राजनेताओं ने बनाया पुलिस को लुटेरों का गिरोह: अमिताभ

लखनऊ : निलंबित आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने कल यूपी के माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री विजय बहादुर पाल द्वारा कन्नौज जिले के थाना इंदरगढ़ में एक कार्यक्रम में पुलिस को सरकारी लाइसेंस प्राप्त लुटेरा और लुटेरों का संगठित समूह कहे जाने पर ऐतराज़ जताते हुए कहा है कि आज पुलिस तंत्र की यह दशा राजनैतिक दवाब के कारण बन गयी है. 

ठाकुर ने कहा कि यदि सत्ता में बैठे राजनैतिक लोगों द्वारा पुलिस का दुरुपयोग किया जाना बंद हो जाए तो पुलिस पर लग रहे तमाम आरोप स्वतः ही समाप्त हो जायेंगे. उन्होंने कहा कि वे अपने स्वयं के मामलों में देख रहे हैं कि किस प्रकार बड़े-बड़े राजनैतिक लोग पुलिस को अपना हथियार बना कर उन्हें हर तरह से फंसाने का प्रयास कर रहे हैं. ठाकुर ने पुलिस वालों से मंत्री श्री पाल के बयान को नेताओं द्वारा पहले अपना गलत काम कराने और बाद में उल्टा दोषी बताने के दृष्टांत के रूप में लेते हुए भविष्य में किसी भी राजनैतिक व्यक्ति के अनुचित आदेशों को न मानने का आवाहन किया ताकि दुबारा उन्हें जनता के सामने लज्जित न होना पड़े.

समाचार अंग्रेजी में पढ़ें – 

Suspended IPS officer Amitabh Thakur reacted to Secondary Education State minister Vijay Bahadur Pal’s statement made yesterday at a public function in Indargarhi police station in Kannauj district calling the UP Police as a group of marauders and an organized group of robbers by saying that this is the result of huge political intervention. Sri Thakur said this situation will end the moment the political people in power stop misusing the police for their nefarious ends. He said he is witness to many of his examples of how the politicians are using some policemen to throttle justice and to conspire in framing him and his wife through all possible ways. Sri Thakur asked the policemen to take Sri Pal’s statement as an alarm bell of how the politicians misuse the police force and later blame them for the wrong-doings, and to stop obeying any illegal order of the politicians, so that the policemen do not have to listen to such words again.



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code