नजीर मलिक बने सिद्धार्थनगर प्रेस क्लब के अध्यक्ष

Nazeer Malik

नई दिल्ली। सिद्धार्थनगर जिले के वरिष्ठ पत्रकार नजीर मलिक ने प्रेस क्लब के चुनाव में रिकॉर्ड वोटों से जीत दर्ज की है। एक तरफा मुकाबले में सिटी टाइम्स के ब्यूरो चीफ नजीर मलिक को 100 वोट मिले जबकि प्रतिद्वंदी राहुल श्रीवास्तव को 30 वोटों से संतोष करना पड़ा। प्रेजिडेंट पद के लिए मैदान में तीसरा उम्मीदवार कोई नहीं था। जीत के बाद नजीर मलिक ने कहा है कि शहर में पत्रकारिता कर रहे नौजवानों को एक पत्रकार और उसकी पत्रकारिता की जबरदस्त समझ है। यही वजह है कि मेरे लिए एकतरफा वोटिंग की गई।

पराजित उम्मीदवार राहुल श्रीवास्तव राष्ट्रीय परंपरा नाम के साप्ताहिक अखबार से जुड़े हैं। राहुल मूल रूप से एक कारोबारी हैं। कई साल से शहर में सैनिटरी शॉप चला रहे हैं लेकिन कुछ साल पहले उन्होंने कारोबार के साथ-साथ अखबार की दुनिया में भी कदम रख दिया। शहर में अभी भी उनकी पहचान एक बिजनेसमैन की है। इसी तरह महामंत्री के चुनाव में साप्ताहिक सिटी की आवाज के मुखिया मनोज श्रीवास्तव ने जीत दर्ज की। मनोज श्रीवास्तव ने स्वतंत्र भारत के सुनील मिश्रा को पराजित किया। हिन्दुस्तान हिन्दी दैनिक के अजय पाठक को उपाध्यक्ष चुना गया है जबकि लोकमत के राधेश्याम गुप्ता कोषाध्यक्ष बनाए गए हैं।

सिद्धार्थनगर प्रेस क्लब के इतिहास में यह अब तक का सबसे चर्चिच चुनाव रहा। शहर की ब्राह्रमणवादी ताक़तों ने नजीर मलिक का विजय रथ रोकने के लिए एड़ी-चोटी का ज़ोर लगा दिया। उन्होंने शहर के दूसरे ब्राह्रण-क्षत्रिय समेत सभी सवर्ण पत्रकारों को लामबंद करने के लिए तमाम किस्म की धूर्तताएं कीं लेकिन इन ताक़तों को ज़्यादातर सवर्ण पत्रकारों ने ही नकारते हुए नजीर मलिक के पक्ष में वोट किया और जागरण समेत उनके गुर्गों के मुंह में कालिख पोत दी। अपने संघीपन के लिए कुख्यात दैनिक जागरण समेत उनके चंगु-मंगू टाइप अखबार और उनके पत्रकारों ने इस चुनाव का बहिष्कार किया था या यूं कहें कि इस चुनाव में जागरण पत्रकारों की सड़कछाप राजनीति की वजह से उन्हें साइड लाइन कर दिया गया था।

यहां बताना जरूरी है कि दैनिक जागरण की सिद्धार्थनगर यूनिट में नजीर मलिक शुरू से जुड़े रहे। 20 साल से ज्यादा वक्त उन्होंने बतौर ब्यूरो चीफ दैनिक जागरण को दिया। जागरण यूनिट में फिलहाल काम कर रहे ज्यादातर पत्रकारों को उन्होंने जोड़ा और पूरे जिले में तगड़ा नेटवर्क स्थापित किया। लेकिन नजीर मलिक के नाम पर जागरण में करियर चमकाने वाले कुछ पत्रकार अब होस्टाइल हो चुके हैं। इसकी वजह यह है कि नजीर मलिक अब दैनिक जागरण में नहीं रहे। पिछले साल जागरण की आपसी गुटबाजी की वजह से उन्हें गोरखपुर ट्रांसफर कर दिया गया था। कुछ महीने काम करने के बाद नजीर मलिक ने जागरण से इस्तीफा दे दिया था और अब पूर्वी यूपी के अखबार सिटी टाइम्स में काम कर रहे हैं।



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Comments on “नजीर मलिक बने सिद्धार्थनगर प्रेस क्लब के अध्यक्ष

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code