Connect with us

Hi, what are you looking for?

उत्तर प्रदेश

गौरी हत्याकांड : यूपी पुलिस पर गंभीर मानवाधिकार हनन का आरोप

सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने कल अपने पति अमिताभ ठाकुर के साथ गौरी हत्याकांड के कथित घटनास्थल पर अभियुक्त की बहन डॉली से बातचीत के आधार पर उत्तर प्रदेश मानवाधिकार आयोग और यूपी के डीजीपी को अभियुक्त के परिवार वालों के मानवाधिकार उल्लंघन के सम्बन्ध में शिकायत की है. डॉली ने इन्हें बताया था कि पुलिस गिरफ़्तारी की रात 12 बजे और फिर 4 बजे सुबह बिना महिला पुलिस के आई थी और उन लोगों ने डॉली सहित महिलाओं से अभद्रता की थी.

<p>सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने कल अपने पति अमिताभ ठाकुर के साथ गौरी हत्याकांड के कथित घटनास्थल पर अभियुक्त की बहन डॉली से बातचीत के आधार पर उत्तर प्रदेश मानवाधिकार आयोग और यूपी के डीजीपी को अभियुक्त के परिवार वालों के मानवाधिकार उल्लंघन के सम्बन्ध में शिकायत की है. डॉली ने इन्हें बताया था कि पुलिस गिरफ़्तारी की रात 12 बजे और फिर 4 बजे सुबह बिना महिला पुलिस के आई थी और उन लोगों ने डॉली सहित महिलाओं से अभद्रता की थी.</p>

सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने कल अपने पति अमिताभ ठाकुर के साथ गौरी हत्याकांड के कथित घटनास्थल पर अभियुक्त की बहन डॉली से बातचीत के आधार पर उत्तर प्रदेश मानवाधिकार आयोग और यूपी के डीजीपी को अभियुक्त के परिवार वालों के मानवाधिकार उल्लंघन के सम्बन्ध में शिकायत की है. डॉली ने इन्हें बताया था कि पुलिस गिरफ़्तारी की रात 12 बजे और फिर 4 बजे सुबह बिना महिला पुलिस के आई थी और उन लोगों ने डॉली सहित महिलाओं से अभद्रता की थी.

यही नहीं वे डॉली और उसकी माँ के एक-एक सूटकेस भी बिना लिखापढ़ी के अपने साथ ले गए जिसमे उनके कपडे और गहने थे. डॉली के अनुसार उनके पास पहनने लायक कपडे तक नहीं हैं और वह लोगों से मांग कर कपडे पहन रही है. इसके अलावा अभियुक्त का मकान भी पुलिस ने बिना कोर्ट के आदेश के पूरी तरह सीलबंद कर दिया है, जिससे उसके परिवार के लोग बाहर रहने को मजबूर हैं. डॉ ठाकुर ने इन्हें गंभीर मानवाधिकार उल्लंघन बताते हुए तत्काल इन्हें दूर कराये जाने की मांग की है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

Gauri murder- complaint about serious Human Right violation of accused family

After her visit, along with husband Amitabh Thakur, to alleged scene of crime of Gauri murder case, social activist Dr Nutan Thakur has registered a complaint before UP Human Rights Commission and DGP regarding serious human rights violation of accused’s family.

Advertisement. Scroll to continue reading.

Dolly told them that in the night of arrest, the police came to their house at 12 midnight and again at 4 in the morning without any lady constables and misbehaved with the women in the house. They also took away one suitcase each consisting of their clothes and jewellery, from Dolly and her mother, without presenting a seizure memo. As per Dolly, they do not have clothes to wear and are forced to borrow clothes from others. The police have also sealed the accused house without any legal authority forcing the entire family to seek shelter in others’ house. Calling them serious human rights violation, Dr Thakur has immediate sought appropriate action.

Advertisement. Scroll to continue reading.
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

भड़ास को मेल करें : [email protected]

भड़ास के वाट्सअप ग्रुप से जुड़ें- Bhadasi_Group_one

Advertisement

Latest 100 भड़ास

व्हाट्सअप पर भड़ास चैनल से जुड़ें : Bhadas_Channel

वाट्सअप के भड़ासी ग्रुप के सदस्य बनें- Bhadasi_Group

भड़ास की ताकत बनें, ऐसे करें भला- Donate

Advertisement