ग्रामीणों द्वारा स्टिंग किए जाने के मामले में फोटोग्राफर जीतू सागर का पक्ष सुनिए-जानिए

गजरौला में दैनिक जागरण के फोटोग्राफर जीतू सागर के संबंध में एक खबर भड़ास पर छपी जिसमें एक वीडियो में उन्हें ग्रामीणों से पैसे लेते हुए देखा गया. खबर में उल्लेख है कि ये वीडियो चुपचाप ग्रामीणों द्वारा बनाया गया.

जीतू सागर ने भड़ास के पास अपना पक्ष भेजा है. उनका कहना है कि ये वीडियो ग्रामीणों ने नहीं बल्कि कुछ पत्रकारों ने उन्हें बदनाम करने के उद्देश्य से बनाया. जीतू का कहना है कि उन्होंने पैसे लिए लेकिन वह रिश्वत के तौर पर नहीं था. पूरा मामला क्या था, यह जानें इस वीडियो के जरिए, जिसे जीतू सागर ने भड़ास के पास भेजा है…

भड़ास की हमेशा कोशिश रही है कि किसी भी प्रकरण में दूसरे पक्ष की तरफ से आए वर्जन को भी प्रमुखता प्रकाशित किया जाए ताकि सच एकांगी न रहे…

देखें वीडियो…

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

One comment on “ग्रामीणों द्वारा स्टिंग किए जाने के मामले में फोटोग्राफर जीतू सागर का पक्ष सुनिए-जानिए”

  • बाटूपूरा के जिस व्यक्ति ने जीतू के हित मे अपना विचार दिया है । वह व्यक्ति 24हजार की नकदी के समय मौजूद ही नही था । बल्कि हम लोगो ने उस गाँव में उस व्यक्ति के बारे मे पूछा तो उस व्यक्ति को गांव वालो ने मंदबुद्धि व्यक्ति बताया ।
    Thats right
    जीतू तो पक्ष को समझौते के बारे में दबाब बनवा रहा है ।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *