मुंबई में चेंबर आफ फिल्म जर्नलिस्ट्स का गठन, इंद्र मोहन पन्नू बनाए गए अध्यक्ष

मुंबई : मुंबई सहित पूरे देश में कार्यरत फिल्म, टेलीविजन और मनोरंजन जगत से जुड़े पत्रकारों की संस्था चेंबर आफ फिल्म जर्नलिस्ट्स का एक बैठक में गठन किया गया। यह संस्था फिल्म और टेलीविजन  तथा मनोरंजन जगत से जुड़े पत्रकारों और सितारों के बीच सेतु का काम करेगी और इन पत्रकारों के स्वाभिमान को उंचा करेगी। मुंबई के अंधेरी पश्चिम में हुयी संस्था की बैठक में चेंबर आफ फिल्म जर्नलिस्ट्स का अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार इंद्र मोहन पन्नू को बनाया गया है। जानी मानी ट्रेड मैग्जीन कंप्लीट सिनेमा के मालिक और संपादक अतुल मोहन व दोपहर का सामना के वरिष्ठ पत्रकार किशोर शाही को संयुक्त रूप से उपाध्यक्ष बनाया गया है।

सचिव पद की जिम्मेदारी दैनिक भास्कर के युवा पत्रकार धर्मेंद्र प्रताप सिंह को दी गयी है। सह सचिव – राजस्थान पत्रिका के रोहित तिवारी को और संयुक्त सचिव पंजाब केशरी के वीरेंद्र मिश्रा को बनाया गया है। प्रचार सचिव होंगे शशिकांत सिंह। पीटीआई की युवा महिला पत्रकार मनीषा रेगे को चेंबर आफ फिल्म जर्नालिस्ट का कोषाध्यक्ष बनाया गया है। इस संस्था की कार्यकारिणी के सदस्य के रुप में पीटीआई के आनंद मिश्रा, मायापुरी के शरद राय, एबीपी न्यूज के संदीप पांड्या को और सहारा समय के इम्तियाज अजीम को शामिल किया गया है।

चेंबर आफ फिल्म जर्नालिस्ट के संरक्षक मंडल में नवभारत टाईम्स के मिथलेश सिन्हा, दक्षिण मुंबई के संपादक सुमंत मिश्र और दैनिक जागरण के वरिष्ठ पत्रकार अजय ब्रम्हात्मज के साथ साथ फिल्म सिटी और किंगस्टार के नरेन्द्र गुप्ता को भी शामिल किया गया है। मार्गदर्शन मंडल में लाईव इंडिया के पराग छापेकर, वरिष्ठ पत्रकार नरेन्द्र उपाध्याय, ज्योति वेंकटेश, भारती दुबे और दैनिक भास्कर के अनिल राही को शामिल किया गया है।

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप परBWG7

आपसे सहयोग की अपेक्षा भी है… भड़ास4मीडिया के संचालन हेतु हर वर्ष हम लोग अपने पाठकों के पास जाते हैं. साल भर के सर्वर आदि के खर्च के लिए हम उनसे यथोचित आर्थिक मदद की अपील करते हैं. इस साल भी ये कर्मकांड करना पड़ेगा. आप अगर भड़ास के पाठक हैं तो आप जरूर कुछ न कुछ सहयोग दें. जैसे अखबार पढ़ने के लिए हर माह पैसे देने होते हैं, टीवी देखने के लिए हर माह रिचार्ज कराना होता है उसी तरह अच्छी न्यूज वेबसाइट को पढ़ने के लिए भी अर्थदान करना चाहिए. याद रखें, भड़ास इसलिए जनपक्षधर है क्योंकि इसका संचालन दलालों, धंधेबाजों, सेठों, नेताओं, अफसरों के काले पैसे से नहीं होता है. ये मोर्चा केवल और केवल जनता के पैसे से चलता है. इसलिए यज्ञ में अपने हिस्से की आहुति देवें. भड़ास का एकाउंट नंबर, गूगल पे, पेटीएम आदि के डिटेल इस लिंक में हैं- https://www.bhadas4media.com/support/

भड़ास का Whatsapp नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code