डीटीएच ऑपरेटर बदलना अब आसान हुआ

ट्राई ने उपभोक्ताओं को डीटीएस सेवा देने वाली एक कंपनी से दूसरी चुनने की प्रक्रिया आसान करने के लिए तथा संचालकों द्वारा शुल्क वसूली में पारदर्शिता को बढ़ावा देने के लिए नियमों का खाका तैयार किया है. ट्राई ने आज जारी एक ‘टैरिफ ऑर्डर’ (टीओ) के तहत डीटीएच संचालकों द्वारा दिये जाने वाले कस्टमर प्रमिसिस इक्विपमेंट (सीपीई) या सेट टॉप बॉक्स के संबंध में नियम निर्धारित किये.

ट्राई ने यहां एक बयान में कहा कि फिलहाल यदि कोई उपभोक्ता एक डीटीएस संचालक से दूसरे की सेवा की ओर जाना चाहता है तो उसे दूसरे संचालक के सीपीई का खर्च उठाना पड़ता है. सीपीई को व्यावसायिक रूप से प्रयोग में लाने की नयी रूपरेखा के तहत अगर उपभोक्ता किसी वजह से दूसरे डीटीएच संचालक की सेवाओं का लाभ उठाना चाहते हैं तो उन्हें सेवा छोड़ने का विकल्प दिया जाएगा.

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *