फर्रुखाबाद में पिटे दरोगा का केस एक नज़ीर बने- अमिताभ ठाकुर

लखनऊ : आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने एसपी फर्रुखाबाद और डीआईजी कानपुर को पत्र लिख कर पुलिस लाइन में पूर्व मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के दौरान सपा नेताओं द्वारा थानाध्यक्ष जहानगंज शैलेंद्र कुमार मिश्रा और पुलिसवालों को मारने-पीटने की घटना में एफआईआर दर्ज कराने पर धन्यवाद ज्ञापित किया है. साथ ही मांग की है कि चूँकि यह केस बनाम अज्ञात दर्ज हुआ है अतः उसे किसी भी दवाब में हल्का नहीं कर दिया जाए और मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों के बयानों के आधार पर सभी अभियुक्तों के खिलाफ कठोर वैधानिक कार्यवाही कराई जाए. 

उन्होंने कहा कि यह केस उन सभी राजनैतिक लोगों के लिए एक नजीर बने, जो अपनी पार्टी के सत्ता में होने पर यह समझते हैं कि वे सरकारी कर्मियों को डराने, धमकाने, पीटने जैसे कोई भी काम करके अपना हित सिद्ध कर सकते हैं और सत्ता के बाहर होते ही पुलिस के पक्षपातपूर्ण आचरण और पुलिसिया उत्पीड़न का रोना रोते हैं. श्री ठाकुर ने शैलेन्द्र मिश्रा द्वारा रसूखदार लोगों के खिलाफ आगे बढ़ कर एफआईआर करवाने के लिए उनकी प्रशंसा भी की है. 

समाचार अंग्रेजी में पढ़ें – 

IPS officer Amitabh Thakur has today written to SPFarrukhabad and DIG Range Kanpur  thanking them for having got registered an FIR in the act of beating of SO Jahanganj Shailendra Kumar Mishra and other policemen by Samajwadi Party leaders  in during Mulayam Singh Yadav’s Farrukhabad tour. 

He also requested for completely neutral and strong legal action in this case and not to get it diluted, given the fact that it has been registered against unnamed persons. He requested that this case be made an example for all political leaders who think they can use their clout and power at their will for humiliating government officials by beating, abusing or threatening them, when their political party is in power and complain of police high-handedness and police partiality when out of power. 

Sri Thakur also congratulated Shailendra Mishra for having come forward and lodged the FIR against politically influential people. 



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code