तनु शर्मा के परिजनों को भी परेशान करने लगा इंडिया टीवी प्रबंधन

DCW Notice to Amit K Tripathi

इंडिया टीवी की एंकर रहीं तनु शर्मा के मामले में अपनी गर्दन बचाने के लिए आरोपियों ने चाल चलनी शुरू कर दीं है। तनु की तहरीर पर इंडिया टीवी की अनीता शर्मा और एमएन प्रसाद पर उसको प्रताड़ित करने, धमकाने और आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने के आरोप में मामला दर्ज हुआ था। अब तनु पर दवाब बनाने के लिए उसके परिजनों को निशाना बनाया जा रहा है। अनीता शर्मा ने तनु के ब्रदर-इन-लॉ अमित कुमार त्रिपाठी के खिलाफ दिल्ली महिला आयोग में शिकायत की है। अमित का कहना है कि ये सब पीड़िता तनु को परेशान करने तथा उसके मनोबल को तोड़ने के लिए किया जा रहा है। इंडिया टीवी प्रबंधन तनु को नौकरी से निकाल उसके खिलाफ एफआईआर तो पहले ही दर्ज करा चुका है अब आरोपियों के द्वारा उसके परिजनो को लपेटा जा रहा है।

दिल्ली महिला आयोग द्वारा शिकायत पर कार्यवाही करते हुए अमित को नोटिस भेजा गया। नोटिस में आयोग ने शिकायत का कोई हवाला नहीं दिया लेकिन 08 जुलाई को अमित को पेश होने के लिए कहा गया। उन्हें आश्चर्य इस बात का हुआ कि आयोग को उनके ऑफिस के बारे में जानकारी कहां से मिली क्योंकि नोटिस उनके ऑफिस के पते पर भेजा गया है। लिंक्ड-इन वेबसाइट से पता चला कि अनीता शर्मा ने अमित की प्रोफाइल को विज़िट किया था और वहीं से सारी जानकारी जुटाई और अपना गेम प्लान तैयार किया। अमित कहते है कि ऑफिस के पते पर नोटिस भिजवा कर उनके सहकर्मियों के बीच उनको बदनाम करने का प्रयास किया गया है।



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “तनु शर्मा के परिजनों को भी परेशान करने लगा इंडिया टीवी प्रबंधन

  • Anshul Tiwari says:

    बड़ा दयनीय स्थिति है। वैसे अब कहाँ गये वो लोग जो फाइट फॉर तनु शर्मा और जस्टिस मांग रहे थे तनु जी के लिए। माना कि सबको अपना परिवार पालना है लेकिन क्या जमीर बेच दिया है। मीडिया इंडस्ट्री में आधी आबादी महिलाओं की भी है पर वो भी संगठित नही हुई। सबको अपनी नौकरी बचानी है।

    Reply
  • anuj tiwari says:

    haqikat lagta hai paise walon k liye aam aadmi ki koi value nahin aur kanoon ko bhi ye log mulkar apne liye sahi karwa lete hain. gareeb ko kai tarah se dabaya jata hai.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code