मायावती और अखिलेश के लिए मंच पर लग जाते हैं एसी, जनता धूप में मरे तो मरे! देखें तस्वीरें

मायावती दलितों की नेता हैं. अखिलेश यादव पिछड़ों के. भयंकर धूप और गर्मी में इनके हजारों चाहने वाले इकट्ठे हो जाते हैं, अपने नेताओं का चुनावी भाषण सुनने के लिए. पर ये नेता ऐसे हैं जो एसी के बगैर रह नहीं सकते. इनका पसीना सूखना चाहिए. इन्हें चिल्ड माहौल चाहिए. सो, मंच पर इन दोनों नेताओं के लिए भाषण स्थल के ठीक बगल में दो-दो एसी की व्यवस्था की गई. साथ ही मंच पर पीछे की तरफ ढेर सारे कूलर लगाए गए थे.

उधर, सामने मैदान में ड्यूटी पर तैनात पुलिस वालों से लेकर आम समर्थक, कार्यकर्ता और बुद्धिजीवी या तो धूप से उबल रहे पंडाल के नीचे थे या फिर खुले आसमान के नीचे जहां घंटे भर तक खड़े रहने का मतलब होता है आदमी के शरीर से सारा पानी सूख जाए और वो बेहोश होकर गिर जाए. पर नेताओं को अपनी फिक्र ज्यादा होती है. सोशल मीडिया पर ये दो तस्वीरें तैर रही हैं जिसमें अखिलेश यादव और मायावती एक ही मंच से चुनावी भाषण दे रहे थे, चिल्ड एसी की हवा खाते हुए.

सुविधा भोगी जीवन जीने में कोई किसी से कम नहीं है. वो चाहें कांग्रेस हो या भाजपा. बसपा हो या सपा. इन सभी पार्टियों के नेताओं की जीवनशैली बिलकुल शहंशाहों वाली होती है. देखें ये दो चुनावी तस्वीरें और सोचें.

इन तस्वीरों को देख कर टीवी पत्रकार नितिन ठाकुर एक लाइन में अपनी बात कहते हैं- ”गर्मी, धूप, पसीना बस आम जनता के लिए होते हैं.”

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “मायावती और अखिलेश के लिए मंच पर लग जाते हैं एसी, जनता धूप में मरे तो मरे! देखें तस्वीरें

  • आसिफ खान says:

    तो क्या मोदी और राहुल की रैली में जनता को ac में बैठाया जाता है? क्या मोदी और राहुल के स्टेज पे ac नही लगा होता!?

    Reply
    • Bhadas is becoming no sense. This should not be point of discussion. People come to rallies to listen and support their leaders.

      Reply
  • ये मंजर तो आपको सभी पार्टियों में मिल जाएगा।लेकिन जनता को तो केवल धूप में ही बैठना है कई जगह तो जनता के उपर शेड भी नहीे होती।
    सभी पार्टियों के मंच पर ए सी की वयवस्था होई ही है।
    तो सभी को हाईलाइट कीजिए केवल गठबंधन को ही क्यों।

    Reply
  • E sab garib janta ka paisa hai bewkufo .
    Jiska pais hai o garmi me khada hai aur jiska paisa nahi o ac me baitha hai.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *