एक हरामखोर दरोगा की करतूत (देखें वीडियो)

Yashwant Singh : एक हरामखोर दरोगा की हरकत देखना चाहेंगे? देखेंगे तो आप भी कहेंगे कि ये सच में हरामखोर है. आधी रात के बाद नशे में झूमता दरोगा अपनी सिपाही मंडली के साथ एक मकान के बाहर पहुंचता है और बंधे हुए कुत्ते की टांग पर डंडा डंडा मारता है. कुत्ते की चीख चिल्लाहट पर घर की महिलाएं बाहर निकलती हैं तो वह जमकर गाली गलौज करता है और घर के एक पुरुष सदस्य की गिरफ्तारी की बात कहते हुए घर में घुस जाता है. उसके पहले घर के बाहर भोंक रहे एक कुत्ते पर अपने सर्विस रिवाल्वर से फायर झोंक देता है. घर में घुसकर यह दोरगा महिलाओं को गंदी गंदी गालियां देता है.

बिना महिला सिपाही लिए आधी रात को पुरुष विहान एक घर में घुसना और महिलाओं को गंदी गंदी गाली देना, कुत्ते पर फायर झोंकना… ये किसी हरामखोर दरोगा की ही हरकत हो सकती है. फिलहाल वीडियो देखें और सोचें. आज इसे यूं ही छोड़ दिया गया तो कल को हमारे आपके घर की महिलाओं के साथ ये हरामखोर ऐसी हरकत कर सकता है. इसलिए इसको सबक सिखाना जरूरी है. इस वीडियो को यूपी के सीएम से लेकर डीजीपी, मुख्य सचिव, आगरा के आईजी, डीआईजी, एसएसपी तक पहुंचाने में मदद करिए. पहली तस्वीर में ‘डकैत’ टाइप पुलिस दल को देखिए और दूसरी तस्वीर में कुत्ते पर फायर झोंकने का दृश्य है.

सब कुछ सीसीटीवी में कैद हो चुका है जिसे देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें : https://youtu.be/2SRVS-VxmSg

पीड़ित परिवार की महिलााओं का बयान सुनने के लिए इस लिंक https://www.youtube.com/bhadas4media पर क्लिक करें और शुरुआती चार वीडियो देख जाएं.

आगरा से राजकुमार मीना और फरहान खान ने पूरे मामले की जो डिटेल भेजी है, वह इस प्रकार है…. ताजनगरी आगरा में दबिश देने गए एक दारोगा की दबंगई सामने आई है। दरोगा ने न सिर्फ सर्विस रिवाल्वर से फायरिंग की बल्कि घर में घुसकर गर्भवती महिला के कमरे का दरवाजा तोड़कर उसके साथ बदतमीजी भी की। दरोगा द्वारा की गयी फायरिंग सीसीटीवी कैमरे में कैद है। पीड़ित परिवार दबंग दरोगा और उसके साथ आये पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की बात कह रहा है। घटना थाना सिकन्दरा के शास्त्रीपुरम स्तिथ कॉलोनी की है। कॉलोनी में रहने वाले दौलत सिंह के बेटे भूपेंद्र सिंह के खिलाफ प्रशांत ने न्यायालय में धारा 420 के तहत एक मुकदमा दर्ज कराया था। इसी मामले में शनिवार आधी रात के बाद इंडस्ट्रीयल एरिया के चौकी इंचार्ज राजेश पाल सिंह पुलिस बल के साथ दौलत सिंह के घर भूपेंद्र को पकड़ने के लिए दबिश देने के नाम पर पुलिस दल के साथ पहुंचे थे।

दबिश के दौरान दारोगा की दबंगई सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गयी। दारोगा ने पहले घर के बाहर बंधे पालतू कुत्ते को लाठी से पीटता रहा। इस शोरगुल से घर में लोग जाग गए। घर की महिला जब बाहर आती है तो महिला से गाली गलौज शुरू कर देता है। बार बार सर्विस रिवाल्वर को निकालने का प्रयास करता है। दरोगा ने रिवाल्वर से कुत्ते पर फायरिंग कर दी। कुत्ता अपनी तेजी और सक्रियता से बाल बाल बच गया। इसके बाद दरोगा और सिपाही घर के अंदर घुस आते हैं। भूपेंद्र के मुताबिक़ जब घर में कोई आदमी नहीं था तब रात करीब एक बजे के आसपास दरोगा घर में घुसकर महिलाओं को गन्दी गन्दी गाली देता है और बदतमीजी करता है। घर में घुसकर दरवाजा तोड़ने का आरोप भी दरोगा पर है। महिलाओं ने खुद के साथ मारपीट किए जाने का भी आरोप लगाया।

भूपेंद्र ने बताया कि दरोगा पैसे की मांग कर रहा था। उसका कहना था कि पैसे दो या फिर यहां से घर छोड़कर भाग जाओ। घर की पीड़ित महिला पल्लवी ने कहा कि दरोगा मेरे कमरे में आया और सभी पुलिसवाले बहुत नशे में थे और बहुत ज्यादा माँ बहन की गाली दे रहे थे। हद तो तभ हो गयी जब घर के एक कमरे में सो रही गर्भवती वंदना को भी दरोगा ने नहीं बक्शा। दरोगा ने वंदना का दरवाजा तोड़कर उसके कमरे में घुस गया और वंदना के साथ ऐसे शब्दों का प्रयोग किया कि वह खुद नहीं बता सकती है। पीड़ित परिवार का कहना है कि जब कोर्ट से अरेस्ट स्टे ले रखा है तो फिर इस तरह की हरकत दरोगा ने क्यों की। फिलहाल अब पीड़ित परिवार दबंग दरोगा राजेश पाल सिंह और उसके साथ आये पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की बात कह रहा है। 

भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह की एफबी वॉल से.

उपरोक्त एफबी स्टेटस पर आए कुछ प्रमुख कमेंट्स इस प्रकार हैं…

राहुल गुप्ता यह मामला हर कीमत पर पुत्तर प्रदेश का होगा।
Yashwant Singh आगरा का प्रकरण है
Sanjeev Kumar BaBa पुलिस का दूसरा नाम तो आप जानते है यसवंत भैया क्या है
DrDigvijay Singh Rathore कुत्ते के अलावा किसको मार सकते है
Arun Khare जिस प्रदेश का मुख्यमंत्री एक कमजोर छोटा सा बच्चा बना दिया जाता है वहां इससे बेहतर की उम्मीद की भी नहीं जानी चाहिए ।
Virender Yadav तो जिसके मुंह मे दांत व पेट मे ऑत ना हो उसे बनाते
Arun Khare दोस्त बुरा मान गए । जिस मुख्यमंत्री को फैसले लेने का हक न दिया जाए और बाप और चाचा की आज्ञा ही ब्रह्म वाक्य हो उसे आप क्या कहेंगे । ।आप ने एक पुरानी कहावत जरूर सुनी होगी न सुनी हो तो बताना चाहूंगा । इसके बाद आपका फैसला शिरोधार्य होगा । कहावत है — लीकहि लीक तीन चलें , कायर , श्रृग’ कपूत / लीक छांडि तीन चलें शायर, सिंह सपूत । अब फैसला आपके हाथ है ।
प्रयाग पाण्डे शर्मनाक ।
राजू मिश्रा दादा यूपी में यह आम बात है।
Shamshad Elahee Shams पुलिस नहीं ये आदमखोरो का सरकारी गिरोह है.
Pradumn Rai सही बात है
Hemant Jaiman सारा कसूर जनता का है। जो इस दरोगा की हिम्मत इतनी हो गयी। यदि जनता जुल्मो सितम के सामने एकजुट होकर खड़ी हो जाये तो ऐसे “दरोगा की दरगाह” 10 मिनट में तैयार हो सकती है। माँ की आँख इनकी देश में गुंडागर्दी मर्जी जो करे। पाला नहीं पड़ा किसी ” सटके हुए दिमाग से”
Vikaas S Kapil इसका सीसीटीवी फुटेज हो तो दे दीजिये दादा 8273001992 vkapilsre@gmail.com
Arun Gangwar Send me CCTV footage on WhatsApp 9958934626
Shah Alam सार बहुते हरामी है
Mohammed Rais haram khor
Ramsurat Bind हरामी दरोगा नहीं, सरकार चलाने वाले हरामखोर हैं ।
Manis Kishn Sharma इस सूअर को तो मैं कुत्ते का बच्चा भी नहीं कहना चाहता
Virender Grewal Kaisey bhala hoga desh ka

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *