अलीबाबा के पत्रकार पुष्पेंद्र ने TV9 गुजराती का थामा हाथ

ख़बर है कि वरिष्ठ पत्रकार पुष्पेंद्र सिंह को TV9 Gujarati ने गुजरात में डिजीटल टीम को जीरो से खड़ा करने की बड़ी जिम्मेदारी दे दी है। TV9 गुजराती चैनल का गुजरात में एकतरफा राज रहा है। TRP की लड़ाई में 9-10 साल से TV9 गुजराती चैनल किंग बना हुआ है। लेकिन डिजीटल की दुनिया में उसकी जमीन कच्ची है। इसी कच्ची जमीन को मजबूती देने के लिए डिजीटल मीडिया की तकनीकी तौर पर बहुत गहरी समझ रखने वाले वरिष्ठ पत्रकार पुष्पेंद्र सिंह परमार को जिम्मेदारी दी गई है।

पुष्पेंद्र सिंह ने नवम्बर महीने में अहमदाबाद में गुजराती चैनल के हेडक्वार्टर में टीम को ज्वाइन भी कर लिया है। साल 2000 में आगरा से पत्रकारिता का करियर शुरु करने वाले पुष्पेंद्र सिंह की डिजीटल मीडिया में गहरी समझ की वजह से ही उनको गूगल ने 2018 में सम्मानित किया और Question Hub नाम से जल्द लांच होने वाले टूल को तैयार करने में उनकी मदद ली। Question Hub 14 दिसम्बर 2018 को पूरी दुनिया के इस्तेमाल के लिए लांच होने वाला है। गूगल जल्द ही एक कैंपेन शुरु कर रहा है जिसमें वो उन पत्रकारों को शामिल करेगा जो अभी भी Online Media से दूर रहते हैं। इन लोगों को पुष्पेंद्र सिंह जैसे लोगों का पैनल बताएगा कि क्यों और कैसे आप खुद आसानी से Online Media को अपनाकर अपने करियर को बेहतर बना सकते हैं।

पुष्पेंद्र सिंह इससे पहले अलीबाबा कंपनी ग्रुप की कंपनी UC Web के भारत में Associate Director भी थे, पुष्पेंद्र सिंह के नेतृत्व में ही 120 करोड़ के निवेश वाले UC News एप को भारत में लांच किया गया था। पुष्पेंद्र सिंह की पहल पर भी विनोद कापड़ी, अजीत अंजुम, राजीव मखनी, राजीव शुक्ला जैसे बड़े नामों के अलावा वरिष्ठ खेल पत्रकार शिवेंद्र कुमार सिंह, पूर्व दिग्गज क्रिकेट संदीप पाटिल और लालचंद राजपूत जैसे नामों ने UC News के प्लेटफॉर्म पर लिखना शुरु किया था।

हालांकि ये बात और है कि वो कंपनी में रहते हुए Whistle blower बन गए और अब इस चीनी कंपनी के खिलाफ देश की अलग अलग अदालतों में कानूनी लड़ाई लड़े हैं।

ख़बर ये भी है कि UC News के खिलाफ भारत सरकार ने जो भी एक्शन Nov 2017 के बाद लिए हैं वो पुष्पेंद्र सिंह की सरकार को दी गई रिपोर्ट के बाद ही लिए गए हैं। Online Media के लिए पर्याप्त कानून न होने का चीनी कंपनी UC News कैसे फायदा उठाकर देश को भारी नुकसान पहुंचा रही है, इसका खुलासा भी पुष्पेंद्र सिंह ने सबूतों के साथ सरकार को दिया था और अब खुद NSA Chief अजीत दोभाल इस मामले पर नज़र रखे हुए हैं। पुष्पेंद्र सिंह को रोकने के लिए UC News ने देश की सबसे बड़ी लॉ फर्म को हायर किया हुआ है।

इसके अलावा पुष्पेंद्र सिंह ज़ी न्यूज़, न्यूज़24, etv group में भी वरिष्ठ पदों पर पिछले 18 सालों में काम कर चुके हैं। मोदी सरकार के Mygov प्रॉजेक्ट ने भी इस प्रॉजेक्ट की शुरुआत में पुष्पेंद्र सिंह को Influencer List में रखा था।

पत्रकारों को डिजीटल मीडिया की बेहद जरूरी तकनीकी ट्रेनिंग भी पुष्पेंद्र सिंह हर महीने मुफ्त में देते हैं। वो IPPCI Media के जरीए महीने में दो बार फ्री वर्कशॉप दिल्ली में लगाते हैं।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *