कांग्रेसी सरकार चल रही है या भाजपा की… जनता फर्क नहीं कर पा रही… देखें संघियों की शाहखर्ची

उत्तराखंड की त्रिवेंद्र रावत वाली भाजपा सरकार ने नौ महीने में 69 लाख रुपए केवल चाय-नाश्ते पर खर्च कर दिए

Yashwant Singh : उत्तराखंड सरकार ने मेहमानों के चाय-नाश्ते पर बीते 9 महीने में सरकारी फंड से 68 लाख 59 हजार 865 रुपए खर्च कर दिए. हेमंत सिंह गौनियां नाम के आरटीआई एक्टिविस्ट ने 19 दिसंबर 2017 को अप्लीकेशन लगाई थी. इसमें पूछा गया था कि त्रिवेंद्र सिंह रावत के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद से अब तक चाय-पानी तक कितना सरकारी पैसा खर्च हुआ? 19 साल आरएसएस के प्रचारक रहे त्रिवेंद्र रावत ने 18 मार्च, 2017 को उत्तराखंड के नौवें सीएम के रूप में शपथ ली थी.

वाह रे पूरब वाली संस्कारी सरकार… इसने तो पश्चिमी सभ्यता वालों के गुलछर्रे उड़ाने के रिकार्ड को भी ध्वस्त कर दिया…. भजपइये सदी के सबसे बड़े दोगले साबित होने जा रहे हैं…. देखते रहिए… अर्थव्यस्था हो या आतंकवाद का मामला, हर फील्ड में उल्टे नतीजे आ रहे हैं.. देशवासी हैरान हैं.. वे फर्क नहीं कर पा रहे कि ये कांग्रेस की सरकार है या भाजपा की… ऐसे ही कुछ हालात तो कांग्रेस सरकारों के दिनों में थे… भजपइयों को सिर्फ बक-बक आता है… इनसे बकलोली करवा लीजिए… अंड बंड संड ये बोलते लिखते बताते जाएंगे… इनके बकबक का नतीजा ये है कि चीजें दुरुस्त होने की जगह, सब कुछ चौपट होता जा रहा है… लेकिन शरम इनको आती नहीं.. ये नेहरू-कांग्रेस और हिंदू-मुस्लमान का मुद्दा उठा-उठा कर जनता को चूतिया बनाने में लगे हैं.. पर जनता जब लात मारेगी न गुरु, तो कई दशक तक दर्द बना रहेगा… याद है न शाइन इंडिया….

भड़ास एडिटर यशवंत सिंह की एफबी वॉल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *