वरिष्ठ पत्रकार महरुद्दीन खान की सोशल मीडिया पर आई खबर को टाइम्स आफ इंडिया ने प्रमुखता से छापा

यह सोशल मीडिया की ताकत है कि जिस खबर को यहां प्रमुखता से उठाया जाता है, उसे बड़े अखबार भी छापने को मजबूर हो जाते हैं. दादरी के पास एक गांव में रह रहे वरिष्ठ पत्रकार महरुद्दीन खान को सिर्फ इसलिए गोली से मारने की धमकी मिल रही है कि वो मुस्लिम हैं. इसी कारण से उनके परिजनों को भी गोली मारी गई. महरुद्दीन खान ने दुखी होकर एक पत्र भड़ास समेत कई वेबसाइटों के पास भेजा.

यह पत्र जब सोशल मीडिया पर शेयर हुआ और भड़ास ने प्रकाशित किया तो टाइम्स आफ इंडिया पूरे मामले की खोजबीन कर प्रमुखता से आज खबर प्रकाशित की. यह खबर पेज वन पर ब्रीफ में है और फिर पेज चार पर विस्तार से है. टीओआई की खबर को यहां दिया जा रहा है. इस पूरी कवायद का असर ये हुआ कि हमलावर पकड़े जा रहे हैं और महरुद्दीन साब की सुरक्षा को लेकर पुलिस तत्पर हुई है.

भड़ास पर प्रकाशित संबंधित खबरें….

मुस्लिम होने के कारण बुजुर्ग ईमानदार पत्रकार महरुद्दीन खान को गांव न छोड़ने पर गोली मारने की धमकी

xxx

महरुद्दीन खां जैसा व्‍यक्ति हिंदू या मुसलमान नहीं होता, वह तो सिर्फ इंसान होता है

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें-

https://chat.whatsapp.com/Bo65FK29FH48mCiiVHbYWi

Comments on “वरिष्ठ पत्रकार महरुद्दीन खान की सोशल मीडिया पर आई खबर को टाइम्स आफ इंडिया ने प्रमुखता से छापा

  • bharat bhushan arora says:

    डा महरूदीन खां सच को मूंह पर कहने वाले बहादुर इंसान हैा वे ना हिन्‍दुु है ना मुसलमान हैा बस एक सच्‍चे इंसान हैा वासुदेव कुटुंबकम वाले इस देश में क्‍या अब हिन्‍दु मुसलमान बन कर ही रहना होगा या इंसान बनकर ा यह सोच का विषय हो गया हैा इंसानी सोच वाले नैतिक रूप से उनके साथ हैा भारत भूषण अरोरा न्‍यूज एडीटर दैनिक प्रभात

    Reply
  • Kashinath Matale says:

    Hindustan me bahot sare dharma hai. Harek ko apne apne jeena hai. Dhrma ko Nibhana Hai. Rashtra bhakti aur insaniyat sabse bada dharma hai.Dr. Mahrudin Khan ko insaniyat ke jeena ka pura adhikar hai. Vah sacche hindusthani hai. Hindusthan ka nam sare jag me ucha rahe is hisab se kam karna chahiye.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *