डेस्क वाला स्ट्रिंगरों को फोन कर बोलता है कि पांच स्पेशल खबरें भेजो तो उसमें से एक चलेगी

श्रीमान संपादक महोदय
भड़ास 4 मीडिया
विषय : जी पुरवईया बिहार में संकट

जी ग्रुप का चैनल जी पुरवईया में शिव पूजन झा संपादक को हटा कर नया चेहरा अनुभव खंडूरी को लाया गया. अनुभव खंडूरी ने आते ही अपना तेवर दिखाया और जिलों से स्ट्रिंगर की खबर लगने लगी. इस कारण स्ट्रिंगर में उत्साह दिखा और खबर का फ्लो भी बढ़ा. खंडूरी सर ने एक मीटिंग बुलाया जिला के स्ट्रिंगरों का. उसमें कहा कि खबर चलेगी, आप सभी मन लगा कर काम करें. उन्होंने कहा कि पहले क्या हुआ, उससे मतलब नहीं है.

उन्होंने जी पुरवईया चैनल की शुरुआत में 6 माह के बकाया पैसा और फिर मई जून में हुए पैसे के खेल पर कुछ भी बोलने से परहेज किया.  हद तो ये है कि इस बार स्ट्रिंगर को अभी तक न तो पेमेंट मिला है और न ही अब जिला की खबर लगती है. डेस्क पर बैठा एक शख्स जिसकी कोई औकात नहीं है, वह अब स्ट्रिंगरों को फोन कर बोलता है कि 5 खबर स्पेशल भेजो तो उसमें से एक चलेगी.  क्राइम की खबर में जो फुटेज ब्रेकिंग न्यूज़ में चल गया, उसका बिल में नहीं जुटता है. 

स्ट्रिंगर हो गए हैं बेहाल
डेस्क से कहा जाता है कि अब एजेंसी से खबर ले कर चैनल चलेगा.

भाई खूब बतकही बा जे खून पसीना के कर के खबर बना की भेजे ल ओकड़ा के लेल रुपया न बा और एजेंसी लेल हिनका गाड़ में डदम बा

इहे हाल रहेगा तो एक दिन जी पुरवईया को बंद करना होगा या फिर स्ट्रिंगर की छंटनी कर के दूसरा के रखेगा

इहो बात चल रहा है एगो डेक्स के आदमी ने कहा है कि परफॉर्मेंश के आधार पर स्ट्रिंगर को हटाा जाएगा

तब दूसरे के रख के खून चूसी खंडूरी

इस बात की भी चर्चा है कि खबर नहीं चलने के बावजूद दरभंगा जिला का मार्केटिंग में काम करने वाला जी पुरवईया में है, वह जबरदस्ती विज्ञापन के लिए दबाव बना रहा है

खंडूरी खड्यंत्र में लगा है कि अपना आदमी लोग को जिला में रखें

वहीँ खंडूरी का चमचा सब भी इसी फिराक में लगा हुआ है अपना आदमी सब को जिला में रखने के लिए

एक स्ट्रिंगर द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code