साक्षी टीवी हुआ ब्लाक, डीडी किसान में फंड क्राइसिस

टीवी की दुनिया से दो बड़ी खबरें हैं. एक है आंध्र प्रदेश से. यहां आंध्र सरकार ने साक्षी टीवी चैनल को ब्लॉक कर दिया है. इससे नाराज पत्रकार सड़कों पर उतर आए और राजभवन तक रैली निकाली. दरअसल एक आंदोलन की कवरेज से आंध्र प्रदेश सरकार ने नाराज होकर साक्षी न्यूज चैनल को ब्लॉक करने के लिए सभी ऑपरेटरों का आदेश दे दिया. पूर्व मंत्री और कापू समुदाय की नेता मुद्रगडा पद्मनाभन आरक्षण लागू करने की मांग को लेकर बेमियादी हड़ताल पर हैं, जिसे न्यूज चैनलों ने प्रसारित किया. इसके बाद ही साक्षी न्यूज चैनल ब्लॉक कर दिया गया.

मोदी सरकार ने जिस खेती-किसानी वाले चैनल डीडी किसान को जोरशोर से लांच किया, वह आजकल सेलरी संकट के दौर से गुजर रहा है. मोदी के ड्रीम प्रॉजेक्ट माने जाने वाले ‘डीडी किसान’ चैनल की हालत बदतर होती जा रही है. यह चैनल भयंकर आर्थिक संकट से जूझ रहा है. चैनल में कई ऐसे लोग रखे गए जिन्हें काम का अनुभव नहीं है. इससे खेती और ग्रामीण विकास से संबंधित कार्यक्रम नहीं बन पा रहे. कार्यक्रमों की कमी के चलते पुराने कार्यक्रम रिपीट किए जा रहे हैं. कार्यक्रम बनाने वालों को तीन महीने बाद भी दूरदर्शन के अधिकारियों की अनदेखी के कारण भुगतान नहीं मिलता.

भड़ास के पास आई एक चिट्ठी के मुताबिक डीडी किसान में कई लोग कई महीनों से परेशान हैं. यहां कांट्रैक्ट पर नौकरी करने वालों को सेलरी समय से नहीं मिलती है. पता चला है कि आज भी वहां के contractual स्टाफ की मई महीने की सेलरी नहीं आई. डीडी किसान में पिछले महीने भी contractual staff की सैलरी 12 तारीख आयी थी. इस महीने में अभी तक सैलरी नहीं आई है. वहां के स्थाई कर्मचारियों को हर महीने 1 तारीख को सैलरी मिल जाती है.

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Comments on “साक्षी टीवी हुआ ब्लाक, डीडी किसान में फंड क्राइसिस

  • santoshjain says:

    is chenal me anari logo ki or bjp samarthko ki bhid hai,ma 25 saalo se doordarsan ke liye prograame bana raha hu.is chenal me bhi 6 pilot jama kiye magar inke anadipan or ant sant demand ke chalte mera ek bhi prograame clear nahi huwa,yaha tak ki khbro ka prograame jo ek matr maine inki hi nishchit dar par jama kiya use bhi ye kahkar ki itni kam dar me kaise banaoge in modi bhaqto ne reject kar diya,inka ye hasra to hona hi tha,kamane walo ne zarur ghar bhar liya hai,

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *