जिले का नाम गाजीपुर क्यों पड़ा, गाजीउद्दीन हैदर के नाम पर या किसी मुगल गाजी के नाम पर…

Shambhu Nath Shukla : गाजीपुर का खाद-पानी… आज पुरानी किताबें निकालने के चक्कर में मैं अपनी लायब्रेरी खंगाल रहा था तो पाया कि उत्तर प्रदेश का गाजीपुर जिला बड़ा उर्वर है। सारी मिथकीय, ऐतिहासिक, साहित्यिक, पत्रकारीय और पत्रकारिक (फेसबुकीय पत्रकार) विभूतियां यहीं पैदा हुईं। मसलन मिथकीय कैरेक्टर परशुराम से लेकन पत्रकार शिरोमणि भाई Yashwant Singh तक।

इनके बीच में हैं 19वीं सदी के मशहूर यायावर और ‘मेरी हिंदुस्तान यात्रा’ के रचयिता स्वर्गीय साधुचरण प्रसाद, कांग्रेस के 1927 में प्रेसीडेंट रहे डॉक्टर मुख्तार अहमद अंसारी, राही मासूम रजा, परमवीर चक्र विजेता महान वीर अब्दुल हमीद आदि तमाम विभूतियां।

कई महान लोगों के नाम मैं इसलिए नहीं लिख रहा क्योंकि वे दिल्ली में इस कदर रच-बस गए हैं कि उन्हें अब गाजीपुरिया कहलाना पसंद नहीं। लेकिन इसका पता नहीं चला कि इस जिले का नाम गाजीपुर क्यों पड़ा, गाजीउद्दीन हैदर के नाम पर या किसी मुगल गाजी के नाम पर।

गाजियों में बू रहेगी जब तलक ईमान की।
तख्ते लंदन तक चलेगी तेग हिंदुस्तान की॥

(माफ कीजिएगा मैं अपने लैपटॉप पर रेमिंग्टन में ही देवनागरी टाइप कर पाता हूं और उसमें नुक्ता लगाने की व्यवस्था नहीं है। किसी को पता हो तो बताए।)

वरिष्ठ पत्रकार शंभूनाथ शुक्ल के फेसबुक वॉल से.

उपरोक्त स्टेटस पर आए कुछ कमेंट्स इस प्रकार हैं….

Girish Mishra : It was in Ghazipur that Lord Cornwallis died and was buried. Beyond Ghazipur Permanent Settlement could not be extended. Second, the only government-owned opium factory is located there. Third, one of the pioneers of detective novels in Hindi, Gopal Ram Gahmari, was born there. In Ghazipur, there are families which observe both Hindu and Muslim rituals at the time of marriage. Long ago, some Americans came and did research on them.
Subhash Tripathi : Com sarjoo pandey etc
 
Shujaat Ullah Khan : bahadur shah zafar ka sher hai yeh
 
Shambhu Nath Shukla : Subhash Tripathi, अब मैने आदि भी लिख दिया है सो आप लोग स्वतंत्र हो गाजीपुर की विभूतियों की सूची आगे बढ़ाने को।
 
Shambhu Nath Shukla : Shujaat Ullah Khan साहब अब इस शेर पर मैं अपना होने का दावा तो नहीं ही कर रहा था। और ऊपर जब मैं मुगल गाजी कह रहा हूं तो साफ है कि मेरा इशारा किस तरफ है।

Kkl Srivastava : Shriman Mukhtar Ahmad Ansari wahi jinke naam par Dilli me Ansari Road hai ??
 
Aman Vashisth : one can type directly in kavitakosh.org online……..it provides option for urdu syllables …..e.g……..ग़ाज़ियों ,तलक़, तख़्ते, तेग़………….
 
Shambhu Nath Shukla : Kkl Srivastava: ab yah mujhe nahi pata

Harish Bhardwaj : उत्तर प्रदेश का गाजीपुर जिला बड़ा उर्वर है। सारी मिथकीय, ऐतिहासिक, साहित्यिक, पत्रकारीय और पत्रकारिक (फेसबुकीय पत्रकार) विभूतियां यहीं पैदा हुईं,,,,,,,
 
Rajeevranjan Rai : Swami Sahjanand Saraswati, Amar Shaheed Dr.Shivpoojan Rai, Dalshringar Dubey, Achyutanand Mishra, Rambahadur Rai, Nityanand Tiwari, Kubernath Rai, Baleshwar Rai, Dr. Mangla Rai
 
Ramprasad Rajbhar : har jile ka apna itihas hota hai aur vibhutiyan bhee.aapke bagalwala jila mera hai Azamgarh.aapke jile ki do vibhutiyo se mai prabhavit hun 1Kubernaath aur 2 Raza saaheb.See Translation
 
Abhishek Swaroop : Sir! here is a contradiction few days back you wrote hindi patti se koi vinhooti nahi nikli.
 
Sukhdev Bhardwaj : Ji mantri ji ke election main ghazipur jana hua shaer ke bat he nerali hai
 
Kumar Swasti Priye ‘Warsi’ : रेमिंगटन फोंट्स में नुक्ता (Shift ) के साथ (+) दबाने पर लिखे गए अक्षर के साथ जुड़ जाएगा.
 
Karmendu Shishir : ‘मेरी हिंदुस्तान यात्रा’ को तो आप अविलम्ब छपवा दे. कोई प्रकाशक छाप देगा.
 
ग़ुलाम मुनव्वर साबरी : gaazipur se jabalpur tak thag hua karte tthey jinhe kisi gupt samrat ne khatam kiya tha
 
राजू मिश्र आप श्रीमान विवेकी राय जी को भूल रहे हैं।
 
Anwarul Haque : Kkl srivastava ji, wahi Dr Mukhtar Ahmad Ansari, well knwn Physicion & founder member of Jamia Univercity. inhi ke naam per Delhi me Road hai. Ye Ghzipur ke hi thae.
 
Shravan Kumar Shukla : पहली लाइन में यशवंत जी। वाह…

Yashwant Singh : सर, आपने तो दिन बना दिया मेरा, पत्रकार शिरोमणि कहकर गाजीपुर को लेकर कई पोस्ट भड़ास पर शिवेंद्र पाठक जी की हैं… इन्हें पढ़िएगा…

http://old1.bhadas4media.com/state/up/ghazipur/14428-2013-09-11-08-49-57.html
चीन वाले जिला गाजीपुर को ‘चेन-चू’ शब्द से क्यों संबोधित करते हैं?

एक ये भी…

http://old1.bhadas4media.com/state/up/ghazipur/14699-2013-09-24-10-34-47.html
जनपद गाजीपुर के प्रथम कवि सूफी कवि उस्मान

ये परशुराम जी पर है…

http://old1.bhadas4media.com/state/up/ghazipur/15190-2013-10-15-12-21-12.html
गाजीपुर जनपद की अनुपम विभूति थे भगवान परशुराम

 

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “जिले का नाम गाजीपुर क्यों पड़ा, गाजीउद्दीन हैदर के नाम पर या किसी मुगल गाजी के नाम पर…

  • Ghazipur ki anya vibhutiya–Rahi Masoom Raza, Nazir Hussain, Sant Pavhari Baba, Veer Abdul Hamid,Vinod Rai Ex CAG, Surendra Pratap Singh (SP Singh)

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *