न्यूज18 के स्ट्रिंगर पर लगे कई गंभीर आरोप, देखें वीडियो

न्यूज18 के बांदा जिले के स्टिंगर अंकित त्रिपाठी के खिलाफ एक लंबा चौड़ा मेल उनके प्रबंधन के पास भेजा गया है. इस मेल को भड़ास के पास भी सेंड किया गया है. मेल में कई अटैचमेंट हैं. कुछ आडियो वीडियोज हैं.

मेल में अंकित पर कई आरोप लगे हैं. ज्यादातर अवैध खनन के कारोबार से उगाही से संबंधित हैं.

उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र में खनिज संपदा बहुतायत मात्रा में है. यहां वैध के साथ अवैध खनन भी खूब होता है जिसके लिए खनन माफिया को शासन प्रशासन नेता मंत्री पुलिस पत्रकार सबका संरक्षण मिलता है. सब मालामाल रहते हैं. यहां पर खनन करने वाले लोग मानकों के अनुसार खनन नहीं करते और अवैध खनन कर सरकार के राजस्व को चूना लगाते हैं. इसके एवज में वे सबको दक्षिणा देते रहते हैं. खदानों में खनन का आलम यह है कि यहां आए दिन गोलियां चलती हैं, दुर्घटनाएं होती हैं जिसमें लोग अपनी जान तक गवां देते हैं. लेकिन पैसे के चलते कोई कार्यवाही इन खदान वालों पर नहीं होती, क्योकि ये सब मैनेज कर लेते हैं. यहां के पत्रकारों पर भी उगाही व ब्लैकमेंलिंग के आरोप लगते हैं.

इसी क्रम में बांदा जिले के news18 यूपी व news18 इंडिया के स्टिंगर अंकित त्रिपाठी की भी शिकायत news18 के आला अफसरों से की गयी है. अंकित त्रिपाठी के कारनामों को लेकर एक मेल news18 संस्थान के उच्च पदों पर बैठे लोगों से किया गया है. अंकित पर लगे आरोपों की पुष्टि के लिए कई ठेकेदारों के नंबर भेजे गए हैं. अंकित के आसपास जो लोग रहते हैं, उनकी छवि के बारे में विस्तार से इस मेल में बताया गया है.

देखें अंकित पर लगे आरोपों से संबंधित आडियो वीडियो

अंकित त्रिपाठी का पक्ष पढ़ें-

न्यूज18 के अंकित त्रिपाठी ने सभी आरोपों को बताया निराधार, पढ़ें उनका पक्ष

भड़ास के माध्यम से अपने मीडिया ब्रांड को प्रमोट करें. वेबसाइट / एप्प लिंक सहित आल पेज विज्ञापन अब मात्र दस हजार रुपये में, पूरे महीने भर के लिए. संपर्क करें- Whatsapp 7678515849 >>>जैसे ये विज्ञापन देखें, नए लांच हुए अंग्रेजी अखबार Sprouts का... (Ad Size 456x78)

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें- Bhadas30 WhatsApp

Comments on “न्यूज18 के स्ट्रिंगर पर लगे कई गंभीर आरोप, देखें वीडियो

  • अरे भाई आप को कैसे पता कि कर दूँ का मतलब पैसे देना होता है और क्या कोई शराब पीकर हि पैसे लुटाता है और शराब पीकर हि dance करता है मतलब सारे dancer शराबी है कोई अपने साले कि शादी मे अब ना 10 रुपये ना उड़ाए और ना हि dance करें वरना आप उसे सराबी घोषित कर देंगे …….वाह
    और रही बात ट्रैक्टर वाले कि तो वो उनका तरीका है अब वो ये तो पूछे जी नहीं कि भाई साहब ….मालिक आप ये कहा से लाए है किस खदान से लाए है
    कुछ तो शर्म करें ऐसे किसी को बदनाम नहीं किया जाता आप के सारे दावे खोखले है आप जैसे लॉगो कि वजह से लोग मिडिया वालों को गोदी मिडिया /बिकाउ मिडिया कहते है

    Reply
  • अरे भी आप को कैसे पता कि कर दूँ का मतलब पैसे देना होता है और क्या कोई बिना शराब पिये पैसे नहीं लुटा सकता और ना ही बिना शराब पिये dance कर सकता ……..
    मोदी जी का viedo तो देखा होगा dance वाला
    अब कोई अपने साले कि शादी मे ना तो dance करें ना ही 10 ₹ उडाये……….उनकी कि अपनी पर्सनल लाइफ है
    और रही बात ट्रेक्टर वाले कि ये बांदा का तरीका है अब ऐसे तो भईया…. मालिक आप ये बालू कहा से लाए है और किस सज्जन का ये ट्रेक्टर है हमें ये खबर चैनेल मे भेजना है
    आप कि जानकारी के लिए बता दूँ कि ये बांदा ज़िला है अगर वो अपने तरीके से ना बोलते तो वो ट्रेक्टर भी ना रोकता और किसी सवाल का जवाब देता ग्राउंड मे निकालने के बाद हकीकत पता चलती है और तब खबर बनती है ऐसे किसी के ऊपर झूठे आरोप नहीं लगा दिया जाता
    कुछ तो शर्म करें मन घडत कहानी बनके किसी को परेशान ना करें उनकी अपनी भी इज्ज़त है
    आप के सारे दावे खोखले है आप जैसे लोगो कि वजह से लोग मिडिया वालों को गोदी मिडिया /बिकाऊ मिडिया कहते है
    अभी के अभी ये खबर डिलिट करें और माफ़ी मागे
    जय हिंद

    Reply
  • कुछ तो अपनी positon कि मर्यादा करें आप वहाँ है तो इसका मतलब ये नहीं कि कुछ भी बोलेंगे अरे भाई आप को कैसे पता कि कर दूँ का मतलब पैसे देना होता है और क्या कोई बिना शराब पिये पैसे नहीं लुटा सकता और ना ही बिना शराब पिये dance कर सकता ……..
    मोदी जी का viedo तो देखा होगा dance वाला
    अब कोई अपने साले कि शादी मे ना तो dance करें ना ही 10 ₹ उडाये……….उनकी कि अपनी पर्सनल लाइफ है
    और रही बात ट्रेक्टर वाले कि ये बांदा का तरीका है अब ऐसे तो भईया…. मालिक आप ये बालू कहा से लाए है और किस सज्जन का ये ट्रेक्टर है हमें ये खबर चैनेल मे भेजना है
    आप कि जानकारी के लिए बता दूँ कि ये बांदा ज़िला है अगर वो अपने तरीके से ना बोलते तो वो ट्रेक्टर भी ना रोकता और किसी सवाल का जवाब देता ग्राउंड मे निकालने के बाद हकीकत पता चलती है और तब खबर बनती है ऐसे किसी के ऊपर झूठे आरोप नहीं लगा दिया जाता
    कुछ तो शर्म करें मन घडत कहानी बनके किसी को परेशान ना करें उनकी अपनी भी इज्ज़त है
    आप के सारे दावे खोखले है आप जैसे लोगो कि वजह से लोग मिडिया वालों को गोदी मिडिया /बिकाऊ मिडिया कहते है
    अभी के अभी ये खबर डिलिट करें और माफ़ी मागे
    जय हिंद

    Reply
  • SHIVAM DWIVEDI says:

    कुछ तो अपनी positon कि मर्यादा करें आप वहाँ है तो इसका मतलब ये नहीं कि कुछ भी बोलेंगे अरे भाई आप को कैसे पता कि कर दूँ का मतलब पैसे देना होता है और क्या कोई बिना शराब पिये पैसे नहीं लुटा सकता और ना ही बिना शराब पिये dance कर सकता ……..
    मोदी जी का viedo तो देखा होगा dance वाला
    अब कोई अपने साले कि शादी मे ना तो dance करें ना ही 10 ₹ उडाये……….उनकी कि अपनी पर्सनल लाइफ है
    और रही बात ट्रेक्टर वाले कि ये बांदा का तरीका है अब ऐसे तो भईया…. मालिक आप ये बालू कहा से लाए है और किस सज्जन का ये ट्रेक्टर है हमें ये खबर चैनेल मे भेजना है
    आप कि जानकारी के लिए बता दूँ कि ये बांदा ज़िला है अगर वो अपने तरीके से ना बोलते तो वो ट्रेक्टर भी ना रोकता और किसी सवाल का जवाब देता ग्राउंड मे निकालने के बाद हकीकत पता चलती है और तब खबर बनती है ऐसे किसी के ऊपर झूठे आरोप नहीं लगा दिया जाता
    कुछ तो शर्म करें मन घडत कहानी बनके किसी को परेशान ना करें उनकी अपनी भी इज्ज़त है
    आप के सारे दावे खोखले है आप जैसे लोगो कि वजह से लोग मिडिया वालों को गोदी मिडिया /बिकाऊ मिडिया कहते है
    अभी के अभी ये खबर डिलिट करें और माफ़ी मागे
    जय हिंद

    Reply
  • अपने पद कि मर्यादा मे रहे आप वहाँ है तो इसका मतलब ये नहीं कि कुछ भी बोलेंगे ये कैसा फर्जी विडीओ और उसमें पड़ा ऑडियो है भाई आप को कैसे पता कि “कर दूँ “का मतलब पैसे देना होता है वो भी खदान से… क्या कोई बिना शराब पिये पैसे नहीं लुटा सकता और ना ही बिना शराब पिये dance कर सकता …….. कोई इंसान जो अपने घर कि ख़ुशी मे dance करें वो शराबी …
    मोदी जी का viedo तो देखा होगा dance वाला ……
    अब कोई अपने साले कि शादी मे ना तो dance करें ना ही 10 ₹ उडाये………. वो 10 का नोट असली है नकली ये किसने देखा…. अपनी पर्सनल लाइफ भी होती है..
    और रही बात ट्रेक्टर वाले कि ये बांदा का तरीका है अब ऐसे तो बोलेंगे नहीं कि भैया …. मालिक …आप ये बालू कहा से लाए है और किस सज्जन का ये ट्रेक्टर है हमें ये खबर चैनेल मे भेजना है
    आप कि जानकारी के लिए बता दूँ कि ये बांदा ज़िला है अगर वो अपने तरीके से ना बोलते तो वो ट्रेक्टर भी ना रोकता और किसी सवाल का जवाब भी ना देता , ग्राउंड मे निकालने के बाद हकीकत पता चलती है और तब खबर बनती है ऐसे किसी के ऊपर झूठे आरोप नहीं लगा दिया जाता
    कुछ तो शर्म करें मन घडत कहानी बनके किसी को परेशान ना करें उनकी अपनी भी इज्ज़त है
    खबर ऐसी होनी चाहिये कि देखने के बाद् ये महसूस ना हो कि टाइम खराब हो गया
    आप के सारे दावे खोखले है आप जैसे लोगो कि वजह से लोग मिडिया वालों को गोदी मिडिया /बिकाऊ मिडिया कहते है
    अभी के अभी ये खबर डिलिट करें और नतमस्तक होकर माफ़ी मांगे
    जय हिंद

    Reply
  • कैसे इतना कुछ आप कह सकते है कुछ तो पद कि मर्यादा मे रहे आप वहाँ है तो इसका मतलब ये नहीं कि कुछ भी बोलेंगे ये कैसा फर्जी विडीओ और उसमें पड़ा ऑडियो है भाई आप को कैसे पता कि “कर दूँ “का मतलब पैसे देना होता है वो भी खदान से… क्या कोई बिना शराब पिये पैसे नहीं लुटा सकता और ना ही बिना शराब पिये dance कर सकता …….. कोई इंसान जो अपने घर कि ख़ुशी मे dance करें वो शराबी …
    मोदी जी का viedo तो देखा होगा dance वाला ……
    अब कोई अपने साले कि शादी मे ना तो dance करें ना ही 10 ₹ उडाये………. वो 10 का नोट असली है नकली ये किसने देखा…. अपनी पर्सनल लाइफ भी होती है..
    और रही बात ट्रेक्टर वाले कि ये बांदा का तरीका है अब ऐसे तो बोलेंगे नहीं कि भैया …. मालिक …आप ये बालू कहा से लाए है और किस सज्जन का ये ट्रेक्टर है हमें ये खबर चैनेल मे भेजना है
    आप कि जानकारी के लिए बता दूँ कि ये बांदा ज़िला है अगर वो अपने तरीके से ना बोलते तो वो ट्रेक्टर भी ना रोकता और किसी सवाल का जवाब भी ना देता , ग्राउंड मे निकालने के बाद हकीकत पता चलती है और तब खबर बनती है ऐसे किसी के ऊपर झूठे आरोप नहीं लगा दिया जाता
    कुछ तो शर्म करें मन घडत कहानी बनके किसी को परेशान ना करें उनकी अपनी भी इज्ज़त है
    खबर ऐसी होनी चाहिये कि देखने के बाद् ये महसूस ना हो कि टाइम खराब हो गया
    आप के सारे दावे खोखले है आप जैसे लोगो कि वजह से लोग मिडिया वालों को गोदी मिडिया /बिकाऊ मिडिया कहते है
    अभी के अभी ये खबर डिलिट करें और नतमस्तक होकर माफ़ी मांगे
    जय हिंद

