सिर्फ़ uninstall कर देने से ही नहीं delete होता whatsapp

अंकित माथुर-

भारत सहित विश्व भर में Whatsapp से लोग चटपट Signal की और भाग रहे हैं, हालाँकि Whatsapp ने अपनी इस पालिसी के विरोध में उठ रही आवाज़ों को ध्यान में रखते हुए 8 फरवरी 2021 की तय सीमा को बढ़ा दिया है, और आज Whatsapp ने उपभोक्ताओं के विश्वास को पुनः जीतने के लिए एक ख़ास status message भी डाला है.

ऐसा हुआ है, Whatsapp की विवादास्पद प्राइवेसी पालिसी के कारण जिसके तहत उपभोक्ताओं को अब अपनी प्राइवेसी खतरे में नज़र आने लगी है, ऐसा क्यों? इस पर प्रकाश डालते हुए, Whatsapp को पूरी तरह कैसे हटा सकते हैं, इसके बारे में विस्तृत जानकारी नीचे दी गई है.

Whatsapp की नई प्राइवेसी पालिसी क्यों है खतरनाक? दुनिया भर में करीब २ बिलियन लोग Whatsapp इस्तेमाल करते हैं, जिनमें से अकेले भारत में 40 करोड़ से ज्यादा लोग वॉट्सऐप इस्तेमाल करते हैं। भारत में कंपनी ने WhatsApp पेमेंट सर्विस भी लॉन्च करी हुई है, कंपनी ने भारतीय नियामकों से अब तक 20 मिलियन ग्राहकों के साथ रहने की अनुमति प्राप्त की है। WhatsApp ने कहा है, कि वह AI (अर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) आधारित बॉट्स तकनीक के इस्तेमाल से यूसेज और लॉग इन इन्फर्मेशन इकट्ठा करेगा। इसके साथ ही WhatsApp ग्रुप की जानकारी और प्रोफाइल फोटोग्राफ भी एकत्रित करेगा। यह बॉट इसके अलावा आपके फोन, मोबाइल कनेक्शन की जानकारी भी एकत्र करता है।

WhatsApp और Facebook के बीच डाटा शेयर करने की बातचीत आज से नहीं, अपितु 2018 से चल रही थी। 2018 मे ब्रिटेन के सूचना आयुक्त कार्यालय ने WhatsApp को निर्देश दिया कि वो स्पष्ट करे कि प्राइवेट डाटा को सार्वजनिक रूप से Facebook के साथ साझा नहीं करेगी, जब तक कि दोनों कंपनियां जनरल डेटा प्रोटेक्शन रेग्यूलेशन (GDPR) के प्रावधानों में दिए गए दिशा निर्देशों का पालन नहीं करती।

वॉट्सऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी के तहत जानकारी शेयर करने को लेकरकुछ सूचना उपलब्ध कराई गई हैं। जिसमें कहा गया है कि WhatsApp, Facebook के साथ कुछ जानकारी शेयर करता है। यह पहले नहीं था। Whatsapp के थर्ड पार्टी सेवा प्रदाताओं में अब फेसबुक की कंपनियों का नाम भी है। कंपनी ने अपने ब्लॉग में कहा था, ‘कई व्यापार अपने ग्राहकों के साथ संवाद करने के लिए वॉट्सऐप का इस्तेमाल करते हैं। हम उन व्यवसायों के साथ काम करते हैं जो वॉट्सऐप पर आपके साथ कम्यूनिकेशन को बेहतर बनाने के लिए फेसबुक या थर्ड पार्टी का इस्तेमाल करते हैं।’ इसके लिए ग्राहकों को लेन-देन डाटा, मोबाइल फोन डिवाइस की जानकारी, आईपी एड्रेस और डाटा शेयर करने के लिए सहमति देनी होगी।

उल्लेखनीय है कि 5 जनवरी को ही WhatsApp ने अपने नए प्राइवेसी पॉलिसी को लागू किया है| नए नियमों के तहत WhatsApp यूजर्स का डेटा सीधे ले लेगा. WhatsApp आपके फोन नबंर, चैटिंग, फोटो और वीडियो के अलावा आपके मोबाइल से होने वाले लेन-देन की जानकारियां भी लेगा. इसके अलावा WhatsApp ने साफ कर दिया है कि आपकी निजी जानकारियों को Facebook और Instagram से भी शेयर किया जाएगा। अब सबसे चिंताजनक तथ्य ये है WhatsApp ने स्पष्ट कर दिया है कि सभी यूजर्स को इन शर्तों को मानना होगा, और आप इन शर्तों को नहीं मानते हैं तो WhatsApp छोड़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं.

यदि आपको लगता है, की App को डिलीट कर देने से आपका अकॉउंट बंद हो जायेगा तो ऐसा नहीं है। ऐप को सीधे Uninstall करने से आपका अकाउंट बंद नहीं होता। WhatsApp को फोन से डिलीट करने के लिए क्या तरीक़ा अपनाना पड़ता है, जानिए-

  1. पहले अपने iOS या Android फोन में WhatsApp खोलें
  2. फोन में ऊपर दाईं ओर तीन डॉट्स पर क्लिक करें
  3. अब अपने Account ऑप्शन पर क्लिक करें
  4. यहां आपको Delete My Account पर क्लिक करें
  5. अपना मोबाइल नंबर डालें और एक बार फिर Delete My Account को क्लिक करें
  6. आपको डिलीट बटन दबाने से पहले कारण बताना पड़ेगा
  7. अब एक बार फिर Delete My Account को टैप करें. ये कदम उठाने से आपका Whatsapp अकॉउंट परमानेंट बंद हो जायेगा.

यदि आपके मन में Whatsaap को लेकर कुछ प्रश्न हैं तो टेक एक्स्पर्ट अंकित माथुर से ankitmathur@outlook.in पर संपर्क कर सकते हैं.

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर सब्सक्राइब करें-
  • भड़ास तक अपनी बात पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *