क्या जी मीडिया को अडानी ग्रुप ख़रीद रहा?

एक बड़ी चर्चा मुंबई की मीडिया और कारपोरेट जगत में फैल रही है। उच्च पदस्थ सूत्र बता रहे हैं कि गौतम अडानी और सुभाष चंद्रा के बीच एक बड़ी डील हो रही है।

गौतम अडानी की ‘अडानी एंटरप्राइज़’ और सुभाष चंद्रा की ‘जी मीडिया’ के रास्ते एक होने जा रहे हैं। अडानी की कम्पनी ने जी मीडिया को ख़रीदने का फ़ैसला कर लिया है।

सूत्र बताते हैं कि अडानी एंटरप्राइज की तरफ़ से जी मीडिया के लिए प्रति शेयर तीस रुपए सुभाष चंद्रा को दिए जाएँगे। जी मीडिया के सभी शेयरों को अडानी ग्रुप नगद ख़रीदेगा।

इस चर्चा के बाहर आने के बाद जी मीडिया के शेयरों में ज़बरदस्त उछाल आया है। कल सत्रह रुपए का शेयर आज अट्ठारह के पार जाकर अपर सर्किट छू चुका है।

जी मीडिया का अडानी ग्रुप द्वारा अधिग्रहण किए जाने के बाद संजय पुगलिया को जी न्यूज़ का ceo बनाया जा सकता है। पुगलिया पहले से ही अडानी ग्रुप की सेवा में हैं।

जी-अडानी डील की चर्चाओं पर अभी तक दोनों समूहों की तरफ़ से कोई अधिकृत बयान जारी नहीं किया गया है।

इस बीच कुछ लोगों का दावा है कि ऐसी कोई डील नहीं हुई है। केवल कुछ मीटिंग्स गौतम अडानी और सुभाष चंद्रा के बीच हुई है। फ़िलहाल कुछ भी फ़ायनल नहीं है। जब भी फ़ैसला होगा तो सबसे पहले इसकी सूचना बाज़ार नियामक सेबी को दी जाएगी।

Update-

जी ग्रुप ने एक ट्वीट के ज़रिए अडानी ग्रुप से डील की खबरों का खंडन किया है!

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप परBWG7

आपसे सहयोग की अपेक्षा भी है… भड़ास4मीडिया के संचालन हेतु हर वर्ष हम लोग अपने पाठकों के पास जाते हैं. साल भर के सर्वर आदि के खर्च के लिए हम उनसे यथोचित आर्थिक मदद की अपील करते हैं. इस साल भी ये कर्मकांड करना पड़ेगा. आप अगर भड़ास के पाठक हैं तो आप जरूर कुछ न कुछ सहयोग दें. जैसे अखबार पढ़ने के लिए हर माह पैसे देने होते हैं, टीवी देखने के लिए हर माह रिचार्ज कराना होता है उसी तरह अच्छी न्यूज वेबसाइट को पढ़ने के लिए भी अर्थदान करना चाहिए. याद रखें, भड़ास इसलिए जनपक्षधर है क्योंकि इसका संचालन दलालों, धंधेबाजों, सेठों, नेताओं, अफसरों के काले पैसे से नहीं होता है. ये मोर्चा केवल और केवल जनता के पैसे से चलता है. इसलिए यज्ञ में अपने हिस्से की आहुति देवें. भड़ास का एकाउंट नंबर, गूगल पे, पेटीएम आदि के डिटेल इस लिंक में हैं- https://www.bhadas4media.com/support/

भड़ास का Whatsapp नंबर- 7678515849

One comment on “क्या जी मीडिया को अडानी ग्रुप ख़रीद रहा?”

  • Jeelani khan Alig says:

    Even if Adani buys this channel its charactor n reporting wl hardly change.. May b it become more pro-Namo n bhaktgir… Zee has bn playing a pivotal role in creating atmosphere of hatred against a particular community… Call of genocide of this community openly that too in dharm sansad is height of this hatred…. God bless India n us…

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code