    Reply
  • जानवरो की गाड़ी निकलाने हो अवैध तरीके से जानवरो की कटाई करवाते हो शर्म करो भाई तुम्हारा इतना बड़ा अपराधी है 4 tv के भरोसे तुम दलाली करते हो तुम कितने दूध के धुले हो पहले अपना गिरेवान झाक के देखो पत्रकारिता की गरिमा बनाओ दलाली मत करो बांदा Liu के और लखनऊ मे जो तुम्हारे कारनामो की जांच हो रही बहुत जल्द जेल जाओगे अख्तर जीशान आरोप तुमपर भी है यहां के ट्रक ड्राइवर और अवैध जानवरो की कटाई करने वाले कहते है तुम समझ गए होंगे

    Reply
    • zeeshan akhtar says:

      छदम दलाल अंकुर, मेरी जाँच करवाओ और सघन जाँच करवाओ। ताकि जानवरों की गाड़ियों के दलाल भी सामने आ जायें। जाँच तो सभी की होनी ही चाहिये ताकि पत्रकारिता का चोला ओढ़े अपराधी बेनकाब हो जायें। रही मेरी बात तो डियर, जिसने भी ये पोस्ट डाली या डलवाई है उसे मेरी खुली चुनौती है कुछ साक्ष्य भी भेज दो यशवंत जी के पास ताकि तुम्हारे आरोप सही लगे।

      Reply
  • Sandeep kumar says:

    *News18 के अंकित त्रिपाठी द्वारा लगाए गए आरोप झूंठे हैं, अपने गलत कारनामों से बचना चाहता है अंकित*

    *अंकित को खुली चुनौती मेरे ऊपर लगाए आरोपों को करे साबित, वरना दूंगा मैं लीगल नोटिस*

    आदरणीय सर

    मेरा नाम संदीप कुमार है मैं बांदा के गायत्री नगर इलाके का रहने वाला हूं। कई साल से बांदा जिले में पत्रकारिता कर रहा हूं। वर्तमान में मैं इंडिया वॉइस चैनल का स्ट्रिंगर हू। आपके bhadas4media एक खबर में हमारे जिले के news18 के रिपोर्टर अंकित त्रिपाठी पर खदानों से अवैध वसूली सहित कई आरोप लगाए थे। अंकित त्रिपाठी ने उस खबर पर अपनी सफाई दी और जिले के कई पत्रकारों को अनैतिक कार्यों में लिप्त होने और अपराधी बताया गया। साथ ही अंकित त्रिपाठी के द्वारा news18 चैनल छीनने के प्रयास को लेकर बात कही गई है। अंकित ने अपनी सफाई में कहां है जिले के संदीप कोटार्य पर पास्को समेत 20 मुकदमे दर्ज है। तो मै अपनी सफाई में यह कहना चाहता हूं कि news18 के अंकित त्रिपाठी द्वारा लगाए गए मेरे ऊपर के आरोप पूरी तरह से झूठे और निराधार है। मैं अंकित त्रिपाठी को चैलेंज करता हूं कि अगर मेरे ऊपर किसी एक मुकदमा का भी साक्ष्य उनके पास है। तो वह मुझे दिखा दे और अगर अंकित त्रिपाठी मुझे साक्ष दिखा देते हैं। तो मैं उसी दिन से पत्रकारिता बंद कर दूंगा। और मैं आपको बता दूं कि अंकित त्रिपाठी ने अन्य कई और पत्रकारों पर भी आरोप लगाए हैं जो मेरी समझ से गलत है। अंकित त्रिपाठी ने अपने बचाव में जो कुछ भी लिखा है वह ज्यादातर मुझे गलत लगता है। अंकित ने लिखा है कि वह चित्रकूट जिले का रहने वाला है जो बिल्कुल गलत है। अंकित त्रिपाठी बांदा के ही गिरवा थाना क्षेत्र के पतरहा गांव का रहने वाला है। और अपने ननिहाल पक्ष की गद्दी पाकर बांदा जिले में ही बचपन से काबिज है। इसके अलावा अंकित त्रिपाठी ने कहां है कि वह खदानों से पैसे नहीं लेता चाहे तो खदान वालों से बात कर ली जाए। तो मैं यह कहना चाहूंगा कि अगर इसकी गोपनीय जांच कराई जाए तो प्रत्येक खदान के खर्चों की लिस्ट में इनका नाम भी है। अगर अंकित त्रिपाठी के मोबाइल की सीडीआर निकलवा ली जाए तो प्रत्येक खदान संचालक से बातचीत होने के प्रमाण मिल जाएंगे। आपने अंकित त्रिपाठी पर लगे आरोप में जो वीडियो दिखाया है उसमें वॉइस ओवर में अंकित त्रिपाठी द्वारा एक अनीश नाम के खदान वाले से लेनदेन को लेकर बात सुनी जा रही है जो पूरी तरह से सही है। अंकित त्रिपाठी मध्य प्रदेश से आने वाली ओवरलोड गाड़ियों को निकलवाने के एवज में अनीश से प्रति महीने माहवारी लेता रहा है। इसके अलावा अंकित ने एक खदान संचालक जयराम सिंह का भी अपनी सफाई में जिक्र किया है। तो मेरी जानकारी में यह बात पता चली है कि अंकित त्रिपाठी ने जयराम सिंह से खदान चलाने के एवज में भारी-भरकम रुपयों की मांग की थी। जिसको लेकर जयराम सिंह ने पैसे देने में असमर्थता जताई थी और इसको लेकर इनकी आपस में कहासुनी भी हुई थी।

    फिलहाल अंकित त्रिपाठी की अगर बात की जाए तो इनका जिले में इनका वही हाल है कि अंधे के हाथ बटेर लगना। क्योंकि अंकित त्रिपाठी कभी किसी अच्छे में नहीं रहा और news18 में आने के बाद अपने आपको ब्रम्हा समझने लगा है। news18 जैसे बड़े संस्थान में होने के चलते घमंड में चूर होकर शराब के नशे में रोजाना लोगों से मारपीट गालीगलौज करना इसके लिए आम बात हो गयी है। और इसी क्रम में इसने मार्च के महीने में मुझसे भी मारपीट की थी। लेकिन पुलिस प्रशासन में इसकी अच्छी पकड़ होने के चलते मेरी मामले में पुलिस प्रशासन ने कोई कार्रवाई नहीं की। और मजबूर मैंने मुख्यमंत्री पोर्टल में अपनी शिकायत की थी। और मेरा मामला आज भी लटका हुआ है। और मुझे न्याय न मिलने के चलते आए दिन इसके द्वारा गाली-गलौज और अभद्रता खबरों के संकलन के दौरान फील्ड में की जाती है। और अभी हाल ही में 27 जून को शहर की एक मॉडल साहब की दुकान में भी इसने अपने साथियों के साथ मारपीट की थी जिसका सीसीटीवी वीडियो भी वायरल हुआ था।

    अंकित त्रिपाठी ने अपनी सफाई में यह भी कहा है। कि कहीं मेरी हत्या ना करा दी जाए तो अब हमें डर लगने लगा है कि कहीं अंकित हमें किसी झूठे मुकदमे में ना फसा दे। क्योंकि पुलिस और प्रशासन में इसकी अच्छी पकड़ है।

    सर मेरा भी यह पक्ष प्रकाशित करने की कृपा करें। क्योंकि अंकित की सफाई में लगाए आरोपों के बाद जिले में मेरी छवि धूमिल हो रही है। जिससे मैं मानसिक रूप से परेशान हो गया हूं।

    संदीप कुमार कोटार्य
    बांदा
    9455554744

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *