अमिताभ ठाकुर के साथ अब जबरिया क्या होने वाला है? देखें तस्वीर

आईपीएस अमिताभ ठाकुर को पहले जबरिया रिटायर किया गया। फिर जबरिया जेल भेजा गया। अब उनके साथ जबरिया क्या होने वाला है?

ये सवाल खुद अमिताभ ठाकुर पूछ रहे हैं। उन्होंने अपने घर के बाहर लगी अपनी नाम पट्टिका को अपडेट किया है। पहले इसमें सिर्फ़ जबरिया रिटायर लिखा था। अब जबरिया जेल भी जोड़ दिया है। साथ ही अगली लाइन में जबरिया लिखकर क्वेश्चन मार्क लगाकर सरकार से पूछ लिया है कि नया इंतज़ाम क्या है।

उधर अमिताभ ठाकुर ने फ़ेसबुक पर एक विडियो के ज़रिए जेल में उत्पीड़न करप्शन को लेकर खुलासे किए हैं और इस बाबत पत्र भी लिखा है। मतलब ये कि जेल भी अमिताभ ठाकुर को चुप न करा पाई। वे अपना कार्यक्रम फिर शुरू कर चुके हैं। जनहित के मुद्दे उठाने का कार्यक्रम, करप्शन और उत्पीड़न के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने का कार्यक्रम।

जेल में भ्रष्टाचार की लोकायुक्त को शिकायत

अमिताभ ठाकुर ने लखनऊ जेल में कैदियों के कल्याण के नाम पर बेचे जा रहे सामानों में भ्रष्टाचार की लोकायुक्त जस्टिस संजय मिश्रा को शिकायत भेजी है.

अमिताभ ने कहा कि लखनऊ जेल में सुविधा के नाम पर दैनिक उपयोग की तमाम वस्तुएं, सब्जियां, दुग्ध उत्पाद, बीड़ी आदि की बिक्री होती है. उन्होंने कहा कि वहां हर सामान अपने वास्तविक मूल्य से काफी बढे मूल्य पर बेचा जा रहा है. उदाहरण के लिए 5 रुपये के पार्ले-जी बिस्कुट के 2 पैकेट, 10 रुपये का रिन साबुन, 10 रुपये का टूथपेस्ट का छोटा पैक 15 से 20 रुपये में बेचे जा रहे हैं. इसी तरह 01 रुपये का माचिस का डब्बा 5 रुपये तथा पराग का आधा लीटर का फुल क्रीम मिल्क 29 रुपये की जगह 40 रुपये में बेचा जा रहा है. इसी तरह हर सामान को बढे दाम पर बेचा जा रहा है. उन्होंने कहा कि उनके पास इस संबंध में सबूत भी हैं.

अमिताभ ने कहा कि उन्हें प्राप्त जानकारी के अनुसार यूपी के बाकि जेलों में भी यही स्थिति है, जिससे लाखों रुपये प्रति दिन की कमाई की चर्चा है.

उन्होंने इस संबंध में जाँच कर कार्यवाही की मांग की है. अमिताभ सात माह जेल में रह कर अभी हाल में जमानत पर बाहर आये हैं.

Lokayukta complaint in corruption in Jails
Amitabh Thakur has presented a complaint to Lokayukta Justice Sanjay Mishra regarding corruption in Lucknow Jail in sale of goods in name of welfare of prisoners.

Amitabh said that various goods of daily use, vegetables, Milk products, Beedi etc are sold in Lucknow Jails allegedly for assistance of the prisoners. He said each good is being sold there at much higher prices. For example, 02 packets of Parle-G buiscuit, Rs. 10 Rin soap and Rs. 10 small toothpaste pack are being sold at Rs. 15-20 each. Similarly 01 Rs. Matchstick pack is being sold at Rs. 5 and Parag half-litre full cream milk pack of Rs. 29 is being sold at Rs. 40. Similarly, every good is being sold at much raised rate. He said he has evidences in this regards.

Amitabh said as per his information, the situation remains same in all the Jails of UP, through which lakhs of rupee per day are said to be generated.

Hence he has sought enquiry and action in the matter. Amitabh was in jail for 07 months and came out on Bail recently.

देखें पत्र और वीडियो-

विडियो देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें-

https://fb.watch/cC3bKCXFuF/



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code