सुपर CM सुनील बंसल Financial Criminals को बचाने में जुटा हुआ है : सूर्य प्रताप सिंह

Surya Pratap Singh : सुपर-CM सुनील बंसल के साये में देश के कुख्यात आर्थिक अपराधी (Financial Criminals) पर बड़ा ख़ुलासा…. उत्तर प्रदेश में राजनीतिक भ्रष्टाचार का प्रतीक बन चुके सुनील बंसल की यदि सही जाँच हो जाए तो जेल जाना तय है. CBI से जाँच कराके ‘दाक्षिणात्-खोर’ के नाम से बदनाम सुनील बंसल को जेल भेजा जाए!

संलग्न फ़ोटोग्राफ़ में Airport से अपने ख़ास दलाल CA विष्णु मित्तल के साथ निकलते सुनील बंसल के पीछे अपने को छुपाने का प्रयास कर रहे शक़्स को ध्यान से देखो …. उसका नाम जय शंकर श्रीवास्तव है जो हाल में ही प्रकाश में आ रहे एक बड़े बैंक/व्यावसायिक घोटाले (रु. 878.39 करोड़ का NPA-NSEL/Axis Bank घोटाला) का सरगना है…. यह उ.प्र. के बलिया जनपद का निवासी है और इसका एक साथी जिसका नाम जगमोहन गर्ग है, सुनील बंसल के अत्यंत नज़दीकी हैं ….दोनों के विरुद्ध ED की जाँच चल रही है।

फ़ोटो में दिख रहा जय श्रीवास्तव को ED ने हाल में ही गिरफ़्तार किया था और ४ महीने बाद ज़मानत पर छूटा है और अब घोटाले को दबाने के लिए सुनील बंसल की शरण में है …. इनका एक साथी ऊँचे राजनीतिक पहुँच वाला गुजरात निवासी व्यवसायी है, जिसका नाम है …’ज़िग़्नेश शाह’ है। जय श्रीवास्तव, जगमोहन गर्ग और ज़िग़्नेश शाह ने मिलकर देश में एक बड़े आर्थिक घोटाले को अंजाम दिया है …. इस घोटाले की जड़ें बहुत गहरी हैं। इस गैंग के एक पार्ट्नर जय श्रीवास्तव, सुनील बंसल के साथ फ़ोटो में बगलगीर है….. सुनील बंसल व CA विष्णु मित्तल उक्त तीनों Gangasters के तारणहार बनकर सामने आए हैं।

घोटाला संक्षेप में निम्न प्रकार है :

दिल्ली स्थित दो कम्पनियों- Mohan India तथा Tavishi Enterprises के मालिक हैं सुनील बंसल के दोस्त जय श्रीवास्तव व जगमोहन गर्ग… Mohan India ने NSEL के माध्यम से वर्ष २०११-१२ में 2,16,324 टन चीनी रु.605.2 करोड़ की ख़रीदी और रु. 74,400 करोड़ के राजस्व के साथ, रु. 2044 करोड़ का नेट मुनाफ़ा कमाया …. NSEL (National Spot Exchange Limited) एक भारत सरकार द्वारा प्रायोजित कृषि उत्पाद ख़रीदने-बेचने का प्लाट्फ़ोर्म है जिसमें ज़िग़्नेश शाह ने Mohan India कम्पनी में इन्वेस्टर्स का पैसा लगवाया व चीनी ख़रीदने-बेचने में मदद की और रिटर्न में रिश्वत ली ….और कई बड़े Politicians को दिलाई।

वर्ष 2016 में बैंक घोटालों की जाँच के दौरान, ED के सामने यह घुटाला आया और यह सामने आया कि NSEL के सबसे बड़े defaulters के रूप में Mohan India नामक जय श्रीवास्तव की कम्पनी पर रु. 878.39 करोड़ के बक़ाया के साथ दो सबसे बड़े बकाएदार के रूप में सामने आयी…..ED के समक्ष शिकायत में यह भी सामने आया है कि सुनील बंसल के दोस्त जय श्रीवास्तव की कम्पनी Mohan India ने अपने कुल मुनाफ़े रू.2,044 करोड़ में से रू. 600 करोड़ की रिश्वत unrelated bodies/ राजनीतिक लोगों को दी गयी ….. इस दौरान दिल्ली में एक फ़ाइव स्टार होटेल Radission-West खोला और पूरी दिल्ली में ‘मीरा बाबा रीयलटी’ कम्पनी के माध्यम से पीतमपुरा /रोहिणी/अन्य स्थानों पर प्रॉपर्टी में बड़ा इन्वेस्टमेंट किया ….. इस दौरान करोड़ों रु. का Money Laundering व political leaders को पैसा siphon off किया गया ….

अब बताता हूँ कि जय श्रीवास्तव, जगमोहन गर्ग व ज़िग़्नेश शाह ने कैसे politicians के संरक्षण की तलाश की और इस घोटाले से बाहर निकलने के लिए सुनील बंसल जैसे पॉवर-ब्रॉकर्स से सम्पर्क किया…. अपना रु. 545 करोड़ का ब्याज माफ़ कराके रु. 771 करोड़ में Final Settlement हाल में ही करा लिया ….ताकि ED द्वारा दर्ज केस में फ़ाइनल रिपोर्ट लगवाई जा सके …लेकिन एक भी पैसा आज तक भुगतान नहीं किया है …. August 31, 2016 को Mohan India पर ब्याज सहित रू. 878.39 करोड़ का बक़ाया हो गया है और सुनील बंसल का दोस्त जय शंकर श्रीवास्तव की कम्पनी अदा करने से बच रही है …. राजनैतिज्ञों को रिश्वत देकर इस घोटाले से बचना चाहते हैं। investers को लगाए गए चूने को payback नहीं करना चाहते हैं….. investors को 14-18% के return का भरोसा दिया गया था, जो कभी अदा नहीं किया गया। हज़ारों निवेशकों को लूटा गया।

Mohan India पर EOW/ED द्वारा PMLA के provisions में केस नम्बर- 4/2015 फ़ाइल किया है Axis Bank के चार अकाउंट फ़्रीज़ किए हैं …ED/EOW द्वारा जय श्रीवास्तव की कम्पनी के जो assets जव्त किए गए हैं उनका विवरण देखकर आप हिल जाएँगे ….स्पेस की कमी के कारण अगली पोस्ट में दूँगा, ध्यान से zoom करके देखिएगा…जिसमें से कुछ मुख्य ये हैं-

1. 73 बीघा ज़मीन नजफगढ़, दिल्ली

2. 500.22 एकड़ ज़मीन राजस्थान के बीकानेर में ( सुनील बंसल राजस्थान से है)

3. Radission-West फ़ाइव स्टार होटेल, दिल्ली

4. सैकड़ों प्लॉट्स/villas/मकान/फ़्लैट्स- दिल्ली, गुड़गाँव, लखनऊ,राजस्थान
लखनऊ की कुछ प्रॉपर्टीज़ को आप ख़ुद जाकर देख सकते हैं: जिनमें से तीन मकान एक ही क़तार में गोमतीनगर के विनीत खंड में हैं।

1. Flat no. 3401, Gomti Enclave, Lucknow

2. House no. 6/64, Vineet Khand, Gomtinagar, Lucknow

3. House no. B-6/41, Rajiv Gandhi ward, Vineet Khand, Gomtinagar, Lucknow

4. House no. B-6/42, Rajiv Gandhi ward, Vineet Khand, Gomtinagar, Lucknow

5. House no. B-6/43, Rajiv Gandhi ward, Vineet Khand, Gomtinagar, Lucknow

6. Domestic Retail Private Limited, Super Shopping Centre, Sanjay Gandhi Puram, Faizabad Road, Lucknow

7. G&J Infra Consultants Private Limited , 4/243, Sector-H, Janki Puram, Lucknow

लखनऊ स्थित फ़्लैट/मकानों में CCTV कैमरों से सुनील बंसल का साथियों के साथ आवागमन की देखा जा सकता है…. जाँच का विषय है।
सुनील बंसल के मित्र, अपराधी जय शंकर श्रीवास्तव की निजी व कम्पनी के नाम Property Details अगली पोस्ट में दिए जाएँगे…

जाँच की माँग:

इस घोटाले की जड़ें अत्यंत गहरी हैं। हज़ारों करोड़ रु. का नेताओं/पलिटिकल पार्टियों को लेन-देन और money laundering का गम्भीर मामला है। सुनील बंसल से साथ फ़ोटो में दिख रहे आर्थिक अपराधी उ. प्र. के बलिया जनपद निवासी, Mohan-India के मालिक जय शंकर श्रीवास्तव से घनिष्ठ सम्बन्ध हैं.. उनका आधार क्या है ? CA विष्णु मित्तल ( कोषाध्यक्ष, दिल्ली भाजपा) जो सुनील बंसल का tout है …रिश्ते में कोटपुतली निवासी भाई है और इनका जय श्रीवास्तव के साथ हवाई यात्रा/ चार्टर्ड प्लेन से यात्रा का क्या उद्देश्य था? क्या सुनील बंसल ने पार्टी फ़ंड या स्वमँ के लिए पैसा लिया और कितना ?

क्या सुनील बंसल या परिवार को जय श्रीवास्तव ने दिल्ली स्थित Radission-West फ़ाइव स्टार होटेल में कोई partnership दी है? या अन्य कोई अपनी सम्पत्ति में भागीदारी दी है? आदि विषयों का ख़ुलासा होना ज़रूरी है ….. ज़िग़्नेश शाह कौन है ? क्या ज़िग़्नेश शाह ने जय श्रीवास्तव, जगमोहन गर्ग से politicians को कोई रिश्वत दिलाई गयी? आदि विषयों की CBI जाँच आवश्यक है। मेरे पास सभी सबूत हैं। इस घोटाले की और भी परतें खुलेंगी….

वरिष्ठ आईएएस अधिकारी रहे सूर्य प्रताप सिंह की एफबी वॉल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *