ग्रामीणों के दर्द को तुम क्या जानो मोदी बाबू (देखें वीडियो)

हाथरस : पांच सौ तथा एक हज़ार रुपये के नोट बंद करने के मोदी सरकार के फैसले से यूपी के हाथरस जिले में ग्रामीणों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीण अपने पुराने नोट बदलने के लिए और उन्हें जमा करने के लिए छः-सात किलोमीटर चलकर बैंकों पर आ रहे है जहां पहले से ही लंबी लाइनें लगी है। इन लाइनों में धक्का मुक्की के बाद भी ग्रामीणों को अपने नोट बदलने तथा जमा करने में सफलता नहीं मिल पा रही है।

हाथरस का अहवरंपुर गांव यूँ तो आदर्श गांव है। बीजेपी के क्षेत्रीय सांसद राजेश दिवाकर ने इसे गोद लिया हुआ है पर गांव में न तो कोई बैंक है न एटीएम और न डाकघर इसलिए इस गांव के ग्रामीणों को भी अपने नोट जमा करने और बदलने के लिए छः-सात किलोमीटर दूर शहर को ही जाना पड़ता है। अलबत्ता ग्रामीणों की इस परेशानी को कुछ लोग भुनाने में भी लग गए है। ये लोग जरूरतमंद ग्रामीणों को पुराने एक हज़ार के नोट के बदले में 700 रुपया देते हैं। गांव के लोग ही यह बात बता रहे हैं। वह तो यह भी बताते हैं कि ये लोग बड़े तथा पैसे वाले लोग हैं और मज़बूरी में उन्हें ऐसा करना पड़ रहा है।

ग्रामीणों का दर्द सुनने जानने के लिए नीचे दिए गए वीडियो लिंक्स पर क्लिक करें :

https://youtu.be/827H0edO4rE

https://youtu.be/tAXxURcXvhE

https://youtu.be/KbXk8TXnnPk

https://youtu.be/8CqVIAVtOvA

https://youtu.be/TeXPnPS8fH4

https://youtu.be/fZLBdLOJ960

https://youtu.be/bvLvq5GcbZs

https://youtu.be/EOo3IyWXo3k

हाथरस से विनय ओसवाल की रिपोर्ट. संपर्क : 9837061661

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *