अजय वर्मा पिटाई प्रकरण में भोपाल के कथित वरिष्ठ पत्रकारों की घटिया भूमिका

Ashish Maharishi : पुलि‍स के गुंडे भोपाल में एक युवा पत्रकार अजय वर्मा को जमकर पी‍टते हैं। अजय की गलती बस इतनी थी कि वह पुलि‍सि‍या अकड़ के आगे झुकने को तैयार नहीं थे। अजय अभी अस्‍पताल में भर्ती हैं। अजय के कुछ चुनिंदा साथी उससे मि‍लने कभी कभार अस्‍पताल पहुंच जाते हैं। अजय अपनी लड़ाई अकेला ही लड़ रहा है।

भोपाल के कथि‍त वरि‍ष्‍ठ पत्रकार इस पूरे मामले में खामोश हैं। कुछ तो सरकार के तलुए चांटने में व्‍यस्‍त हैं तो कुछ अफसरों की दलाली करने में। कुछ वरि‍ष्‍ठ पत्रकार तो अजय पर लगातार समझौता करने का दबाव डाल रहे हैं। ये ऐसे पत्रकार हैं जो खुद को मप्र का दि‍ग्‍गज पत्रकार समझते हैं। कुछ पत्रकार तो दारू की एक बोतल के लि‍ए पुलि‍स के खि‍लाफ कुछ भी बोलने से बच रहे हैं।

भास्कर से जुड़े पत्रकार आशीष महर्षि के फेसबुक वॉल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “अजय वर्मा पिटाई प्रकरण में भोपाल के कथित वरिष्ठ पत्रकारों की घटिया भूमिका

  • स.राज कपूर says:

    पतरकारिता तो आज कल सब से गन्दा पेशा बन चुका है इस लाइन मैं बहुत से हरामी बेईमान लोग अ गए हैं …ईमानदारी से काम करने वाले पत्रकारों को तो समझा ही नहीं जाता .aaj kal jo bhi is line a raha hai wo sala loot raha hai .

    Reply
  • ajay ke khilaf police darj karne ki taiyyari kar rahi hai….jaankaari ke anusaar ek CID jaanch karwakar patrakar ko 353 aur 306 ke tahat mamla darj karegi.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *