एक आरटीआई कार्यकर्ता ने मेदांता वाले डाक्टर नरेश त्रेहन पर करवा दी एफआईआर, ईडी ने डाली रेड

डाक्टर नरेश त्रेहन

रमन शर्मा आरटीआई कार्यकर्ता हैं. उन्होंने मेदांता फेस डाक्टर नरेश त्रेहन के एक बड़े फ्राड की शिकायत की. शिकायत पर जब सरकारी विभागों ने कान नहीं दिया तो वे कोर्ट गए. आरटीआई एक्टिविस्ट रमन शर्मा ने याचिका के माध्यम से डा. नरेश त्रेहन सहित 52 लोगों के ऊपर मेदांता मेडिसिटी प्रोजेक्ट के मामले में गड़बड़ी करने के आरोप लगाए गए. जज साहब ईमानदार और निष्पक्ष मिल गए तो इनकी याचिका पर डाक्टर नरेश त्रेहन के फ्राड की जांच के लिए एफआईआर लिखे जाने का आदेश हो गया.

एफआईआर होते ही प्रवर्तन निदेशालय की टीमों ने डाक्टर त्रेहन के कई ठिकानों पर छापेमारी कर दी. आरटीआई एक्टिविस्ट रमन शर्मा का कहना है कि उन्होंने बीते साल मेदांता मेडिसिटी प्रोजेक्ट की गड़बड़ियों की ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) में शिकायत की थी. ईडी ने इस कंप्लेन को हरियाणा पुलिस के पास फारवर्ड कर दिया. हरियाणा की गुरुग्राम पुलिस इस कंप्लेन वाली फाइल पर बैठ गई और फिर सो गई. जगे हुए आरटीआई एक्टिविस्ट ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. ये बात चार दिन पहले की है. अदालत ने एफआईआर के आदेश दे दिए.

अब जानिए फ्राड है क्या.

मेदांता मेडिसिटी का पूरा प्रोजेक्ट एक हजार करोड़ रुपये का था. इसे 2009 में पूरा करना था, लेकिन अस्पताल बनाकर छोड़ दिया गया. प्रोजेक्ट में चिकित्सा कॉलेज, शोध केंद्र, नर्सिंग स्टाफ के लिए क्वार्टर, मरीजों के रिश्तेदारों के लिए गेस्ट हाउस सहित कई सुविधाएं तैयार होनी थीं. पर ऐसा कुछ न हुआ. मालिकाना हक 51 प्रतिशत रहना था पर वर्तमान में मालिकाना हक इससे कम है. प्रोजेक्ट पूरा करने की बजाय यहां से पैसे कमाकर दूसरे प्रदेशों में पैसे लगाए जा रहे हैं.

आरटीआई एक्टिविस्ट ने अपनी याचिका के माध्यम से डॉ. नरेश त्रेहन के साथ ही उनके सभी पार्टनर सहित 52 लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार एवं मनी लॉड्रिंग एक्ट के तहत मामला दर्ज करने की मांग की. इसके बाद अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश अश्वनी कुमार की अदालत ने डॉ. नरेश त्रेहन के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दिया.

अदालती आदेश पाते ही गुरुग्राम पुलिस ने शनिवार को मेदांता मेडिसिटी के सीएमडी डॉ. नरेश त्रेहन के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया.

इसके बाद प्रवर्तन निदेशालय की टीमों ने रात होते ही डाक्टर त्रेहन के ठिकानों पर छापेमारी शुरू कर दी. डाक्टर त्रेहन ने आरोपों से इनकार किया है.

देखें एफआईआर में क्या लिखा है-

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *