यूपी STF के हत्थे चढ़ा घोटालेबाज चैनल मालिक, पढ़िए इसकी पूरी कुंडली

पशुपालन घोटाले में ये भी था आरोपी, एक्सप्रेस टीवी नाम से लांच किया था चैनल

लखनऊ से खबर आ रही है कि पशुपालन घोटाले में एक और पत्रकार को गिरफ्तार कर लिया गया है. यूपी एसटीएफ ने घोटाले में शामिल जालसाज पत्रकार संतोष मिश्रा को अपने शिकंजे में ले लिया है. संतोष मिश्रा ने कुछ समय पहले नोएडा से एक्सप्रेस टीवी नाम से एक न्यूज चैनल लांच किया था जो कई किस्म के विवादों के चलते जल्द ही बंद हो गया था.

(अपनी पत्नी के साथ नोएडा में अपने चैनल के आफिस में पत्रकारों की बैठक लेता चैनल मालिक संतोष मिश्रा की एक पुरानी तस्वीर देखें)

संतोष मिश्रा कभी न्यूज़ चैनल का स्ट्रिंगर हुआ करता था. बाद में वह लायजनिंग और दलाली के जरिए अकूत संपत्ति इकट्ठा कर चैनल मालिक बनने की राह पर चल पड़ा. लेकिन उसने जिन पत्रकारों को भर्ती किया था, उन्हीं ने उसके पैसे हड़प कर उसके सपने को पलीता लगा दिया.

ज्ञात हो कि पशुपालन घोटाले में पत्रकार अनिल राय, आशीष राय पहले से ही गिरफ्तार हैं और जेल की हवा खा रहे हैं. उस समय भी संतोष मिश्रा का नाम आया था लेकिन इसने खुद एक बयान जारी कर अपने को पाक साफ बताया था. बताया जाता है कि इन कई दलाल पत्रकारों ने पशुपालन विभाग के करोड़ों के टेंडर में घपलेबाजी में बड़ी भूमिका निभाई थी.

यूपी एसटीएफ ने एक प्रेस रिलीज जारी कर संतोष मिश्रा की पूरी कुंडली जारी कर दी है. आप भी पढ़ें-

संबंधित खबरें-

लांच से पहले ही बंद हुए ‘एक्सप्रेस टीवी’ के कर्मियों को अब भी सेलरी का इंतजार!

मैनेजिंग एडिटर रहे इस टीवी पत्रकार को एसटीएफ उठाकर ले गई!

Stf ने जारी की प्रेस रिलीज और तस्वीर, अनिल राय गिरफ्तार

ठगी रैकेट में एक आईपीएस अधिकारी और एक न्यूज चैनल का सीएमडी भी शामिल!

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

One comment on “यूपी STF के हत्थे चढ़ा घोटालेबाज चैनल मालिक, पढ़िए इसकी पूरी कुंडली”

  • Abhishek Singh says:

    लाँच?? अरे यशवंत भाई..ये इंसाफ़ महाफ्राड है…सुना था कि एक बाबा को उल्लू बनाकर ये पैसा ले आया। फिर एक अधकचरे कैमरामैन उसकी रखैल को इसने चैनल खोलने के लिए बोला। वो भी फ्राड का बाप निकला। उसने इस फ्राड का पैसा मार लिया। फिर एक बीजेपी कवर करने वाले पत्रकार साहब के साथ मिलकर इसने एक फ़र्ज़ी योजना बनाई। 2 लाख का एक ऑफिस किराये पर लिया और बाहर एक्सप्रैस टीवी का बोर्ड लगवा दिया। कई लोगों ने बीजेपी कवर करने वाले पत्रकार साहब के धोखे में चैनल को ज्याइन कर लिया जिसमें हम भी शामिल थे। पहले महीने से ही सैलरी आना बंद हो गयी। 3 महीने के बाद तो तथाकथित चैनल की बंद हो गया। जिसने किराये पर ऑफिस दिया था उसको ब्लैकमेल करके 2 लाख रुपया भी ले लिया इस फ्राड ने। बाद में पता चला कि न तो कंपनी है और न ही लाइसेंस …ये उस बिल्डिंग और ज्याइन किए हुए कर्मचारियों की फ़ोटो को यूपी के कुछ नेताओं को दिखा कर ख़ुद को चैनल मालिक बताने लगा। यूपी भर के स्ट्रिंगरों को सपने बेचने लगा…और नेताओं की दलाली शुरु कर दी। आज भी इसके फ़ेसबुक प्रोफ़ाइल में ख़ुद को एक्स्प्रैस टीवी का सीएमडी बताता है ये फ़र्ज़ी।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *