किसानों के दुख-दर्द को तुम क्या जानो मोदी बाबू (देखें वीडियो)

पांच सौ तथा एक हज़ार रूपये के नोट बंद करने के सरकार के फैसले से देश का अन्नदाता किसान परेशान है। हाथरस जिले में भी किसानों को अपनी गेहूं-आलू-जौ आदि की फसलों की बुवाई के लिए बीज तथा खाद का इंतजाम करने में मुश्किल हालातों का सामना करना पड़ रहा है। किसानों का कहना है कि फसलों की बुवाई के लिए बीज तथा खाद के लिए उनके पास पैसा नहीं है। पुराने नोटों से उन्हें बाजार में सामान नहीं मिल रहा है। ऐसे में फसलों की बुवाई पंद्रह से बीस दिन लेट हो गयी है। किसानों का ऐसे में कैसे काम चलेगा, अब तो यह भी उनकी समझ में नहीं आ रहा है।

ग्रामीणों के दर्द को तुम क्या जानो मोदी बाबू (देखें वीडियो)

हाथरस : पांच सौ तथा एक हज़ार रुपये के नोट बंद करने के मोदी सरकार के फैसले से यूपी के हाथरस जिले में ग्रामीणों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीण अपने पुराने नोट बदलने के लिए और उन्हें जमा करने के लिए छः-सात किलोमीटर चलकर बैंकों पर आ रहे है जहां पहले से ही लंबी लाइनें लगी है। इन लाइनों में धक्का मुक्की के बाद भी ग्रामीणों को अपने नोट बदलने तथा जमा करने में सफलता नहीं मिल पा रही है।

उ.प्र. सपा के किले में दरार : टीपू से टीपू सुल्तान बनने के अखिलेश के मंसूबों पर फिर गया पानी

अलग-अलग चाहर दिवारियों से समय-समय पर झर-झर के बाहर आये बयान जिन्हें पाठकों की सुविधा के लिए, सिलसिलेवार नीचे परोसा गया हैं, तो यही संकेत दे रहे हैं कि “टीपू“ से “टीपू सुलतान“ बनने के अखिलेश (घर परिवार में टीपू) के मंसूबों पर पूरी तरह पानी फिर गया है।

लग ही नहीं रहा वरुण गांधी भाजपा के नेता हैं, उनका भाषण तो बहुत ही क्रांतिकारी है (देखें वीडियो)

बीजेपी के नेता और सांसद वरुण गाँधी का कहना है कि आज देश में दो तरह का हिंदुस्तान बसता है। एक किस्म का हिंदुस्तान जो लाखों करोड़ रूपये का लोन ले रहा है और गरीबों का खून चूसकर चोरी करके तथा कुछ लोगों से सैटिंग करके विदेश भाग जाता है। दूसरा वह हिंदुस्तान है जहां आम आदमी के बेटे को उतने पैसे हाथ नही लग रहे कि वह अपने सपने साकार कर सके।

मोदी की महत्वाकांक्षी ‘ग्राम ज्योति योजना’ के लिए मिले धन का जमकर हो रहा बंदरबांट!

ग्राम ज्योति योजना पर केंद्र और उप्र सरकारें आमने सामने : दिल्ली से मात्र तीन घंटे की दूरी पर स्थित हाथरस के गाँव फ़तेला में 70 साल बाद पहली बार बिजली पहुंची। लालकिले की प्राचीर से प्रधानमन्त्री की इस घोषणा के तत्काल बाद उठा विवाद अभी थमने का नाम नही ले रहा। आज स्थिति ये है कि केंद्र और उ0प्र0 सरकारे अपनी अपनी नौकरशाही के साथ आरोपों की तोपें ताने आमने सामने खड़ी नजर आरही हैं। उ0प्र0 में आसन्न चुनावों के मद्देनजर दोनों ही सरकारों की समर्थक राजनैतिक पार्टियां भी अपनी अपनी सरकारों के समर्थन में लामबंद होने की तैयारियां कर रही हैं। प्रधानमन्त्री की उक्त घोषणा के तत्काल बाद डीवीवीएनएल (दक्षिणांचल विद्युत् वितरण निगम लि0) के महाप्रबन्धक, आगरा की यह टिप्पणी, कि गाँव फ़तेला तो पिछले 30 सालों से रोशन है, प्रधानमन्त्री की साख पर एक काले धब्बे की तरह चिपक गयी है।

लाल किले से मोदी ने झूठ बोला! सच्चाई सुनिए पत्रकार विनय ओसवाल से

सरकार जनता से कैसे दूर हो जाती है और शासकों को अधिकारी योजनाओं की सफलता के मामले में कैसे गुमराह कर देते है, इसकी बानगी आज स्वतंत्रता दिवस पर पीएम नरेंद्र मोदी के ‘राष्ट्र के नाम संबोधन’ के बाद देखने को मिली। दरअसल पीएम ने अपने भाषण में यूपी के हाथरस जिले के गांव नगला फतेला का जिक्र किया। कहा कि दिल्ली से महज तीन घंटे की दूरी के इस गांव में बिजली आने में 70 साल लग गए। लेकिन यह हकीकत नही है। सच्चाई यह है कि इस गांव में बिजली की लाइन तो खिंच गयी है लेकिन एक साल से इस लाइन में करंट नही आया है।

भारत में हिंसक हमलों, झूठे मुकदमों और हत्याओं से भयातुर हैं पत्रकार

विनय ओसवाल
स्वतंत्र पत्रकार

वर्ष 2014 का मई महीना अगर हिन्दुस्तान की राजनीति के इतिहास में इसलिए सदैव याद किया जायेगा कि एक समय संसद में मात्र दो सदस्यों वाली पार्टी बीजेपी के एक मात्र स्टार प्रचारक मोदी ने अपने दमखम पर पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाने की हैसियत तक पहुंचा  दिया  तो उसके ठीक दो वर्ष बाद 2016 का यही मई  महीना पत्रकारिता के इतिहास में सबसे काले अध्याय के रूप में दर्ज हो गया है । मई महीने की 12 तारीख को झारखंड के छत्रा जिले के एक स्थानीय न्यूज चैनेल , ‘ताजा टीवी’ के अखिलेश प्रताप  हमलावरों के हाथों मारे गए । दूसरे ही दिन यानि 13 मई को बिहार के सीवान में हिन्दुस्तान हिंदी दैनिक के ब्यूरो प्रमुख राजदेव रंजन को सरे बाजार गोलियां मारी गयी और उन्हें भी मौके पर ही अपनी जान से हाथ धोना पड़ा ।मात्र चौबीस घंटे में दो पत्रकारों को मौत की नींद सुला दिया गया।

हाथरस में सट्टे के तार जुड़े हैं मुंबई के सट्टा किंग से!

विनय ओसवाल, स्वतंत्र पत्रकार

प्रदेश में राजनैतिक / प्रशासनिक  संरक्षण में चल रहे बाहुबलियों और अपराधियों के गिरोहों की हँड़िया का हाल बताने वाली एक सत्य घटना  :  सट्टा सरगना गिरफ्तार, उ0प्र0 के मंत्री ने बनाया दबाव : हाईटेक सट्टा कंपनी के सरगना को क्राइम ब्रांच ने मुम्बई से गिरफ्तार किया है। उसकी गिरफ्तारी पर उ0प्र0 के एक मंत्री ने पुलिस पर दबाव बनाया। क्राइम ब्रांच के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपी संजय चौरसिया है । उसे सेन्ट्रल वेस्ट मुम्बई स्थित ऑफिस से गिरफ्तार किया गया। वह — गेम किंग इंडिया और — किंग गेम , नाम से ऑनलाइन सट्टा कंपनी चलाता था

भड़ास पर खबर आने के बाद हाथरस के मीडियाकर्मियों में जबरदस्त हलचल

कल तक जो भयातुर थे, आज वो निर्भीक हैं। एसपी हाथरस अजय भईया का हाथ आज उनके सर पर और साथ जो है। आज उनकी समझ में यह बात गहरे पैंठ गयी है कि – राजकक्ष में हुआ अपमान और मिली प्रताड़नाएं अपमान नहीं होतीं। अब उन्हें यह बात कचोट रही है कि राजकक्ष में मिली प्रताड़नाओं और हुए अपमान को उन्होंने अपने साथियों के बीच साझा क्यों कीं? न साझा की होती न वो बातें वातावरण में अवतरित और सार्वजनिक होती।

हाथरस में एसपी भारी पड़ रहा है मीडिया पर (देखें वीडियो)

हाथरस जिले में इन दिनों टीवी न्यूज चैनलों और समाचार पत्रों के रिपोर्टर भयातुर हैं। पिछले तीन महीनों में उनके चैनलों न्यूज़ 24, ज़ी न्यूज़, वर्ल्ड न्यूज़ इंडिया, समाचार प्लस और एपीएन न्यूज़ के अधिकारियों व समाचार पत्रों के नगर संवाद के संपादकीय विभागों से फोन प्राप्त हुए है कि अपने एसपी से जाके मिलें। सांकेतिक भाषा में निहितार्थ छुपे हुए हैं।

मुसलमानों ने मस्जिद के अंदर योग करके प्रतिमान कायम किया (देखें वीडियो)

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर यूपी के हाथरस जिले के गांव अल्हैपुर चुरसैन के मुलमानों ने मस्जिद के अंदर योग करके उन लोगों को आइना दिखाया है जो ओम उच्चारण और सूर्य नमस्कार का बहाना बनाकर योग को धर्म से जोड़ने का काम कर रहे हैं। साथ ही यह संदेश भी दिया है कि योग से धर्म का कोई लेना देना नहीं है और भागदौड़ की जिंदगी में शरीर की हिफाजत के लिए योग की महत्वपूर्ण भूमिका है।