खालिक भाई, आप यूं खुदकुशी करने वाले तो नहीं थे

Vivek Bajpai : अभी-अभी इटावा से एक हमारे मित्र ने एक दुखद समाचार सुनाया है, उसने बताया है कि इटावा से एबीपी न्यूज संवाददाता मो. खालिक ने पारिवारिक कलह से तंग आकर आत्महत्या कर ली हैं, अगर ये सच है (मेरा दिल अभी भी मनाने को तैयार नहीं हैं) तो खालिक की मौत से इटावा ने एक निर्भीक पत्रकार खो दिया हैं. मुझे पता है कि खालिक भाई आप जहां गए है वहां से कभी कोई नहीं वापस आता है, हमेशा दूसरों से सख्त सवाल पूछने वाले मो. खालिक आज मैं तुमसे आखिरी सवाल पूछ रहा हूं, क्यों किया ऐसा जघन्य अपराध. क्योंकि तुम ऐसे तो नहीं थे.  Mohd Khaliq BHAI REST IN PEACE.

Anant Paliwal : अब कब दिखेगी यह सफेद टोपी…..खालिक भाई, जिंदगी को छोड़कर आप ऐसे चले जाएंगे, इसका तो सोचा भी नहीं था। आज आप हम सबको छोड़कर चले गए तो यह ख्याल आ रहा है कि अब जब थे तो हम लोगों ने क्यों नही आपकी परेशानियों को समझा और आपको संकट से उबारने के लिए जुटे। feeling sad.

पत्रकार विवेक बाजपेई और अनंत पालीवाल ने उपरोक्त दोनों प्रतिक्रियाएं मोहम्मद खालिक के फेसबुक वॉल पर पोस्ट की हैं.

मूल खबर..

इटावा में एबीपी न्यूज के संवाददाता ने ट्रेन से कटकर दी जान

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *