भड़ास के 10 साल : अनिरुद्ध बहल का होगा व्याख्यान, राजाराम देंगे हर्बल फार्मिंग की ट्रेनिंग

Yashwant Singh : फेसबुक के मित्रों के ढेर सारे सुझावों-संशोधनों के बाद न्योते का पहला पेज हो गया रेडी. देखें. अब दूसरे पेज की तैयारी. सुबह दस से शाम साढ़े पांच बजे तक क्या क्या होगा, कौन कौन होगा, इसे संयोजित करना है. जल्द ही इसका भी एक ड्राफ्ट बनाकर हाजिर करते हैं जिसके लिए सुझाव-संशोधन आमंत्रित रहेंगे.

 

नई जानकारी ये है कि कार्यक्रम में व्याख्यान के लिए नाम तय किया जा चुका है. दर्जनों मीडिया हाउसों का स्टिंग कराने वाले कोबरा पोस्ट के संचालक अनिरुद्ध बहल से अच्छा कोई व्याख्याता नहीं हो सकता क्योंकि उनने जो काम किया-कराया है, वही भड़ास एक दशक से कर रहा है. आज के दौर के सबसे साहसी और सरोकारी पत्रकारो में से एक अनिरुद्ध बहल भड़ास के आयोजन में एकल व्याख्यान देंगे. आडियो-विजुअल प्रजेंटेशन भी दे सकते हैं. सवाल-जवाब का सत्र भी उनके सेशन में होगा.

कार्यक्रम में शुरुआत जिस प्रशिक्षण से किया जाना है उसमें इस बार थीम ‘हर्बल फार्मिंग’ है. हजारों लोग ऐसे हैं जो नौकरी छोड़कर अपने गांवों-इलाकों में लौटे और ज्ञान-विज्ञान-मेहनत के दम पर हर्बल फार्मिंग के जरिए करोड़ों कमा रहे हैं.

बहुत सारे मीडियाकर्मी समय समय पर बेरोजगार हो जाते हैं. दोराहे पर खड़े हो जाते हैं. नौकरी तलाशने को ही एक मात्र रास्ता मान अवसाद के शिकार होने लगते हैं. उनकी निजी और पारिवारिक जिंदगी नष्ट होने लगती है. ऐसे लोगों के लिए हर्बल फार्मिंग की ट्रेनिंग काम की चीज है. मैं खुद भी इस फील्ड में सक्रिय होना चाहता हूं क्योंकि अगले कुछ बरस नेचर यानि जल जंगल खेत के बीच गुजारने की इच्छा है.

इस प्रशिक्षण सेशन के लिए एक नाम तो तय कर लिया गया है. भाई राजाराम त्रिपाठी जी का. ये बस्तर में पाए जाते हैं. इन्होंने हर्बल फार्मिंग के क्षेत्र में जो कर दिया है, वह अविश्वसनीय सा लगता है. इनके परिवार के कई लोग अच्छी-खासी नौकरी छोड़ कर अब इसी काम में लग गए हैं. इनका ढेर सारा प्रोडेक्ट विदेश में निर्यात होता है. सैटेलाइट से विदेशी क्लाइंट इनके खेतों पर नज़र रखते हैं ताकि वे गारंटी कर सकें कि सब कुछ हर्बल है, कुछ भी केमिकल नहीं.

भड़ास के आठ वर्षीय आयोजन में राजाराम त्रिपाठी जी को सम्मानित किया गया था. इस दस वर्षीय आयोजन में हम लोग उनसे ज्ञान प्राप्त करेंगे. राजाराम तिवारी जी फेसबुक पर भी हैं. इन्हें, Rajaram Tripathi जी पकड़िए और सीखिए. हर्बल फार्मिंग क्षेत्र में कुछ और लोग जो बेहतर काम कर रहे हैं, उनके बारे में मुझे बताएं ताकि उन्हें भी आयोजन में बुलाया जा सके और उनसे भी ज्ञान प्राप्त किया जा सके.

…जारी…

#bhadas10

भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह की एफबी वॉल से. संपर्क : yashwant@bhadas4media.com


(यह आयोजन भड़ास के पाठकों-शुभचिंतकों के आर्थिक सहयोग / चंदे के जरिए संभव हो पाएगा. इसलिए आप भी जरूर पहल करें, कुछ न कुछ आर्थिक योगदान दें. इसके लिए आप भड़ास के संस्थापक यशवंत सिंह से संपर्क कर सकते हैं)


इन्हें भी पढ़ें…

एक दशक की ‘भड़ास’ यात्रा : मिलते हैं 22 सितंबर को नोएडा के होटल रेडिसन ब्लू में

xxx

छत्तीसगढ़ के पत्रकार आनंद ने भड़ासी आयोजन के लिए भेजी आर्थिक मदद

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *