खराब फसल से परेशान किसान ने डीएम ऑफिस के बाहर लगाई फांसी

बाराबंकी : दिल्ली के जंतर-मंतर पर ‘आप’ की रैली के दौरान किसान गजेंद्र सिंह की मौत का मामला अभी शांत भी नहीं हो पाया था कि उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया है। रविवार को सुबह बाराबंकी में डीएम आवास के सामने किसान का शव लटका मिला। इसके बाद यहां ‌हड़कंप मच गया।

 

रविवार को बाराबंकी में डीएम ऑफिस के सामने पेड़ से झूलता आसाराम का शव

बताया जा रहा है कि आसाराम नाम का ये किसान 34 साल का था। जिले के ये हैदरगढ़  दतौली चंदा गांव का निवासी बताया जा रहा है। इस किसान की जमीन भी बंधक थी। सूत्रों के अनुसार इस किसान की जमीन गिरवी रखी थी और उसके ऊपर काफी कर्ज भी था। बेमौसम बारिश के कारण उसकी फसल तबाह हो चुकी थी। 

रविवार सुबह वह डीएम ऑफिस के सामने सागौन के पेड़ पर चढ़ा और उसने अपने गमछे का फंदा बनाकर उससे फांसी लगा ली। सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले एक व्यक्ति ने इस शव के बारे में पुलिस को सूचना दी। उसके बाद किसान के शव को पेड़ पर से उतरवाया गया। लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।

डीएम योगेश्वर राम ने बताया कि आसाराम ने कुछ जमीन बेच दी थी और जो बची थी वह गिरवी रखी थी। फिलहाल प्रशासनिक अधिकारी इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दे रहे हैं।

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Comments on “खराब फसल से परेशान किसान ने डीएम ऑफिस के बाहर लगाई फांसी

  • If the stupid BJP and Congress were shouting foul against AK for the death of the farmer during rally in Delhi though they were in no way directly or indirectly responsible for the sudden irresponsible act of desperation, with the police in the vicinity merely being mute spectators, failing to do their duty due to incompetence of the Home Minister to keep the forces in order and functioning. In this case the security men in the DM’s premises are responsible that they could not see the man climbing the tree to commit suicide and give instant medical relief by calling ambulance and hospitalise. It is the failure of the DM that he has not given due instructions to the security on emergency matters. Over all misgovernance and system failure.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *