Problem in bank a/c related to pseudonym

प्रिय महोदय,

जैसा कि आपको विदित है बहुत से लेखक पुस्तकें व लेख आदि अपने वास्तविक नाम से न लिखकर किसी दूसरे छद्मनाम से लिखते हैं ज़िसे pseudonym कहते हैं और ज़ाहिर है कि फिर  इसी नाम से उनकी रौयल्टी आदि के चैक बनते हैंl

अब मेरे जैसे तमाम लेखकों के साथ समस्या यह आ गयी है कि जो नाम आधार कार्ड या पैन कार्ड में दर्ज है, बैंक में खाता उसी नाम से खुलेगा और चैक भी उसी नाम से जमा होगा जबकि औडिट के नियमानुसार प्रकाशक द्वारा चैक उस नाम से बनाया जायेगा जो किताब या लेख पर दिया गया हैl

ऐसे में बतायें कि पिछले 20-20 , 30-30 वर्षो से पुस्तकें आदि लिखनेवाले स्थापित लेखक पारिश्रामिक और रौयल्टी के तौर पर मिले चैक किस खाते में जमा करें क्योकि छद्मनाम से तो एकाउंट खुल नहीं सकता जब तक आधार कार्ड और पैन कार्ड में इसे वास्तविक नाम के साथ समाहित ना कर दिया जाये तो फिर क्या रास्ता है?

इसतरह के लेखक वर्ग के लिये कोई तो नियम होना चाहियेl

आशा है हमारी इस समस्या का समाधान करने के लिये आप इसे जन-जन तक पहुंचाने में हमारी मदद करेंगेl

धन्यवाद

आइवर यूशिएल

लोकप्रिय बाल-विज्ञान लेखक

ज्ञाशिम
सी- 203, कृष्णा काउंटी
मिनी बाईपास , बरेली -243122
मो : 09456670808
gyashim@gmail.com



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code