Connect with us

Hi, what are you looking for?

उत्तर प्रदेश

भड़ास पर खबर आने के बाद हाथरस के मीडियाकर्मियों में जबरदस्त हलचल

कल तक जो भयातुर थे, आज वो निर्भीक हैं। एसपी हाथरस अजय भईया का हाथ आज उनके सर पर और साथ जो है। आज उनकी समझ में यह बात गहरे पैंठ गयी है कि – राजकक्ष में हुआ अपमान और मिली प्रताड़नाएं अपमान नहीं होतीं। अब उन्हें यह बात कचोट रही है कि राजकक्ष में मिली प्रताड़नाओं और हुए अपमान को उन्होंने अपने साथियों के बीच साझा क्यों कीं? न साझा की होती न वो बातें वातावरण में अवतरित और सार्वजनिक होती।

<script async src="//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js"></script> <script> (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({ google_ad_client: "ca-pub-7095147807319647", enable_page_level_ads: true }); </script><p>कल तक जो भयातुर थे, आज वो निर्भीक हैं। एसपी हाथरस अजय भईया का हाथ आज उनके सर पर और साथ जो है। आज उनकी समझ में यह बात गहरे पैंठ गयी है कि - राजकक्ष में हुआ अपमान और मिली प्रताड़नाएं अपमान नहीं होतीं। अब उन्हें यह बात कचोट रही है कि राजकक्ष में मिली प्रताड़नाओं और हुए अपमान को उन्होंने अपने साथियों के बीच साझा क्यों कीं? न साझा की होती न वो बातें वातावरण में अवतरित और सार्वजनिक होती।</p>

कल तक जो भयातुर थे, आज वो निर्भीक हैं। एसपी हाथरस अजय भईया का हाथ आज उनके सर पर और साथ जो है। आज उनकी समझ में यह बात गहरे पैंठ गयी है कि – राजकक्ष में हुआ अपमान और मिली प्रताड़नाएं अपमान नहीं होतीं। अब उन्हें यह बात कचोट रही है कि राजकक्ष में मिली प्रताड़नाओं और हुए अपमान को उन्होंने अपने साथियों के बीच साझा क्यों कीं? न साझा की होती न वो बातें वातावरण में अवतरित और सार्वजनिक होती।

Advertisement. Scroll to continue reading.

भड़ास फॉर मीडिया पर 21 जून विश्व योग दिवस पर – एसपी पड़ रहा है मीडिया पर भारी – के प्रकाशित होने के बाद से ही हाथरस के मीडिया कर्मी तनाव, भय से मुक्ति के आसन तलाशने में जुटे हुए हैं। मीडिया कर्मियों में जबरदस्त हलचल मची हुयी है, ऐसा बताया जा रहा है। गुप्त मंत्रणाओं और जबाबी हमले की योजनाएं भैया के साथ मिल बैठ कर बनाने के दौर चल रहे हैं। एक के बाद एक लोगों को चिन्हित किया जा रहा है। पता चला है पहली गाज मेरे ही सर पर गिराई गयी है। अब उन लोगों की बारी है जिनकी सद्भावनाएँ और सामाजिक सरोकार मुझ से हो सकते हैं।

पता चला है कि हाथरस में आज तक न्यूज़ चैनल के स्टिंगर ने व्हाट्स एप सोशल मीडिया पर ‘प्रेस क्लब हाथरस’ ग्रुप से मुझे रिमूव कर दिया है। कारण एसपी हाथरस अजय पाल शर्मा बार बार उनके चैनल में कार्यरत एक अधिकारी जो इसी जिले का रहने वाला है और जिसका अपनी पत्नी से कुछ विवाद चल रहा बताया जाता है, को फोन करके चैनल के स्टिंगर पर ग्रुप से विनय ओसवाल को रिमूव करने के निर्देश रहा है। निर्देशों का पालन न करने पर चैनल के वरिष्ठ अधिकारी ने आज तक न्यूज़ चैनल से उनकी छुट्टी कर दिए जाने की धमकी दी है। ऐसा चैनल के स्टिंगर का कहना है।

Advertisement. Scroll to continue reading.

लेखक vinay oswal हाथरस के वरिष्ठ पत्रकार हैं. उनसे संपर्क [email protected] के जरिए किया जा सकता है.

मूल खबर :

Advertisement. Scroll to continue reading.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

भड़ास को मेल करें : [email protected]

भड़ास के वाट्सअप ग्रुप से जुड़ें- Bhadasi_Group_one

Advertisement

Latest 100 भड़ास

व्हाट्सअप पर भड़ास चैनल से जुड़ें : Bhadas_Channel

वाट्सअप के भड़ासी ग्रुप के सदस्य बनें- Bhadasi_Group

भड़ास की ताकत बनें, ऐसे करें भला- Donate

Advertisement