हिन्दी का शब्द, प्रधानमंत्री का ज्ञान और अमर उजाला की रिपोर्टिंग

प्रधानमंत्री ने कहा अभिनंदन मतलब होता था कांग्रेचुलेशन

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नया नारा दिया है – नामुमकिन अब मुमकिन है। और वाकई अब लग रहा है कुछ भी मुमकिन है। विंग कमांडर अभिनंदन के पाकिस्तान के कब्जे में चले जाने और पाकिस्तान द्वारा उन्हें बिना शर्त छोड़ दिए जाने के बाद जो सब हुआ उस बारे में प्रधानमंत्री ने और बातों के साथ यह भी कहा है कि, ”हिंदुस्तान जो भी करेगा, दुनिया उसे गौर से देखती है। हमारे पास डिक्शनरी के शब्दों के अर्थ बदलने की ताकत है। कभी अभिनंदन का मतलब होता था कॉन्ग्रैचुलेशन, अब इसका अर्थ बदल जाएगा।”

वैसे तो यह कोई खास बात नहीं है पर हिन्दी के एक बड़े अखबार अमर उजाला ने इस शीर्षक को पांच कॉलम में फैला दिया है। स्क्रीन शॉट देखिए। आज मीडिया पर अपने कॉलम में मैंने लिखा है कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण अभिनंदन से मिलने गईं इसकी तस्वीर ज्यादातर अखबारों में किसी ना किसी खबर के साथ पहले पहने पर है और ऐसा लग रहा है जैसे ऐसा निर्देश रहा हो। हालांकि, अभी यह मुद्दा नहीं है।

अमर उजाला में शीर्षक पांच कॉलम में लेकिन शब्द बदल गया।

महत्वपूर्ण यह है कि हिन्दी के एक शब्द ‘अभिनंदन’ से संबंधित खबर हिन्दी के एक बड़े अखबार ने गलत छापी है और प्रधानमंत्री ने जो कहा वह शब्द ही बदल गया है। प्रधानमंत्री ने जब कहा तो मैं मौजूद नहीं था और मैंने वीडियो भी नहीं देखा है (क्योंकि उसकी जरूरत नहीं लगती)। पर एक हिन्दी के शब्द का शीर्षक पांच कॉलम में लगाना हो तो हिन्दी का अखबार यह सुनिश्चित नहीं करेगा कि शब्द क्या था और प्रधानमंत्री ने असल में क्या कहा?

प्रधानमंत्री ने जो कहा उसे मैंने ऊपर दैनिक भास्कर से लिया है और अमर उजाला में जो छपा है वह इस प्रकार है, … “कभी अभिनंदन का अर्थ होता था स्वागत लेकिन अब इसका अर्थ ही बदल गया है।” सवाल यह है कि जब प्रधानमंत्री ने कहा कि अभिनंदन का अर्थ होता है कॉन्ग्रैचुलेशन और भारत शब्दों के मायने बदल सकता है तो आप कैसे और क्यों लिखेंगे कि अभिनंदन का अर्थ होता है स्वागत। यह सही है कि स्वागत के लिए अभिनंदन शब्द का प्रयोग किया जाता है पर प्रधानमंत्री ने तो कुछ और कहा है। रिपोर्टिंग तो वही होगी जो कहा जाएगा या कहे को ही सुधार दिया जाएगा?

इस बारे में जनसत्ता में हमारे संपादक रहे ओम थानवी ने फेसबुक पर यह पोस्ट लिखी है –
लड़ाकू विमान के बहादुर पायलट अभिनंदन की रिहाई पर प्रधानमंत्री ने कल कहा – “इस देश की ताक़त है कि डिक्शनरी के शब्दों के अर्थ बदल देता है। कभी अभिनंदन का अंगरेज़ी (अर्थ) होता था ‘Congratulation’ (कांग्रेचुलेशन); अब अभिनंदन का अर्थ बदल जाएगा।”

मेरे पास हिंदी-अंगरेज़ी के कई शब्दकोश हैं। किसी भी कोश में अभिनंदन का अर्थ Congratulation नहीं मिला। Oxford और Allied Chambers के नामी कोशों में भी नहीं।

ऑक्सफ़र्ड कोश में अभिनंदन के ये अर्थ दिए गए हैं: 1. Praise, Applause 2. Ceremonial greetings; Commemoration
ऐलाइड चेंबर्स कोश के अर्थ हैं: Greeting, Reception, A ceremonial welcome; Applause

बताइएगा, अगर आपके ध्यान में किसी शब्दकोश में अभिनंदन का अर्थ Congratulation/बधाई मिल जाय, जो कि सर्वज्ञानी मोदीजी हमें बता गए हैं।
या यह भी वैसा ही हवाई ज्ञान है, जैसा कभी उन्होंने जलवायु परिवर्तन की वास्तविकता को झुठलाते हुए दिया था: “क्लाइमेट चेंज नहीं हुआ है, हम चेंज हो गए हैं!”

वरिष्ठ पत्रकार और अनुवादक संजय कुमार सिंह की रिपोर्ट।

मोदी की रैली को फ्लॉप न कहो, 'भक्त' ट्रोल कर देंगे! 😀

मोदी की रैली को फ्लॉप न कहो, 'भक्त' ट्रोल कर देंगे! 😀 Related News https://www.bhadas4media.com/patakar-huwa-troll/

Bhadas4media ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಭಾನುವಾರ, ಮಾರ್ಚ್ 3, 2019
कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “हिन्दी का शब्द, प्रधानमंत्री का ज्ञान और अमर उजाला की रिपोर्टिंग

  • डिक्शनरी अर्थ कुछ भी हो, अभिनंदन शब्द का प्रयोग बधाई देने के लिए भी होता है इसे आप खारिज नाही कर सकते. शब्दो का अर्थ कभी absolute nahi hota, उसे context में देखना होता है अर्थ समझने के लिए . And dictionary never ever provides context.

    Reply
  • Dhiraj Kumar says:

    पता नहीं एक शब्द के लिए इतना ज्ञान क्यों उड़ेल रहे हैं लेखक महोदय। एक बार shabdkosh.com पर congratulations का अर्थ खोज लिया होता।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *