर दिए गए.

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार उत्कर्ष सिन्हा की एफबी वॉल से.

शम्भूनाथ शुक्ला : श्री S.r. Darapuri जी से बात हुई है। उन्हें रिहा कर दिया गया। अच्छा लगा। मुख्यमंत्री जी अपनी नौकरशाही की सलाह पर न चलें तो बेहतर है। दारापुरी जी अभिव्यक्ति की आज़ादी के पुरोधा हैं। ऐसे लोगों के लिखने, पढ़ने और बोलने पर अंकुश लगाना उचित नहीं है।

दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार शंभूनाथ शुक्ला की एफबी वॉल से.

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर सब्सक्राइब करें-
  • भड़ास तक अपनी बात पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *