रिश्वतखोर इंस्पेक्टर मनोज पंत ने ‘सूर्या समाचार’ की यौन पीड़िता को दुखी कर रखा था!

नोएडा के सेक्टर 20 थाने के एसएचओ मनोज पंत पर कई किस्म के आरोप लगते रहते थे. मनोज पंत से दुखी एक महिला पत्रकार ने अरेस्टिंग के बाद अपनी भड़ास फेसबुक पर निकाली है. सूर्या समाचार न्यूज चैनल में कार्यरत रही इस महिला पत्रकार के साथ जब वहीं चैनल के आफिस में ही कार्यरत कुछ …

ग्रेटर नोएडा प्रेस क्लब ने रिश्वतखोरी में फंसे पत्रकारों रमन ठाकुर और उदित गोयल को निकाला

नोएडा : रिश्वतखोरी के मामले में फंसे दो पत्रकारों को ग्रेटर नोएडा प्रेस क्लब ने निकाल बाहर किया है. नोएडा के थाना क्षेत्र 20 के प्रभारी निरीक्षक मनोज पंत के साथ गिरफ्तार हुए तीन पत्रकार रमन ठाकुर, उदित गोयल व सुशील पंडित के मामले में ग्रेटर नोएडा प्रेस क्लब ने आपातकालीन बैठक बुलाकर एक बड़ा …

नोएडा के तीन पत्रकार और एक थानेदार उगाही में गिरफ्तार, एक अन्य इंस्पेक्टर फरार

काल सेंटर से उगाही के मामले में तीन पत्रकार सहित एसएचओ गिरफ्तार, मर्सिडीज कार बरामद… तीन पत्रकारों सहित एसएचओ पर कॉल सेंटर से आठ लाख रुपये की उगाही का आरोप है… नोएडा एसएसपी ने इनकी गिरफ्तारी की… कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

गुंडों के साथ शराबखोरी करते दरोगा ने फोटो खिंचते ही पत्रकार को दौड़ाया, गाली-गलौज, भीड़ ने घेरा

ग़ाज़ीपुर (उ.प्र.) : वैभव कृष्ण के तबादले के बाद पुलिस ने फिर अपनी दबंगई शुरू कर दी है। अभी शिक्षक नेता विनोद सिंह के घर में घुस कर उनके पुत्र आरटीआई कार्यकर्त्ता और फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. अविनाश सिंह गौतम के साथ गाली गलौज और मारपीट के मामले को लेकर ग़ाज़ीपुर पुलिस की करतूत लोगों के दिमाग से उतरी भी नहीं थी कि नगसर थाने में तैनात नशे में धुत एक नायब दरोगा ने पत्रकार के साथ गाली-गलौज करके अपना असली चेहरा सामने दिखा दिया। जो पुलिसकर्मी वैभव कृष्ण के भय से कुछ गलत करने से डरते थे, वे ही अब पत्रकारों तक से गुंडई करने लगे हैं।

अपराधी तत्वों के साथ शराबखोरी में शामिल दरोगा

यूपी में कहर जारी, दरोगा ने पत्रकार को गांव वालों के सामने दौड़ा दौड़ा कर पीटा, जेल भेजा

अमेठी : दरोगा ने पत्रकार को गांव वालों के सामने दौड़ा दौड़ा कर पीटा। फिर बाल पकड़कर घसीटते हुए जीप में डाल ले गया थाने। फर्जी धाराओं में जेल भेज दिया। 

लेबर इंस्पेक्टर ने जागरण प्रबंधन को थमाया प्रतिकूल प्रविष्टि-पत्र

मजीठिया से बचने के लिए जागरण प्रबंधन द्वारा उठाया जा रहा अब हर पैंतरा उसी पर भारी पड़ रहा है। खबर है कि पूर्व में स्थानांतरित किए गए चार कर्मचारियों को ज्वाइन कराने पहुंचे लेबर इंस्पेक्टर को वहां के कर्मचारियों ने उस समय घेर लिया जब उन्हें पता चला कि कोई लेबर इंस्पेक्टर दफ्तर पहुंचा है। कर्मचारियों ने इंस्पेक्टर से ढेरों शिकायतें की। सूत्रों ने बताया कि यह सब सुन कर इंस्पेक्टर काफी नाराज हुआ और प्रतिकूल प्रविष्टि बनाकर जागरण प्रबंधन को थमा दिया है। अब विभिन्न मुद्दों पर लेकर जागरण प्रबंधन श्रमायुक्त के यहां चार तारीख को पेश होगा।

मजीठिया : चुस्ती से रखें इंस्पेक्टरों और अफसरों के सामने अपना पक्ष

मजीठिया वेज बोर्ड की संस्तुतियों के अनुसार वेतन एवं सुविधाएं पाने-लेने-हासिल करने के लिए संघर्षरत साथियों और असंघर्षरत, सुस्त, सुप्त, निश्चल, शिथिल, निष्क्रिय, लुंज-पुंज, बाटजोहू, लालायित, लार टपकाऊ मित्रों सुप्रीम कोर्ट ने आपके सामने एक ऐसा अवसर उपलब्ध कराया कि यदि इसे चूक गए तो पछतावा भी आपको झटक देगा, हाथ नहीं लगाने देगा। मतलब यह कि संघर्ष कर रहे और इसके विपरीत आचरण-व्यवहार-बर्ताव में लीन लेकिन अंदरखाते मजीठिया की ललक से लबरेज सभी मीडिया कर्मचारियों के लिए उन इंस्पेक्टरों-अधिकारियों को अपनी पीड़ा-परेशानी बयां करनी-बतानी है जिनकी नियुक्ति-तैनाती राज्य सरकार के मुख्य सचिव की देख-रेख में की जा रही है। 

दरोगा बोला, गैंग बना कर काम करते हैं आरटीआई एक्टिविस्ट, मुख्य सूचना आयुक्त से शिकायत

लखनऊ : आरटीआई कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर ने ओम प्रकाश तिवारी, चौकी इंचार्ज जवाहर भवन, थाना हजरतगंज द्वारा आरटीआई एक्टिविस्ट को पेशेवर और गिरोह बना कर आयोग पर दवाब बनाने के मनमाने आरोप लगाने के सम्बन्ध में मुख्य सूचना आयुक्त जावेद उस्मानी से शिकायत की है.

फर्रुखाबाद में पिटे दरोगा का केस एक नज़ीर बने- अमिताभ ठाकुर

लखनऊ : आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने एसपी फर्रुखाबाद और डीआईजी कानपुर को पत्र लिख कर पुलिस लाइन में पूर्व मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के दौरान सपा नेताओं द्वारा थानाध्यक्ष जहानगंज शैलेंद्र कुमार मिश्रा और पुलिसवालों को मारने-पीटने की घटना में एफआईआर दर्ज कराने पर धन्यवाद ज्ञापित किया है. साथ ही मांग की है कि चूँकि यह केस बनाम अज्ञात दर्ज हुआ है अतः उसे किसी भी दवाब में हल्का नहीं कर दिया जाए और मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों के बयानों के आधार पर सभी अभियुक्तों के खिलाफ कठोर वैधानिक कार्यवाही कराई जाए. 

आईपीएस संवर्ग की भद्द पीटती एक रिटायर दरोगा की किताब ‘आईना’

सेवानिवृत्त पुलिस उपनिरीक्षक अशोक कुमार सिंह की पुस्तक ‘आईना’ अगर किसी प्रतिष्ठित प्रकाशन से छपी होती तो बहुत चर्चित हो जाती क्योंकि इसमें उन्होंने आईपीएस संवर्ग को जिस तरीके से आईना दिखाया है, वह विस्फोटक की हद तक सनसनीखेज है। 

कोतवाल ने गैस एजेन्सी मालिक को हवालात में डाला मगर एसडीएम हुए मेहरबान

देवरिया : चापलूस, दलाल पत्रकारों की अनसुनी करते हुए एक पुलिस अफसर ने तो एक गैस एजेन्सी मालिक को रात भर हवालात की हवा खिलाने के बाद में शान्ति भंग की आशंका में चालान कर दिया लेकिन एसडीएम ने अपने मातहत को आदेश दे दिया कि उसे रिहा कर दिया जाय, जमानत की कागजी कार्यवाही बाद में कर ली जाएगी। 

कोतवाल की थाने में पिटाई, जांच के नाम पर लीपापोती, अब आईपीएस अमिताभ ठाकुर का भरोसा

देवरिया : पुलिस विभाग का एक अधिकारी अपने मातहतों द्वारा कोतवाली थाने में ही बुरी तरीके से पिटा जाता है, लेकिन उच्चाधिकारी जांच के नाम पर मामले को मैनेज कराने में जुटे हुए हैं। इस घटना को हुए एक सप्ताह से अधिक का समय हो रहा है। आला अफसर अब तक पिटाई करने वाले दोषियों को चिन्हित ही नहीं कर पाये हैं। कार्यवाही करने की बात तो काफी दूर की है। लोगों का कहना है कि इससे तो यही प्रतीत होता है कि पुलिस के आला अधिकारी कोतवाल को पिटवाना चाहते थे?

शराब पी कर पत्रकार से अभद्रता करने वाला दरोगा सस्पेंड

लोनी। जनपद के लोग खुद को कैसे सुरक्षित महसूस कर सकते है, जब उनकी सुरक्षा की कमान संभालने वाली खाकी ही नशे में बहकने लगे। ताजा मामला लोनी थाना क्षेत्र का है। इन्द्रपुरी चौकी के दरोगा कविश कुमार ने नशे में जमकर हंगामा किया और एक पत्रकार से अभ्रदता भी की। पत्रकार राजीव मिश्र किसी मामले की जानकारी के लिये बुधवार रात इन्द्रापुरी पुलिस चौकी गए थे जहां दरोगा ने उनके साथ अभद्रता की। राजीव ने दरोगा के खिलाफ थाने में तहरीर दी है। उधर घटना के बाद से लोनी पत्रकार वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों में रोष व्याप्त है। पदाधिकारियों ने एसएसपी से मिलकर से दरोगा के खिलाफ कारवाई की मांग की।